Friday, August 17, 2018
Follow us on
Haryana

मामला यौन शोषण के बजाय मानसिक उत्पीड़न का लग रहा, गुलाटी की कार्यप्रणाली ठीक नहीं, सुधार करने की दी सलाह : महिला आयोग

June 14, 2018 07:00 AM

COURSTEY DAINIK BHASKAR JUNE 14


मामला यौन शोषण के बजाय मानसिक उत्पीड़न का लग रहा, गुलाटी की कार्यप्रणाली ठीक नहीं, सुधार करने की दी सलाह : महिला आयोग

आईएएस से यौन शोषण के आरोप का मामला: आरोपी सीनियर आईएएस ने 3 घंटे तक महिला आयोग के सामने रखा अपना पक्ष

भास्कर न्यूज | राजधानी हरियाणा
प्रदेश की महिला आईएएस की ओर से लगाए यौन शोषण के आरोपों को लेकर बुधवार को महिला आयोग के सामने आरोपी सीनियर आईएएस सुनील गुलाटी बयान दर्ज कराने पहुंचे। गुलाटी ने आयोग सदस्यों के सामने 3 घंटे तक अपनी बात रखी।
इसके बाद महिला आयोग ने कहा कि अब तक की जांच में आरोप सही नहीं लग रहे हैं। मामला मानसिक शोषण का ही लग रहा है, लेकिन आरोपी सीनियर आईएएस सुनील कुमारी गुलाटी का व्यवहार अपने कर्मचारियों के साथ ठीक नहीं है। यह आयोग की ओर से अपनी स्तर पर कराई जांच में सामने आया है। आरोपी सीनियर आईएएस को चेयरपर्सन प्रतिभा सुमन ने अपनी कार्यप्रणाली में सुधार करने की हिदायत दी है।
बयान लेने के साथ आयोग इस मामले की अपने स्तर पर भी जांच कर रहा है। इस मामले में 6 और अधिकारियों को आयोग ने समन जारी किए हैं। इनमें पशु पालन एवं डेयरी विभाग के महानिदेशक जीएस जाखड़ को भी आयोग ने बुलाकर बयान दर्ज किए हैं। आयोग ने जांच पूरी न होने के चलते बाकी अधिकारियों के नामों का खुलासा नहीं किया। दोपहर बाद साढ़े तीन बजे आयोग ने महिला आईएएस को भी बयान दर्ज कराने के लिए बुलाया। शाम सवा 6 बजे तक आयोग चेयरपर्सन प्रतिभा सुमन और वाइस चेयरपर्सन प्रीति भारद्वाज ने उससे बातचीत। उन्हें कुछ दस्तावेज जमा कराने कहा, जिस पर महिला आईएएस ने 7 दिन का वक्त मांगा है।
आंतरिक शिकायत समिति की आईएएस एवं अध्यक्ष नवराज संधू ने बताया कि अभी कमेटी बनी है। यदि आईएएस से जुड़ा मामला कमेटी में लाया जाएगा तो जरूर इसे गंभीरता से देखा जाएगा।
सीएस को चिट्ठी लिखी, ली जाएगी सीसीटीवी फुटेज और खंगाला जाएगा रिकॉर्ड : राज्य महिला आयोग की ओर से पूरे मामले की सीसीटीवी फुटेज देखी जाएगी। इसके अलावा रिकॉर्ड भी खंगाला जाएगा। इसके लिए आयोग की ओर से मुख्य सचिव को चिट्ठी लिख दी है, ताकि इस मामले की और जांच की जा सके।
आमने-सामने बैठने से महिला आईएएस ने किया इनकार : महिला आयोग, महिला आईएएस और सीनियर आईएएस को आमने-सामने बैठाना चाहता था, लेकिन महिला आईएएस ने इसके लिए मना कर दिया। इसलिए सीनियर आईएएस को सुबह 11 बजे बुलाया गया था, जबकि महिला आईएएस को साढ़े तीन बजे का समय दिया गया।
महकमे के डीजी के भी बयान दर्ज, 6 और अधिकारियों को महिला आयोग ने जारी किए समन
मैं निर्दोष, सभी आराेप झूठे, हर जांच को तैयार : सुनील गुलाटी
सुबह 11 बजे आयोग के सामने पहुंचे सीनियर आईएएस गुलाटी ने दोपहर बाद करीब 2:30 बजे तक अपना पक्ष रखा। पत्रकारों से बातचीत में कहा कि वे निर्दोष हैं और लगाए गए सभी आरोप झूठे हैं। वे किसी भी जांच के लिए तैयार हैं। उन्होंने कहा कि जब वे उनके विभाग में तबादला होकर आईं तभी इंटरनेट पर बैकग्राउंड देखा तो स्टाफ से कह दिया था कि ये जब भी ऑफिस में आएं तो कोई न कोई सदस्य जरूर अंदर बैठे। गुलाटी ने कहा कि उनकी वजह से उनकी मानहानि हुई है और आवश्यकता हुई तो मानहानि का केस भी करूंगा। जूनियर ऑफिसर का ध्यान रखने की जिम्मेदारी सीनियर की होती है, वही मैंने किया। इन्हें सभी सुविधाएं दीं। ये जहां भी रही हैं, वहां आरोप लगाए हैं। इसके कोई मेडिकली कारण हो सकते हैं, तनाव हो सकता है। परिवार को ये देखना चाहिए। रोहतक बुलाने के लगाए गए आरोपों पर उन्होंने कहा कि महिला आईएएस ने उनसे ई-मेल पर छुट्‌टी मांगी थी, लेकिन उन्होंने उनसे कहा कि रविवार को डिस्पेंसरी बंद होती है। ऐसे में रोहतक में कार्यक्रम में सभी डॉक्टर-अधिकारी आएंगे। उनसे समस्या पूछी जाएगी और उन्हें कुछ नया बताया जाएगा, लेकिन वे इसमें नहीं आईं।
झूठ बोल रहे गुलाटी, यहां न्याय नहीं मिला तो जाऊंगी अदालत : पीड़िता
सीनियर आईएएस गुलाटी के जाने के बाद दोपहर बाद करीब 3:30 बजे महिला आईएएस आयोग दफ्तर पहुंचीं। उन्होंने गुलाटी की ओर से मीडिया में रखी बात पर पूछा तो उन्होंने कहा कि कौन अपराधी यह कहता है कि उसने अपराध किया है। वह झूठ बोल रहे हैं। उन्होंने जो आरोप लगाए हैं, सब सही है। उन्होंने महिला आयोग पर भी सवाल उठाए हैं। उन्होंने कहा कि उन्हें बयान दर्ज करने के लिए आधे घंटे के नोटिस पर बुलाया गया। मेरे पास तथ्य भी तैयार नहीं थे। उन्होंने कहा कि यदि आयोग से न्याय नहीं मिला तो अदालत जाएंगी।
महिला आईएएस को कागजात के लिए दिया समय: चेयरपर्सन
महिला आयोग की चेयरपर्सन प्रतिभा सुमन का कहना है कि यौन शोषण मामले में आईएएस सुनील कुमार गुलाटी के बयान दर्ज किए हैं। उन्होंने महिला आईएएस के आरोपों पर अपना जवाब दिया, लेकिन उन्हें अपनी कार्यप्रणाली में सुधार करने की नसीहत दी गई है। यह मामला यौन शोषण का नहीं लग रहा है। यह मानसिक उत्पीड़न का हो सकता है। उन्होंने कहा कि महिला आईएएस शारीरिक और मानसिक रूप से स्वस्थ है। उन्होंने डॉक्यूमेंट जमा कराने के लिए 7 दिन का समय मांगा, जो दे दिया गया।

Have something to say? Post your comment
 
More Haryana News
प्रो० कप्तान सिंह सोलंकी ने 17 अगस्त, 2018 को बाद दोपहर 2 बजे चण्डीगढ़ में हरियाणा विधानसभा भवन में आहूत किए गये अधिवेशन के आदेश को वापस ले लिया हरियाणा के सभी सरकारी कार्यालयों ,स्कूलों में कल शुक्रवार 17अगस्त को छुट्टी, वाजपेयी के निधन पर सरकार ने की घोषणा मनोहर लाल ने पूर्व प्रधान मंत्री श्री अटल बिहारी वाजपेयी के दुखद निधन पर शोक व्यक्त करते हुए उनके निधन को देश, राजनीति और भाजपा के लिए एक अपूर्णीय क्षति बताया। बनवारी लाल ने देश के पूर्व प्रधानमंत्री श्री अटल बिहारी वाजपेयी के दुखद निधन पर गहरा शोक व्यक्त किया राम बिलास शर्मा ने पूर्व प्रधानमंत्री श्री अटल बिहारी वाजपेयी के निधन पर गहरा शोक व्यक्त किया हरियाणा विधानसभा का 17अगस्त से शुरू होने वाला मानसून सत्र स्थागित, वाजपेयी के निधन पर प्रदेश में सात दिन का शोक घोषित हरियाणा के वित्तमंत्री कैप्टन अभिमन्यु ने पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के निधन पर गहरा शोक व्यक्त किया
हरियाणा पुलिस जीन्द की डिटेक्टिव टीम ने पुलिस मुठभेड़ के बाद कुख्यात आरोपी पुनित उर्फ कड़वा को गिरफतार करने में सफलता हासिल की
हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल व् केंद्रीय गृह मंत्री राज नाथ सिंह ने गुरूवार को चंडीगढ़ में छत्तीसगढ़ के पूर्व राज्यपाल बलरामजी दास टंडन को श्रद्धांजलि अर्पित की हरियाणा में उच्चतर शिक्षा-गुणवत्ता पर एक परिप्रेक्ष्य’ विषय पर संगोष्ठी का आयोजन किया गया