Wednesday, October 24, 2018
Follow us on
Haryana

एक दिन आप अपने अंदर झांक कर अपनी शक्ति को पहचानें, जिससे जीवन में सकारात्मकता का विकास हो सके: मनोहर लाल

June 21, 2018 03:30 PM
हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने लोगों को अपना जीवन तनाव रहित रखने के लिए कम से कम एक दिन खुद को समर्पित करने का सुझाव देते हुए कहा कि संडे यानि रविवार को फंडे बनाया जा सकता है, जिससे सप्ताह भर आप खुद को तरोताजा महसूस कर सकेंगे। इस एक दिन आप अपने अंदर झांक कर अपनी शक्ति को पहचानें, जिससे जीवन में सकारात्मकता का विकास हो सके। व्यक्तिगत स्तर पर सकारात्मक होने पर देश व समाज का भी विकास होता है। 
मुख्यमंत्री ने चतुर्थ अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर आज झज्जर में आयोजित राज्य स्तरीय कार्यक्रम में उपस्थित योग साधकों को संबोधित करते हुए उन्हें खुश रहने का यह मूलमंत्र दिया। मुख्यमंत्री के साथ कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री श्री ओमप्रकाश धनखड़ तथा बहादुरगढ़ के विधायक श्री नरेश कौशिक ने भी योगाभ्यास किया।
श्री मनोहर लाल ने भारतीय संस्कृति के विश्वव्यापी पहलू योग को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर स्थापित करने का श्रेय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी को दिया। उन्होंने कहा कि अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर योग दिवस मनाने के लिए दुनिया के 177 देशों को राजी करते हुए संयुक्त राष्ट्र में प्रस्ताव पारित कराना हमारे लिए गर्व की बात है। अपनी संस्कृति को प्रतिष्ठित करने से ही समाज गौरवशाली बनता है। चतुर्थ अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के साथ-साथ हरियाणा की वर्तमान सरकार के कार्यकाल का भी यह चौथा वर्ष है। राज्य में वर्ष 2015 से निरंतर आयोजित हो रहे अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस को आने वाली पीढ़ी सदैव याद रखेगी। 
मुख्यमंत्री ने जीवन को आनंदमयी बनाने, दिनभर शरीर में ऊर्जा के निरंतर प्रवाह तथा ताजगी बनाए रखने के लिए प्रतिदिन योग करने की सलाह दी। उन्होंने कहा कि योग केवल स्वयं के लिए होता है इससे न केवल आत्मिक बल्कि शारीरिक, मानसिक व बौद्घिक विकास भी होता है। इस एक कार्य के माध्यम से इंसान का सर्वांगीण विकास होता है। भारतीय दर्शन में ऋषि-मुनियों की गौरवशाली परंपरा योग को आज अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर भी ख्याति मिल रही है। उन्होंने हिंदी फिल्म ‘थ्री इडियट’ के संवाद ‘इंसान को एक्सीलेंस के पीछे भागना चाहिए, एक्सीलेंस होगा तो सक्सेस अपने आप पीछे आएगी’ का जिक्र करते हुए कहा कि योग का उद्देश्य भी ध्यान केन्द्रित करने की प्रवृति विकसित करना है, जिससे बड़े-बड़े लक्ष्य आसानी से प्राप्त किए जा सकते हैं।
मुख्यमंत्री ने कहा कि भौतिक विकास के साथ-साथ लोगों के मन में प्रसन्नता के भाव को जगाने के लिए राज्य के सभी जिलों में राहगिरी कार्यक्रमों का पाक्षिक या मासिक आयोजन किया जा रहा है। जिला झज्जर में राहगिरी कार्यक्रम अभूतपूर्व बताया गया है, इसके लिए जिला प्रशासन व जिलावासी बधाई के पात्र हैं। तनाव मुक्त रहना व मन को खुश रखना भी जीवन की एक कला है। भूटान का जिक्र करते हुए उन्होंने बताया कि वहां की सरकार ने तो लोगों को खुश रखने के लिए डिपार्टमेंट ऑफ हैप्पीनेस भी बनाया है। आज दुनिया में वल्र्ड हैप्पीनेस इंडेक्स की भी बात हो रही है यानि किसी देश के नागरिकों के जीवन में खुशहाली को भी मापा जा रहा है। राहगिरी का आयोजन भी इसी उद्देश्य से किया जा रहा है ताकि हरियाणावासी भौतिक विकास के साथ-साथ खुशहाली व तनाव रहित जीवन का आनंद उठा सकें।
मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने भगवान धनवंतरी की प्रतिमा पर दीप प्रज्ज्वलित करके कार्यक्रम का शुभारंभ किया। कार्यक्रम के दौरान शांति व खुशहाली के लिए तिरंगे गुब्बारे भी छोड़े गए। पुलिस महानिरीक्षक नवदीप सिंह विर्क कार्यक्रम में भाग लेने के लिए रोहतक से झज्जर तक साइकिल पर सवार होकर पहुंचे। मुख्यमंत्री को जब यह जानकारी मिली तो उन्होंने इसे प्रशंसनीय बताया।  कार्यक्रम के दौरान योग मुद्राओं पर आधारित अभ्यास का प्रदर्शन करने वाले छात्र राहुल व छात्रा कनिका की सराहना करते हुए मुख्यमंत्री ने उनके उज्ज्वल भविष्य की कामनाा की तथा उन्हें व उनके प्रशिक्षक रामनिवास को 21-21 हजार रुपए की राशि प्रोत्साहन स्वरूप देने की घोषणा की। उन्होंने योग दिवस कार्यक्रम में अभ्यास कराने वाले आचार्य बलदेव व आचार्य प्रवीण भी प्रशंसा की। 
हरियाणा के कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री ओमप्रकाश धनखड़ ने कहा कि पंडित दीन दयाल उपाध्याय का मानना था कि शासन वही अच्छा होता है, जो अपनी संस्कृति की अभिव्यक्ति को आगे बढ़ाता है। इसी सोच को आगे बढ़ाते हुए हरियाणा की वर्तमान सरकार के कार्यकाल में गीता जयंती व योग दिवस जैसे आयोजन निरंतर कराए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि आज के आयोजन में शासन के साथ जन की भागीदारी अतुलनीय रही है। योग भारत की प्राचीन पद्धति है, जिससे चेतना, मन व बुद्धि जागृत होती है। योग के जरिए हम सब प्राणी मात्र के कल्याण की भावना के साथ यज्ञरूपी कर्म करते हैं। योग को आज पूरी दुनिया अपना रही है जोकि हर भारतवासी के लिए गर्व की बात है।
उन्होंने अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर झज्जर में आयोजित राज्य स्तरीय कार्यक्रम को यादगार लम्हा बताते हुए कहा कि हम इस अवसर के साक्षी बने हैं। योग के अनेक भाव हंै और हम इन भावों को आत्मसात कर भारतवासी होने के नाते दुनिया में इसके ब्रांड एंबेसडर बनें। आज देश को कर्मयोगी प्रधानमंत्री तथा मुख्यमंत्री मिले हंै। उन्होंने योगाभ्यास के लिए बड़ी संख्या में कार्यक्रम में पहुंचे जिलावासियों तथा मुख्यमंत्री का अभिनंदन किया और अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस की शुभकामनाएं भी दी। 
बहादुरगढ़ से भाजपा विधायक नरेश कौशिक ने राज्य स्तरीय योग दिवस कार्यक्रम की मेजबानी का अवसर जिला झज्जर को देने के लिए मुख्यमंत्री का आभार जताया। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी की पहल पर दुनिया में योग के माध्यम से भारत को खोया हुआ गौरव मिला है। योग को अपनी प्राचीन परंपरा बताते हुए उन्होंने कहा कि नियमित योगाभ्यास ही स्वस्थ रहने तथा तनाव मुक्त जीवन का आधार है। उपायुक्त सोनल गोयल ने कार्यक्रम में पहुंचने पर मुख्यमंत्री तथा अन्य अतिथिगण का स्वागत किया। 
Have something to say? Post your comment