Thursday, September 20, 2018
Follow us on
BREAKING NEWS
प्रदेश में खेलों को बढ़ावा देने के लिए 23 से 25 अक्तूबर तक राज्य स्तरीय खेल महाकुम्भ का आयोजन किया जाएगा:विजस्वास्थ्य विभाग, हरियाणा के महानिदेशक डॉ. सतीश अग्रवाल की अध्यक्षता में आज राज्य एडवाईजरी कमेटी की बैठक का आयोजन किया गयाअरुण जेटली, सुषमा स्वराज, नितिन गडकरी और अमिताभ कान्त के बीच हुई बैठकचाबहार पोर्ट से तेल का आयात जल्द शुरू हो जायेगा: सूत्रजेट एयरवेज मामले में केंद्रीय मंत्री सुरेश प्रभु ने दिए जांच के आदेशसुनंदा पुष्कर हत्या केस: 4 अक्टूबर को पटियाला हाउस कोर्ट करेगा मामले की सुनवाईJ-K: बांदीपोरा में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ शुरू1 अक्टूबर से विशिष्ट राहत कानून संशोधन से अदालतों की विवेकाधिकार शक्तियों पर लगेगा अंकुश - एडवोकेट हेमंत
Haryana

हरियाणा मत्स्य संसाधन विकास प्राधिकरण का गठन- धनखड़

June 15, 2018 06:17 PM
 हरियाणा के कृषि एवं किसान कल्याण,पशुपालन व डेरिंग तथा मत्स्य पालन मंत्री श्री ओम प्रकाश धनखड़ ने कहा है कि किसानों की आय कम से कम एक लाख प्रति एकड़ तक हो इस कड़ी में हरियाणा सरकार ने राष्टï्रीय राजधानी क्षेत्र में पैरी एग्रीचल्चर अवधारणा को लागू किया है, जिसके तहत मत्स्य उत्पादन को बढ़ावा देने के लिए हरियाणा  मत्स्य  संसाधन विकास प्राधिकरण का गठन किया जाएगा। 
आज यहां जारी एक वक्तव्य में श्री धनखड़ ने कहा कि प्राधिकरण का मुख्य कार्य आरम्भ में झज्जर तथा चरखी-दादरी जिलों के जलभराव व ज्यादा खेतीबाड़ी की गतिविधियां न की जाने वाली लगभग 16000 एकड़ भूमि पर मत्स्य पालन को बढ़ावा देने के लिए एक पायलट परियोजना आरम्भ की जाएगी। उन्होंने कहा कि खाली पड़ी इस भूमि का सदुउपयोग हो सकेगा और किसानों रूझान मत्स्य पालन की ओर बढऩे से हरियाणा देश में नीली क्रांति लाने में अपना उल्लेखनीय योगदान दे सकेगा। उन्होंने बताया कि इस पायलट परियोजना के तहत राज्य में मत्स्य उत्पादन 64 हजार टन वार्षिक हो सकेगा जिसका मार्केट मूल्य 640 करोड़ रुपये अनुमानित है। 
श्री धनखड़ ने बताया कि हरियाणा मत्स्य  संसाधन विकास प्राधिकरण का प्रशासनीक नियंत्रण मत्स्य विभाग के पास रहेगा तथा अतिरिक्त मुख्य सचिव या प्रधान सचिव इस प्राधिकरण के अध्यक्ष होंगे। इसी प्रकार जिला स्तर पर सम्बन्धित उपायुक्त की अध्यक्षता में सब कमेटी का गठन किया जाएगा। यह प्राधिकरण भू-मालिकों से 10 वर्ष के पट्टïे पर भूमि लेगा। भू-मालिक की इच्छा अनुसार पटïï्टा अवधि 5 से 10 वर्ष और बढ़ाई जा सके गी। जिसे ई-बोली के माध्यम से मत्स्य उत्पादकों, मत्स्य सहकारी समितियों या प्राईवेट उद्यमियों को आगे पट्टïे पर दिया जा सकेगा।  उन्होंने बताया कि प्राधिकरण वैज्ञानिक तरीके से मत्स्य संसाधन के विकास, सहयोग व बढ़ावा देने के लिए कार्य करेगा। 
श्री धनखड़ ने बताया कि हरियाणा मत्स्य संसाधन विकास प्राधिकरण की मुख्य स्तर पर अप्रेक्स कमेटी ने  मत्स्य विभाग के प्रशासनिक सचिव अध्यक्ष होंगे जबकि मत्स्य विभाग के  संयुक्त सचिव/विशेष सचिव, विकास एवं पंचायत विभाग के निदेशक, सिंचाई एवं जल संसाधन विभाग के प्रमुख अभियन्ता, वित्त एवं राजस्व विभाग के प्रतिनिधि  तथा विभाग के संयुक्त निदेशक मुख्यालय इस कमेटी के सदस्य होंगे। इसके अलावा, दो मत्स्य पालक किसानों को भी सदस्य के रूप मेें मनोनीत किया जाएगा। उप-निदेशक मत्स्य विभाग मुख्यालय इसके कोषाध्यक्ष, जबकि विभाग के निदेशक इसके सदस्स सचिव होंगे। 
उन्होंने बताया कि जिला स्तरीय उप समिति में सम्बन्धित उपायुक्त अध्यक्ष होंगे तथा सदस्यों में अतिरिक्त उपायुक्त, राजस्व विभाग के प्रतिनिधि, उपनिदेशक मत्स्य, उपनिदेशक कृषि, जिला विकास एवं पंचायत अधिकारी, सिंचाई एवं जल संसाधन विभाग के कार्यकारी अभियंता व मत्स्य अधिकारी शामिल होंगे, जबकि जिला मत्स्य अधिकारी इसके सदस्य सचिव होंगे। 
Have something to say? Post your comment
 
More Haryana News
स्वास्थ्य विभाग, हरियाणा के महानिदेशक डॉ. सतीश अग्रवाल की अध्यक्षता में आज राज्य एडवाईजरी कमेटी की बैठक का आयोजन किया गया हरियाणा के गांवों को साफ एवं स्वच्छ बनाने के लिए राज्य स्तरीय एक अभियान चलाया जाएगा हरियाणा मन्त्रिमण्डल की बैठक मुख्यमंत्री मनोहर लाल की अध्यक्षता में 25 सितम्बर को तीन बजे चंडीगढ़ में होगी
सोनीपत : शहीद नरेंद्र दहिया की अंतिम यात्रा में उमड़ा जनसैलाब
सोनीपत में घर पहुंचा शहीद BSF हेड कॉन्स्टेबल नरेंद्र सिंह का पार्थिव शरीर हिसार, जींद, सिरसा और फतेहाबाद में खुलेंगे छह नए थाने HARYANA-चपरासी पद के लिए पीएचडी होल्डर भी कतार में No namaz, Rohtak panchayat tells Muslims-Told to avoid keeping beard, use Hindu names for kid Rice for poor’ finds way to Haryana mills Maximum plaints on HARYANA CM window about poor roads