Monday, September 24, 2018
Follow us on
BREAKING NEWS
हिमाचल प्रदेश: भूस्खलन के चलते वांगटू और तापती के रास्ते बंदकेरल में अगले 5 दिन भारी बारिश की चेतावनी: मौसम विभागदिल्‍ली : इस सीजन में 343 हुई डेंगू मरीजों की संख्‍या हिमाचल प्रदेश में भारी बारिश जारी, 24 घंटे के लिए मौसम विभाग का रेड अलर्टहरियाणा पुलिस ने ऐप को लेकर विश्वविद्यालय में चलाया जागरूकता अभियानडॉ. बनवारी लाल ने हिसार में सरकारी जमीनों पर अवैध रूप से चलने वाले रोटी बैंक या इस प्रकार की अन्य गतिविधियों को बंद करवाकर सरकारी जमीन से कब्जा छुड़वाने के निर्देश दिएहरियाणा सरकार ने सरदार वल्लभ भाई पटेल की जयंती 31 अक्तूबर, 2018 को राष्टï्रीय एकता दिवस के रूप में मनाने का निर्णय लियाजीवन में बढ़ता उतावलापन
Haryana

पंजाब एवं हरियाणा उच्च न्यायालय के न्यायाधीश ने केन्द्रीय कारागार अम्बाला का किया निरीक्षण व दा धुन प्रोजेक्ट कार्यक्रम का किया शुभारंभ

July 07, 2018 05:36 PM
पंजाब एवं हरियाणा उच्च न्यायालय के न्यायाधीश एवं अम्बाला मंडल न्यायालय के निरीक्षक जज जी.एस. संधावालिया ने आज केन्द्रीय कारागार अम्बाला शहर का निरीक्षण करके कैदियों व बंदियों के लिए उपलब्ध सुविधाओं की जानकारी प्राप्त की। उन्होंने इस मौके पर कैदियों व बंदियों की समस्याएं भी सुनी। उन्होंने कारागार के निरीक्षण के दौरान जेल प्रशासन द्वारा चपाती तैयार करने के लिए लगाई गई मशीन का और जेल में स्थापित की गई बेकरी यूनिट का निरीक्षण करते हुए वहां तैयार होने वाले उत्पादों की गुणक्ता सहित वहां की व्यवस्थाओं का जायजा लिया। उन्होंने बैकरी यूनिट में तैयार उत्पादों के स्वाद का जायका लेते हुए यूनिट में तैयार उत्पादों की सराहना की। उन्होंने इस अवसर पर सोनी पिक्चर नेटवर्क इंडिया प्राईवेट लिमिटेड द्वारा कारागार में बनाए गए दा धुन प्रोजेक्ट म्यूजिकल हॉल का भी शुंभारभ किया। इस मौके पर कैदियों व बंदियों द्वारा गीत भी प्रस्तुत किए गए। इस मौके पर उन्होंने पौधारोपण भी किया। इससे पूर्व रैस्ट हाउस में पहुंचने पर सैशन जज विक्रम अग्रवाल, उपायुक्त अम्बाला श्रीमती शरणदीप कौर बराड़ पुलिस अधीक्षक अभिषेक जोरवाल, बार एसोसिएशन के प्रधान अमरीश गांधी व सचिव राज महक राणा व अन्य वरिष्ठ अधिवक्ताओं ने पुष्पगुच्छ देकर मुख्यअतिथि का स्वागत किया। 
न्यायाधीश ने केन्द्रीय कारागार में निरीक्षण के दौरान सबसे पहले महिला वार्ड, लंगर हॉल, बेकरी यूनिट, जेल में स्थापित कंट्रोल रूम, कानूनी सरंक्षण एवं समर्थन केंद्र (जिला विधिक सेवा प्राधिकरण), जेल अस्पताल व मुलाकात कक्ष का जायजा लिया। उन्होंने निरीक्षण के दौरान  बंदियों व अन्य कैदियों से जेल में उपलब्ध करवाई जा रही सुविधाओं के बारे में भी जानकारी ली। उन्होनें बंदियों से मिलकर उनकी समस्याएं सुनी वही उन्हें किसी प्रकार की कोई दिक्कत या अन्य कोई समस्या तो नहीं है इस बारे भी उनसे जाना। उन्होंने जेल उद्योगशाला में केंद्रीय कारगार के हवालाती व बंदियों  द्वारा तैयार किए जा रहे लकड़ी उत्पादों को देखकर उनकी सराहना भी की। उन्होंने जेल अस्पताल में कैदियों व बंदियों के स्वास्थ्य की नियमित जांच के बारे में मौजूद डाक्टरों से जानकारी प्राप्त की। न्यायधीश जी.एस.संधावालिया ने जेल प्रशासन द्वारा बंदियों व कैदियों को उपल्ब्ध करवाई जा रही सुविधाओं सहित यहां की सफाई व्यवस्था पर संतोष जाहिर किया। 
न्यायधीश ने इस मौके पर कैदियों व बंदियों के लिए तैयार किए जाने वाले खाने का भी निरीक्षण किया। जेल प्रशासन द्वारा चपातियां तैयार करने के लिए की गई व्यवस्था पर संतोष जाहिर करते हुए उन्होंने कहा कि जेल मैनूअल के मुताबिक कैदियों व बंदियों को पूरी खुराक सुनिश्चित की जाए। उन्होंने कैदियों व बंदियों की जानकारी के लिए आरम्भ की गई कम्पयूट्रीकृत सुविधाएं प्रशिक्षण के लिए चलाए जा रहे कार्यक्रम शिक्षा सुविधा लाइब्रेरी व अन्य सुविधाओं का भी निरीक्षण किया। इस मौके पर सैशन जज विक्रम अग्रवाल ने बताया कि बंदियों व अन्य कैदियों के लिए जिला कारागार में कानूनी सरंक्षण एवं समर्थन केंद्र के माध्यम से कोई भी बंदी या अन्य कैदी अपने मामले सम्बधी कोई भी कानूनी जानकारी लेना चाहता है तो वहां पर पैनल के वकीलों द्वारा उन्हें जानकारी उपलब्ध करवाई जाती है। इसके उपरान्त न्यायाधीश जी.एस. संधावालिया ने न्यायिक परिसर में जाकर न्याययिक अधिकारियों के साथ बैठक भी की। 
जेल अधीक्षक लखमीर सिंह बराड़ ने बताया कि जेल अस्पताल के चिकित्सकों द्वारा स्वास्थ्य सेवाएं प्रदान की जा रही हैं और समय-समय पर गैर सरकारी संगठनों के सहयोग से स्वास्थ्य जांच और चिकित्सा शिविर भी आयोजित किए जाते हैं। उन्होंने बताया कि जेल प्रशासन द्वारा बंदियों व अन्य कैदियों को जो भी सुविधाएं नियमानुसार दी जानी है वह उन्हें उपलब्ध करवाई जा रही है। उन्होनें बताया कि धुन प्रोजेक्ट आरम्भ करने का मकसद जेल में बन्द बंदियों के मानसिक तनाव को दूर करना है। इस प्रशिक्षण से प्रतिभावान बंदियों की प्रतिभा को सोनी पिक्चर व इंडिया वीजन फांउडेशन के सहयोग से बड़े मंच पर सार्वजनिक किया जाएगा।
 इस मौके पर उनके साथ जिला सत्र न्यायाधीश विक्रम अग्रवाल सीजेएम स्वाति सहगल एसीजेएम विजयंत सहगल, जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव दानिश गुप्ता, जेल अधीक्षक लखबीर सिंह बराड़, एसडीएम सतेंद्र सिवाच, एसीपी राजेश कुमार, सोनी पिक्चर से मोनिका, बेकरी यूनिट से संदीप चहल सहित अन्य अधिकारी मौजूद रहे।
Have something to say? Post your comment