Tuesday, November 20, 2018
Follow us on
BREAKING NEWS
देशद्रोह मामले में हार्दिक पटेल, दिनेश बामनिया, चिराग पटेल के खिलाफ आरोप तयशिवसेना ने 25 नवंबर को अयोध्या में होने वाले कार्यक्रम का स्थान बदला तेलांगना: चेवेल्ला से MP विश्‍वेश्‍वर रेड्डी का तेलांगना राष्‍ट्र समिति से इस्‍तीफाछत्‍तीसगढ़ चुनाव: दूसरे चरण के मतदान में शाम 5 बजे तक 64.8% वोटिंग दर्जचौधरी बीरेन्द्र सिंह 21 नवम्बर को जे.सी. बोस विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, वाईएमसीए फरीदाबाद में आयोजित ‘सर छोटूराम यादगार व्याख्यान’ में मुख्य अतिथि होंगेवर्धा हादसा: मृतकों के परिजनों को महाराष्‍ट्र सरकार देगी 5 लाख रुपये मुआवजाहरियाणा प्रदेश महिला कांग्रेस की वरिष्ठ उपाध्यक्ष व प्रवक्ता रंजीता मेहता के खिलाफ दुष्प्रचार करने वाले सतीश कुमार वोहरा की अग्रिम जमानत याचिका खारिजमंत्री हरसिमरत: 1984 दंगा केस में सज्‍जन कुमार और टाइटलर को भी सजा मिले
Haryana

सिविल अस्पताल अम्बाला छावनी की कैथ लैब में शरीर के अन्य अंगो में सफलतापूर्वक डाले जा रहे हैं स्टैंट

June 27, 2018 05:20 PM
स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज के प्रयासों से सिविल अस्पताल अम्बाला छावनी में स्थापित की गई कैथ लैब जहां हृदय रोगियों के लिए वरदान साबित हो रही है,वहीं इस लैब के माध्यम से शरीर के अन्य अंगो में भी सफलतापूर्वक स्टैंट डाले जा रहे हैं। शहर में यह सुविधा न होने के कारण इस कार्य के लिए मरीजों को पीजीआई चंडीगढ़ अथवा दिल्ली जाना पड़ता था। 
गांव बोह के रहने वाले राजेश शर्मा ब्लड प्रैशर व शूगर रोग से पीडि़त हैं और उन्होंने कुछ वर्ष पूर्व ही पीजीआई चंडीगढ़ से हर्ट में स्टैंट डलवाया था। वह सिविल अस्पताल में अपनी निष्क्रिय टांग का उपचार करवाने और सांस फूलने की समस्या के इलाज के लिए आए थे। इसके अलावा उनके दांए पैर में ऐस जख्म था जो न तो ठीक हो रहा था और न ही उससे बहने वाली मवाद बंद हो रही थी। सिटी स्कैन करने पर पता चला कि राजेश की दाईं टांग की नाडिय़ों में रूकावट है और उन्हें स्टैंट डालने की सलाह दी गई। कैथ लैब के प्रभारी डा0 राघव शर्मा ने मरीज की टांग में सफलतापूर्वक तीन स्थानों पर स्टैंट डाले। इस इलाज के उपरांत नाडियों में खून का प्रवाह सामान्य हो गया है और चिकित्सकों के मुताबिक निष्क्रिय नाडियों के कारण ठीक न होने वाले जख्म भी जल्द ही ठीक हो जाएंगे। रोगी के इस इलाज पर मात्र एक लाख रुपए खर्च हुआ है और निजी क्षेत्र के अस्पतालों द्वारा इस तरह के इलाज के लिए 4 से 5 लाख रुपए की राशि वसूल की जाती है।
रोगी राजेश शर्मा ने बताया कि उसकी टांग में शिथिलता की समस्या नही है और कोई भी चीज छूने पर उसे महसूस किया जा सकता है। स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने चिकित्सकों की इस सफलता पर उन्हें मुबारकबाद देते हुए कहा कि अब ऐसे रोगियों को दिल्ली या चंडीगढ़ जाने की आवश्यकता नही रहेगी। इससे न केवल रोगियों को बाहर आने-जाने की परेशानी व किराए की बचत होगी बल्कि निजी क्षेत्र की तुलना में उन्हें स्थानीय अस्पताल में ही 3 से 4 गुणा कम खर्च में बेहतर इलाज मिल सकेगा। 
Have something to say? Post your comment
 
More Haryana News
चौधरी बीरेन्द्र सिंह 21 नवम्बर को जे.सी. बोस विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, वाईएमसीए फरीदाबाद में आयोजित ‘सर छोटूराम यादगार व्याख्यान’ में मुख्य अतिथि होंगे अनिल विज 22 नवम्बर को अम्बाला छावनी बस अड्डा परिसर में रैन बसेरे का शिलान्यास करेंगे हरियाणा सरकार ने आईएएस अधिकारी संजय जून को मछली पालन विभाग के विशेष सचिव का अत्तिरिक्त कार्यभार सौंपा
मानव सेवा ही सबसे श्रेष्ठ सेवा है:हरियाणा के राज्यपाल सत्यदेव नारायण आर्य
पीजीआई रोहतक के तीन डाक्टरों को भ्रष्टाचार के आरोप में सस्पेंड किया गया दिसम्बर मास के अंत तक नई अनाज मंडी अम्बाला छावनी में बनकर तैयार होगा रैस्ट हाउस व मार्किट कमेटी कार्यालय भवन-अनिल विज दिल्ली से डेराबस्सी आने वाले अशोक कुमार को टैक्सी वालों ने लिया लूट हरियाणा सरकार ने दो अधिकारियों को समय से पहले ही किया सेवानिवृत हरियाणा राज्य निर्वाचन आयोग ने हरियाणा नगर निगम अधिनियम, 1994 की धारा-8बी में किए गए प्रावधान के अनुसार, नगर निगम के मेयर का चुनाव लडऩे वाले उम्मीदवारों के लिए खर्च की सीमा 20 लाख रुपये निर्धारित की
आम आदमी पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष नवीन जयहिंद चंड़ीगढ़ में मीडिया से बातचीत करते हुए