Saturday, June 23, 2018
Follow us on
Haryana

न्यू इंडिया के निर्माण में सिविल सर्वेंटस की भूमिका सर्वाधिक महत्वपूर्ण- राज्यपाल

June 14, 2018 09:53 PM

 वर्ष 2022 तक न्यू इंडिया के निर्माण में सिविल सर्वेंटस की भूमिका सर्वाधिक महत्वपूर्ण है। यह नया भारत वैसा ही होगा जिसकी कल्पना महात्मा गांधी, स्वामी विवेकानन्द आदि महापुरूषों ने की थी। सिविल सर्वेंटस गुड गवर्नेंस के जरिए 21वीं सदी के देश की महत्वपूर्ण कड़ी बनेंगे।

ये उदगार हरियाणा के राज्यपाल प्रो० कप्तान सिंह सोलंकी ने आज यहां राजभवन में नवचयनित आईएएस के सम्मान समारोह में बोलते हुए व्यक्त किए। सम्मान समारोह का आयोजन संकल्प संस्था द्वारा किया गया था। संकल्प संस्था भारतीय प्रशासनिक सेवाओं के लिए तैयारी करने वाले प्रतिभागियों की मदद व मार्गदर्शन करती है। समारोह में संकल्प की मदद से सफल हुए अनेक अधिकारी, उनके परिजन, संकल्प के चण्डीगढ़ केन्द्र में भारतीय प्रशासनिक सेवाओं की तैयारी कर रहे प्रतिभागीए आदि उपस्थित थे।

राज्यपाल ने आगे कहा कि संकल्प वह संस्था है जो भारतीय प्रशासनिक सेवाओं की तैयारी कर रहे प्रतिभागियों को वैसा आचरण व व्यवहार सिखाती है जैसा न्यू इंडिया बनाने के लिए चाहिए। उन्होंने कहा कि आजादी के बाद गांधी जी के सपनों का भारत बनाने का पहला प्रयास सरदार बल्लभ भाई पटेल ने रियासतों का देश में विलय करके किया था। उन्हीं पटेल जी ने आईएएस को स्टील फ्रेम ऑफ  इंडिया कहा था लेकिन इसके लिए उच्च चरित्र पहली जरूरत है। राज्यपाल ने कहा कि चरित्र में नैतिकता, विश्वसनीयता, संवेदनशीलता और प्रामाणिकता शामिल हैं। लेकिन इनसे भी बढ़कर अधिकारी का व्यवहार महत्व रखता है।

इस अवसर पर राज्यपाल ने संकल्प के सहयोग से नवचयनित अधिकारियों को बधाई दी और उन्हें सम्मानित किया। इनमें अंकुरजीत सिंह, अनिरूद्ध, अमन मिश्रा, दीपक पुण्डीर, हरसिमरन प्रीत कौर, जपनीत कौर, जसरूप कौर, नेहा अग्रवाल, निशांत शर्मा, रविन्दर सिंहए शिल्पा भट्टी, शिवानी गुप्ता, शिवानी कपूर, नरेन्दर पाल सिंह, सौरभ शर्मा व निखिल बंसल शामिल हैं।

इससे पहले हरियाणा के मुख्य सचिव डी.एस. ढेसी ने अपने सम्बोधन में कहा कि पिछले दो दशकों में देश में बड़ी प्रगति हुई है, नई तकनीक और प्रौद्यागिकी से बड़े परिवर्तन आए हैं, लेकिन इनके साथ चुनौतियां भी आई हैं और आईएएस अधिकारियों की भूमिका बदल रही है। इन सबका सामना करने के लिए अधिकारियों को तैयार रहना होगा।

समारोह में मोहाली के मेयर कुलवंत सिंह व पंजाब के पूर्व पुलिस महानिदेशक पी.सी. डोगरा ने भी विचार रखे। संकल्प संस्था के संगठन मंत्री कन्हैयालाल ने संकल्प संस्था का परिचय दिया। ब्रह्मऋर्षि बावरा जी मिशन, पिंजौर की महामंत्री डॉ० मनीषा दीदी ने नवचयनित अधिकारियों को आशीर्वाद दिया। जन विकास शिक्षा समिति के अध्यक्ष चरणजीत राय ने सबका स्वागत किया।

Have something to say? Post your comment