Monday, September 24, 2018
Follow us on
Haryana

बाढ़ नियंत्रण से सम्बन्धित सभी प्रबन्ध विशेष प्राथमिकता पर पूरे करें अधिकारी-शरणदीप कौर बराड़

June 27, 2018 05:19 PM
उपायुक्त श्रीमती शरणदीप कौर बराड़ ने बाढ़ नियंत्रण कार्यों से जुड़े सभी अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे बाढ़ नियंत्रण से सम्बन्धित सभी प्रबन्ध विशेष प्राथमिकता पर पूरा करें। उन्होंने सम्बन्धित क्षेत्र के एसडीएम, सिंचाई व जनस्वास्थ्य विभाग तथा नगर निगम अधिकारियों को निर्देश दिए कि अपने क्षेत्र में बाढ़ नियंत्रण व नालों व डे्रनों की सफाई के कार्य का भौतिक निरीक्षण करें। उन्होंने कहा कि इन प्रबन्धों में किसी प्रकार की कौताही के लिए अधिकारी स्वंय जिम्मेवार होंगे। 
उपायुक्त आज अपने कार्यालय में बाढ़ नियंत्रण से सम्बन्धित किए गए प्रबन्धों की समीक्षा कर रही थी। उन्होंने सभी एसडीएम को अपने क्षेत्र के अधिकारियों से बैठक आयोजित करने, बाढ़ आने की स्थिति में लोगों के लिए अस्थाई आवास हेतू धर्मशालाओं, धार्मिक और सामाजिक संस्थानों की आवासीय सुविधाओं की सूची तैयार करने के निर्देश दिए। इसके अलावा बाढ़ प्रभावित लोगों को खाना व अन्य राहत सामग्री उपलब्ध करवाने के लिए अपने क्षेत्र के सक्रिय व सहयोगी गैर सरकारी संगठनों से भी निरंतर सम्पर्क स्थापित करें। 
उन्होंने राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण के अधिकारियों को सख्त निर्देश देते हुए कहा कि वे सफाई के नाम पर दिखावा न करें बल्कि वास्तव में सफाई नजर आनी चाहिए। उन्होंने निगम अधिकारियों को निर्देश दिए कि नालों की सफाई से सम्बन्धित शेष कार्य जल्द पूरा करें। उन्होंने कहा कि जलभराव की स्थिति में तुरंत कार्रवाई के लिए अम्बाला शहर व अम्बाला सदर के लिए अलग-अलग टीमें तैयार रखें। उन्होंने जिला राजस्व अधिकारी को भी निर्देश दिए कि वे उपलब्ध सभी किश्तियों व बचाव उपकरणों की मरम्मत इत्यादि का कार्य भी तुरंत पूरा करें। उन्होंने कहा कि नियंत्रण कक्ष पर तैनात कर्मियों को प्रशिक्षित करें ताकि वे सूचना मिलने पर उसी सम्बन्धित विभाग को सूचित करें, जिसकी तरफ से कार्रवाई की जानी है। इसके अलावा सिंचाई विभाग और जनस्वास्थ्य विभाग के अधिकारी जल निकासी के पम्पों की मरम्मत इत्यादि तुरंत करवाएं ताकि आवश्यकता अनुसार जल भराव वाले क्षेत्रों में इन्हें स्थापित किया जा सके। उन्होंने कहा कि सभी पटवारियों व ग्राम सचिवों को निर्देश दें कि वे अपने क्षेत्र के सरपंचों के सम्पर्क में रहें और किसी भी क्षेत्र में बाढ़ या जलभराव की सूचना मिलते ही सम्बन्धित विभाग के माध्यम से राहत कार्य आरम्भ करवाएं। इसके अलावा उन्होंने अम्बाला शहर और अम्बाला सदर के बाढ़ संभावित क्षेत्रों में की गई सफाई और बाढ़ नियंत्रण के प्रबन्धों पर भी विस्तृत चर्चा की। उन्होंने जिला राजस्व अधिकारी को निर्देश दिए कि वे बाढ़ की स्थिति में राशन, राहत सामग्री व दवाईयों इत्यादि के लिए सम्बन्धित विभागों और संगठनों से पर्याप्त तालमेल रखें।
किश्तियों का देखा प्रदर्शन
उपायुक्त ने अम्बाला शहर स्थित जनस्वास्थ्य विभाग के नहरी जल भंडारण टैंको में राजस्व विभाग की किश्तियों का भौतिक निरीक्षण किया। उन्होंने निर्देश दिए कि अम्बाला के साथ-साथ जनसुई, मुलाना व नारायणगढ़ में रखी गई किश्तियों को भी पूरी तरह चालू हालत में रखें ताकि आवश्यकता पडऩे पर उन्हें तुरंत प्रयोग में लाया जा सके। 
बैठक में निगम आयुक्त धर्मबीर सिंह, एसडीएम सतेन्द्र सिवाच, सुभाष चन्द्र सिहाग, नगराधीश सुशील कुमार, जिला राजस्व अधिकारी कैप्टन विनोद शर्मा सहित अन्य सम्बन्धित अधिकारी मौजूद थे।
Have something to say? Post your comment
 
More Haryana News
सुप्रीम कोर्ट के आदेशों को नजरअंदाज करते हुए हुड्डा सरकार ने हरियाणा पुलिस एक्ट, 2007 में डीजीपी का कार्यकाल एक वर्ष किया था रोहतक पुलिस की बड़ी कामयाबी ,शहर के कुछ धंनासेठों को सट्टा लगाने के मामले में किया गिरफ्तार
वर्ष 2018 का छत्रपति अवॉर्ड चंडीगढ़ के वरिष्ठ पत्रकार बलवंत तक्षक को
खट्टर सरकार ने 7 आईएएस अधिकारियों का तबादला किया
हरियाणा के साढे 15 लाख परिवारों के 80 लाख सदस्यों को मिलेगा आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन अरोग्य योजना का लाभ- वित्त मंत्री हरियाणा में ई - सिगरेट पर पाबंदी की मांग हरियाणा के राज्यपाल सत्यदेव नारायण आर्य और मुख्यमंत्री मनोहर लाल द्वारा करनाल में प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना की शुरुआत रोडवेज बसों का फिर होगा चक्का जाम, 16-17 अक्टूबर को होगी हड़ताल
रेवाड़ी गैंगरेप में दो और आरोपी गिरफ्तार, सतनाली से पुलिस ने देर रात मनीष और पंकज को किया गिरफ्तार
हरियाणा के राज्यपाल सत्यदेव नारायण आर्य और मुख्यमंत्री मनोहर लाल द्वारा आज प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना का करेंगे शुरुआत