Wednesday, December 12, 2018
Follow us on
Haryana

झज्जर में चल रही दो अवैध हथियार निर्माण फैक्टरी का पर्दाफाश कर चार आरोपियों की गिरफ्तार किया

July 09, 2018 09:19 PM
अवैध हथियार रैकेट के विरूद्ध चलाए जा रहे अभियान के तहत हरियाणा पुलिस की स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) ने जिला जींद और झज्जर में चल रही दो अवैध हथियार निर्माण फैक्टरी का पर्दाफाश कर चार आरोपियों की गिरफ्तार किया है। आरोपियों के कब्जे से भारी मात्रा में 35 देसी हथियार भी जब्त किए हंै, जिनमें राइफल, पिस्तौल, रिवाल्वर, दोनाली, अर्ध तैयार हथियार, कारतूस और इनको बनाने में इस्तेमाल किए जाने वाले अन्य टूल्स भी शामिल हैं।
पुलिस विभाग के प्रवक्ता ने आज यहां यह जानकारी देते हुए बताया कि पुलिस महानिदेशक, श्री बी.एस. संधू ने अवैध हथियारों के रैकेट की रोकथाम को लेकर की गई इस महत्वपूर्ण कार्रवाई के लिए डीआईजी एसटीएफ, श्री सतीश बालन और उनकी टीम को बधाई दी है।
प्रवक्ता ने बताया कि गिरफ्तार आरोपियों की पहचान हामिदपुर दिल्ली निवासी दीपक उर्फ गोलू और बहराना, झज्जर निवासी विनोद उर्फ खेमा, दिलबाग उर्फ बाबा और सुनील उर्फ अंगूर के रूप में हुई है।
 पुलिस द्वारा दोनों जिलों में अवैध हथियार रैकेट के बारे एक मजबूत इनपुट प्राप्त होने उपरांत छापेमारी के लिए एसटीएफ की दो अलग-अलग टीमों का गठन किया गया। दोनों टीमों ने विकास नगर, जींद और झज्जर के बहराणा गांव में अलग-अलग रेड मार कर चार आरोपी, जो अवैध हथियार कारखाने चला रहे थे, को गिरफ्तार किया गया है। एक आरोपी सोनू भागने में कामयाब रहा।
 पुलिस द्वारा विकास नगर, जींद में छापे के दौरान 315 बोर के 2 पिस्टल, 32 बोर की एक पिस्टल, 32 बोर का एक रिवाल्वर, एक दोनाली 12 बोर, 315 बोर के 3 सेमी-फिनिशड पिस्तौल, 9 कारतूस और असलाह निर्माण का अन्य सामान बरामद किया गया। जबकि बहराणा से पुलिस टीम ने 3 पिस्टल 315 बोर, 1 राइफल, 1 रिवाल्वर 32 बोर, 1 पिस्तौल 12 बोर, 32 बोर के 3 आधे बने पिस्तौल, नौ कारतूस और अन्य सामग्री जब्त की है।
 सभी पकड़े गए आरोपियों के खिलाफ मामले दर्ज कर उनसे पूछताछ की जा रही है। एक अन्य आरोपी को गिरफ्तार करने के प्रयास किए जा रहे हैं।
Have something to say? Post your comment