Friday, August 17, 2018
Follow us on
Delhi

HARYANA रोडवेज ‘रत्न’ के नाम बड़े और दर्शन छोटे

June 14, 2018 05:28 AM

COURSTEY THE DAINIK TRIBUNE JUNE 14

रोडवेज ‘रत्न’ के नाम बड़े और दर्शन छोटे
नवीन पांचाल/हप्र
गुरुग्राम, 13 जून
उच्च स्तरीय परिवहन सुविधा उपलब्ध करवाने के लिए खरीदी गई वोल्वो व मर्सिडीज बसें इन दिनों यात्रियों के लिए आफत बनी हुई हैं। मियाद पूरी होने के बावजूद इन्हें दौड़ाया जा रहा है। आलम यह है कि कभी भी ये बसें बीच राह में खड़ी हो जाती हैं। इन बसों के महंगे रेट और रखरखाव के कारण फिलहाल हरियाणा सरकार ने इनकी और खरीद से हाथ खींच लिए हैं। बता दें कि वोल्वो बसें कभी परिवहन विभाग का रत्न कही जाती थीं।
वोल्वो बसों की आयु 7 साल या 10 लाख किलोमीटर तक चलना मानी जाती है। फिलहाल सड़क पर दौड़ रही सभी वोल्वो बसें 10 लाख किलोमीटर से अधिक चल चुकी हैं। इसके कारण चंडीगढ़ डिपो की सभी 10 बसें तथा गुरुग्राम डिपो की 7 बसें खराब खड़ी हैं। फिलहाल गुरुग्राम डिपो में 9 बसें मौजूद हैं। इसके अलावा दो बसें हाल ही में सीएम सिटी करनाल चालक- परिचालक समेत भेजी गई हैं।
यानी कुल खरीदी गई 28 में से 11 बसें अभी ऑन रूट हैं। गुरुग्राम डिपो के एक अधिकारी का कहना है कि ‘जो बसें ऑन रूट हैं उन्हें बहुत अधिक मैंटेनेंस के साथ दौड़ाया जा रहा है लेकिन इनके अपने गंतव्य पर सही सलामत पहुंचने की कोई गारंटी नहीं होती।’ प्रत्येक सप्ताह गुरुग्राम से चंडीगढ़ के बीच इन्हीं वोल्वो बस से सफर करने वाले साहिल मलहोत्रा बताते हैं कि ‘बसों में बैठकर अब वोल्वो वाली फीलिंग नहीं आती। अक्सर बीच राह में खराब हो जाती हैं।’ विभागीय सूत्र बताते हैं कि दो साल पहले वोल्वो ने परिवहन विभाग को गुरुग्राम डिपो की सभी 18 बसों को वापस लेकर इनके बदले में बिना किसी भुगतान के 9 बसें देने का ऑफर दिया था। लेकिन सरकार ने इसे स्वीकार नहीं किया।
10 में से 6 मर्सिडीज हैं ऑन रूट
चंडीगढ़ से दिल्ली के बीच बेहतरीन सफर के लिए चंडीगढ़ डिपो के लिए 10 मर्सिडीज बसें 2013 में खरीदी थीं। अब इनकी हालत अच्छी नहीं है। विभागीय सूत्रों के मुताबिक वोल्वो के मुकाबले ये बेहतर साबित नहीं हुईं। दावा है कि 10 में से 6 बसें ऑन रूट हैं। बाकी खराब हो चुकी हैं। इनकी कीमत 85 से 90 लाख प्रति बस है।
2012 में वोल्वो से खरीदी थीं 28 बसें
परिवहन विभाग ने साल 2012 में वोल्वो कंपनी से 30 बसें खरीदी थीं। इसमें से 10 बसें चंडीगढ़ डिपो तथा 20 बसें गुरुग्राम डिपो को दी गईं। गुरुग्राम डिपो को मिली बसों में से दो बसें तकनीकी खराबी के कारण कंपनी को लौटा दी गईं।

Krishan Lal Pawar copyमहंगी होने के कारण फिलहाल वोल्वो और मर्सिडीज बसें खरीदने की योजना नहीं है। ऑन रूट सभी बसें सही-सलामत हैं। मामूली खराबी हो सकती है, जिसे सही कर दिया जाता है।
कृष्ण लाल पंवार, परिवहन मंत्री-हरियाणा

 

Have something to say? Post your comment
 
More Delhi News