Thursday, February 21, 2019
Follow us on
Chandigarh

केसी मॉल, लायंस क्लब, एमसीएम डीएवी समेत 11 बिल्डिंग होंगी सील

July 06, 2018 06:46 AM

COURSTEY JAGRAN JULY6


केसी मॉल, लायंस क्लब, एमसीएम डीएवी समेत 11 बिल्डिंग होंगी सील

इन 11 ऑनर्स की प्रॉपर्टी की लाएगी सील

Click here to enlarge image
जागरण संवाददाता, चंडीगढ़ : नगर निगम ने प्रॉपर्टी टैक्स जमा नहीं करवाने वालों पर बड़ी कार्रवाई करनी शुरू कर दी है। कमिश्नर केके यादव ने वीरवार को शहर की 11 प्रॉपर्टी को अटैच कर सील करने के आदेश जारी कर दिए। इनमें कई स्कूलों और केसी मॉल की बिल्डिंग भी शामिल है। इन पर प्रॉपर्टी टैक्स की 1 करोड़ 87 लाख रुपये की रकम बकाया है। इन्होंने 19 जुलाई तक प्रॉपर्टी टैक्स ब्याज के साथ जमा नहीं कराया तो प्रॉपर्टी को सील कर दिया जाएगा। कमिश्नर ने प्रॉपर्टी टैक्स देखने वाले अधिकारियों को इन सभी बिल्डिंगों को अटैच कर सील करने के केस शुरू करने के आदेश दे दिए। पहले फेज में 11 प्रॉपर्टी को अटैच किया जाएगा। इसके बाद सेकेंड फेज में कई अन्य प्रॉपर्टी को अटैच किया जाएगा। उन्होंने स्पष्ट कर दिया कि जो भी बिल्डिंग ऑनर अपनी प्रापर्टी टैक्स जमा नहीं कराता उनकी प्रापर्टी को अटैच कर सील करने की प्रक्रिया शुरू की जाए। बता दें कि शहर में सभी रेजिडेंशियल और कामर्शियल प्रॉपर्टीज का जीआईसी डिजिटाइजेशन टेक्नोलॉजी के तहत सर्वे हो चुका है। इसके तहत ऐसी पकॅपर्टीज भी सामने आईं, जिन्होंने अब तक एक बार भी टैक्स जमा नहीं करवाया है। दूसरी तरफ प्रॉपर्टी टैक्स में 10 प्रतिशत का इजाफा हो सकता है। नगर निगम ने 10 प्रतिशत टैक्स में बढ़ोतरी करने का प्रस्ताव बनाकर प्रशासन को भेज रखा है। प्रशासन से मंजूरी मिलते ही टैक्स में बढ़ोतरी हो जाएगी।सेक्टर -18 में स्थित लायंस भवनसेक्टर-17 में स्थित के सी मॉल की जगहसेक्टर-15 में स्थित गुरु गोबिंद सिंह भवन31 मई तक हुए 25 करोड़ जमा1सेल्फ असेस्मेंट स्कीम के तहत नगर निगम के पास 25 करोड़ रुपये का टैक्स जमा हुआ था। इस साल नगर निगम ने 60 करोड़ रुपये का टैक्स जुटाने का लक्ष्य निर्धारित किया है। अभी तक 50 प्रतिशत ही टैक्स जमा हो सकता है। शहर में हजारों प्रापर्टी ऐसी हैं जिनका टैक्स अभी भी पेंडिंग है। पिछले साल 42.75 करोड़ टैक्स के रूप में जुटाए थे। जिसमें प्रापर्टी टैक्स से 30.75 करोड़ रुपये और 12 करोड़ हाउस टैक्स से मिले थे। 1सेक्टर-36 एमसीएम डीएवी कॉलेज>>56.24 लाख बकाया1सेक्टर-18 स्थित लॉयंस क्लब>>5.22 लाख1सेक्टर-17 केसी मॉल>>5.42 लाख1सेक्टर-22 सत्य नारायण मंदिर धर्मशाला>>20 लाख 51 हजार1सेक्टर-24 मोहिलाल भवन>>6.67 लाख बकाया1सेक्टर-35 चंडीगढ़ रीजनल चैप्टर टाउन प्लानिंग>>7.55 लाख1सेक्टर-32 जीजीडी एसडी कॉलेज सोसायटी >>16 लाख 57 हजार1सेक्टर-21 नामदेव भवन>>6.92 लाख बकाया1सेक्टर-22 शिशु निकेतन सीनियर सेकेंडरी स्कूल>>14 लाख 80 हजार1सेक्टर-15 गुरु गोबिंद सिंह भवन>>25 लाख 18 हजार1सेक्टर-43 शिशु निकेतन पब्लिक स्कूल>>21 लाख 90 हजार31 मई तक सेल्फ असेस्मेंट का मिला था समय1इससे पहले नगर निगम ने सभी प्रापर्टी ऑनर्स को अपनी मर्जी से सेल्फ असेस्मेंट स्कीम के तहत 31 मई तक डिस्काउंट के साथ प्रॉपर्टी टैक्स जमा कराने का मौका दिया था। अप्रैल से मई तक सेल्फ असेसमेंट स्कीम के तहत हाउस टैक्स पर 20 प्रतिशत और प्रॉपर्टी टैक्स पर 10 प्रतिशत की छूट दी गई थी। एक जून से छूट बंद है। अब 25 प्रतिशत अतिरिक्त टैक्स के साथ 12 प्रतिशत ब्याज सहित रकम जमा करनी होगी। 31 मई तक निगम ने छुट्टी और बैंकों की हड़ताल के बावजूद स्पेशल काउंटर लगाए थे।

Have something to say? Post your comment