Tuesday, September 25, 2018
Follow us on
Haryana

10वीं व 12वीं में री-चेकिंग के लिए 81 हजार आवेदन

July 11, 2018 05:17 AM

COURSTEY DAINIK BHASKR JULY 11
10वीं व 12वीं में री-चेकिंग के लिए 81 हजार आवेदन

परेशानी

भास्कर न्यूज | हिसार

हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड में पेपर्स की पहली चेकिंग पर स्टूडेंट्स काे संदेह होने लगा है। जिसके कारण साल दर साल री-चेकिंग के लिए आ रहे आवेदनों की संख्या बढ़ रही है। भिवानी बोर्ड में इस साल 10वीं व 12वीं में री-चेकिंग के लिए 81 हजार स्टूडेंट्स ने आवेदन किया है। पिछले वर्ष री-चेकिंग के लिए आवेदन करने वाले करीब 50 हजार स्टूडेंट्स थे।
हालांकि स्टूडेंट्स की बढ़ रही संख्या को रिवॉल्यूशन के नए नियम से भी जोड़कर देखा जा रहा है। वहीं 2016 में री-चेकिंग के लिए आवेदन करने वालों की संख्या सिर्फ 32 हजार थी। इस तरह आवेदन करने वाले स्टूडेंट की संख्या हर वर्ष 20 से 30 हजार प्रति वर्ष बढ़ रही है। ओपन से परीक्षा देने वाले स्टूडेंट्स भी शामिल हैं। प्रदेश से इस वर्ष सवा 8 लाख स्टूडेंट्स ने परीक्षा दी थी। इनमें 3,80,000 स्टूडेंट्स 10वीं के और 2,40,000 12वीं के थे।
हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड में पेपर्स की पहली चेकिंग पर स्टूडेंट्स काे संदेह
बोर्ड ने बनाए थे ये नियम
हरियाणा विद्यालय बोर्ड ने इसी वर्ष री-चेकिंग व री-इवेल्यूएशन नया नियम बनाया गया था। इसमें परीक्षा देने के बाद री-इवेल्यूएशन में नंबर आने के बावजूद जो नंबर अधिक होंगे वो ही फाइनल माने जाएंगे। बोर्ड की ओर से अबकी बार सीसीटीवी कैमरों की निगरानी में पेपर्स की चेक किया गया था।
री-चेकिंग - इसमें टोटल नंबर काउंट किए जाते है।
री-इवाल्यूशन - री इवेल्यूशन में प्रत्येक प्रश्न को दोबारा चेक कर नंबर दिए जाते हैं। री-इवेल्यूएशन में मार्किंग किए गए पहले वाले नंबर को टेप लगाकर छिपा दिया जाता है। इसके बाद प्रत्येक प्रश्न की दोबारा मार्किंग होती है।
इन छात्राओं के री-इवेल्यूशन के बाद बढ़े नंबर
पहला मामला : 12वीं की परीक्षा में गांव सदलपुर की पूनम खिचड़ के 479 अंक आए थे। पूनम ने री-इवेल्यूशन के लिए अप्लाई किया तो उसके 10 अंक बढ़े। वह 489 अंकों के साथ आर्ट्स में टॉप पर पहुंच गई। उसे री-इवेल्यूशन फार्म अप्लाई करने से फायदा भी मिला।
दूसरा मामला : पूनम के साथ उसकी बहन पुष्पा ने री-इवाल्यूशन का फार्म अप्लाई किया तो वह राज्य में टॉप टेन की लिस्ट में तीसरे नंबर पर पहुंच गई। पहले उसके 480 अंक आए थे जो री-इवाल्यूशन के बाद 487 हो गए।
बीपीएल स्टूडेंट की फीस घटाई :हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड ने 10वीं व 12वीं की परीक्षा में री-चेकिंग के फार्म भरने के लिए बीपीएल स्टूडेंट्स की फीस में छूट दी गई है। पहले बीपीएल स्टूडेंट्स के लिए 1000 रुपये फार्म भरने के लिए लगते थे। जिसे अब 200 रुपये घटाकर 800 रुपये किया गया है। वहीं जनरल वर्ग की फीस 1000 रुपये ही रखी गई है।
बोर्ड ने इसी वर्ष री-इवेल्यूशन के नियम में बदलाव किए गए थे। इसमें पेपर की चेकिंग के बाद जो नंबर अधिक होते हैं, उन्हें ही फाइनल माना जाता है। इससे आवेदन करने वाले स्टूडेंट्स की संख्या बढ़ी है। -जगबीर सिंह, चेयरमैन, हरियाणा विद्यालय शिक्षा

Have something to say? Post your comment