Wednesday, November 21, 2018
Follow us on
BREAKING NEWS
देशद्रोह मामले में हार्दिक पटेल, दिनेश बामनिया, चिराग पटेल के खिलाफ आरोप तयशिवसेना ने 25 नवंबर को अयोध्या में होने वाले कार्यक्रम का स्थान बदला तेलांगना: चेवेल्ला से MP विश्‍वेश्‍वर रेड्डी का तेलांगना राष्‍ट्र समिति से इस्‍तीफाछत्‍तीसगढ़ चुनाव: दूसरे चरण के मतदान में शाम 5 बजे तक 64.8% वोटिंग दर्जचौधरी बीरेन्द्र सिंह 21 नवम्बर को जे.सी. बोस विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, वाईएमसीए फरीदाबाद में आयोजित ‘सर छोटूराम यादगार व्याख्यान’ में मुख्य अतिथि होंगेवर्धा हादसा: मृतकों के परिजनों को महाराष्‍ट्र सरकार देगी 5 लाख रुपये मुआवजाहरियाणा प्रदेश महिला कांग्रेस की वरिष्ठ उपाध्यक्ष व प्रवक्ता रंजीता मेहता के खिलाफ दुष्प्रचार करने वाले सतीश कुमार वोहरा की अग्रिम जमानत याचिका खारिजमंत्री हरसिमरत: 1984 दंगा केस में सज्‍जन कुमार और टाइटलर को भी सजा मिले
Himachal

भारत सरकार द्वारा शुरू की जाने वाली ‘कुसुम’ (किसान ऊर्जा सुरक्षा एवं उत्थान महाभियान) योजना की तरह ही राज्य सरकार द्वारा भी राज्य में डेढ़ लाख बिजली से चलने वाले पम्पों को सौर ऊर्जा से चलने वाले पम्पों से बदलने की योजना

July 03, 2018 06:56 PM
हरियाणा में नवीन एवं नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालय भारत सरकार द्वारा शुरू की जाने वाली ‘कुसुम’ (किसान ऊर्जा सुरक्षा एवं उत्थान महाभियान) योजना की तरह ही राज्य सरकार द्वारा भी राज्य में डेढ़ लाख बिजली से चलने वाले पम्पों को सौर ऊर्जा से चलने वाले पम्पों से बदलने की योजना है जिसके अंतर्गत सिंचाई की आवश्यकता न होने की स्थिति में पैदा हुई बिजली को बिजली निगमों को बेचने का प्रावधान होगा।
यह जानकारी आज शिमला में राज्यों व केन्द्र शासित प्रदेशों के बिजली तथा नवीन एवं नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रियों के एक सम्मेलन में हरियाणा के परिवहन एवं आवास मंत्री श्री कृष्ण लाल पंवार ने दी। इस मौके पर हरियाणा के नवीन एवं नवीकरणी ऊर्जा मंत्री डॉ. बनवारी लाल भी उपस्थित थे। उन्होंने बताया कि सौर पम्प न केवल सिंचाई की आवश्यकता को पूरा करें अपितु किसानों की आय का साधन भी बने।
Have something to say? Post your comment