Wednesday, December 12, 2018
Follow us on
International

LONDON-महारानी बीमार, मंत्रियों ने शोकसभा की रिहर्सल की

July 04, 2018 06:31 AM

COURSTEY DAINIK BHASKAR JULY 4


महारानी बीमार, मंत्रियों ने शोकसभा की रिहर्सल की

एजेंसी | लंदन

 

ब्रिटिश महारानी एलिजाबेथ द्वितीय बीमार हैं। वे 92 साल की हैं। उनकी उम्र और बार-बार तबीयत खराब होने का ही असर रहा कि उन्होंने बीते हफ्ते सेंट पॉल कैथेड्रल में होने वाले सेवा समारोह में हिस्सा नहीं लिया। वैसे तो ब्रिटिश परिवार की मुखिया की सलामती की दुआएं देश और दुनिया में मांगी जाती हैं, पर हाल में उनकी स्थिति को देखते हुए सरकार के कुछ मंत्रियों ने महारानी के निधन के बाद रखी जाने वाली शोकसभा के लिए गोपनीय तरीके से अभ्यास किया। ये दावा अखबार द संडे टाइम्स ने किया है। अखबार ने लिखा- 'कैसल डव' नाम की इस रिहर्सल में कई कैबिनेट मंत्री और अधिकारी मौजूद थे। ब्रिटेन के इतिहास में यह पहली बार है जब राजपरिवार के किसी सदस्य की मौत से पहले नेताओं ने प्रशासनिक अधिकारियों के साथ चर्चा की हो। जानकार बताते हैं कि आज के हालात में यदि महारानी न रहें, तो ये घटना ब्रिटेन के इतिहास की सबसे विघटनकारी घटनाओं में से एक होगी। इसके पहले क्वीन 86 साल की उम्र में 2013 में गैस्ट्रोएंटेरिटीस की बीमारी से पीड़ित हुई थीं। तब उन्हें पहली बार अस्पताल में भर्ती कराया गया था।
उन्हें गहन जांच के लिए किंग एडवर्ड अस्पताल में भर्ती कराया गया था। इस दौरान उन्होंने अपनी विदेश यात्राओं को भी रद्द कर दिया था। डॉक्टरों की सतत निगरानी में रहीं क्वीन एलिजाबेथ द्वितीय के स्वास्थ्य में तेजी के साथ सुधार हुआ और वे वापस महल पहुंचीं। गार्जियन अखबार ने पिछले साल ही महारानी के निधन के बाद राजमहल और सरकार की ओर से उठाए जाने वाले कदमों की जानकारी दी थी। इसमें बताया गया था कि क्वीन के निधन से देश में करीब 12 दिन तक शोक रहेगा। इस दौरान जीडीपी को 50 हजार करोड़ रुपए से ज्यादा का नुकसान हो सकता है। निधन के बाद सबसे पहले काउंसिल में राजगद्दी के अगले वारिस की चर्चा होगी। फिर बकिंघम पैलेस के दरवाजे पर क्वीन के निधन की सूचना लगाई जाएगी। इसे दुनियाभर की मीडिया को जारी कर दिया जाएगा। रेडियो और टीवी स्टेशनों के बैकग्राउंड में शोक संगीत बजेगा। महारानी के शव को वेस्टमिंस्टर हॉल में रखा जाएगा, जहां उन्हें दुनियाभर से आए लोग श्रद्धांजलि देंगे।
क्वीन के निधन पर ब्रिटेन में 12 दिन का शोक संभव, जीडीपी 50 हजार करोड़ रुपए घट सकती है
ब्रिटिश इतिहास में पहली बार राजपरिवार के किसी सदस्य की मौत से पहले सरकार हरकत में
सुपर सीनियर...क्वीन के शाही सिंहासन पर बैठने के बाद 13 पीएम बदल चुके
1952 में ब्रिटिश शाही गद्दी संभालने के बाद क्वीन एलिजाबेथ अब तक देश में 15 सरकारें और 13 प्रधानमंत्री बदलते देख चुकी हैं। भारत अपनी आजादी के 70 साल पूरे कर चुका है। उनके पास 1400 गार्ड्स, 200 घोड़े, 400 म्यूजीशियन और बेशुमार दौलत है, जो महारानी को दुनिया की सबसे सीनियर और सुपर क्वीन बनाते हैं।

Have something to say? Post your comment