Wednesday, June 20, 2018
Follow us on
Haryana

हिसार को विश्लेषणात्मक तकनीक शीर्षक ‘मक्खन/घी में बहु-अवशेष (मल्टी रेज़ड्यू)के आकलन की पद्घति’ के लिए पेटेंट प्रदान किया गया

June 12, 2018 05:07 PM
चौधरी चरण सिंह हरियाणा कृषि विश्वविद्यालय, हिसार को विश्लेषणात्मक तकनीक शीर्षक ‘मक्खन/घी में बहु-अवशेष (मल्टी रेज़ड्यू)के आकलन की पद्घति’ के लिए पेटेंट प्रदान किया गया है। केन्द्र सरकार के पेटेंट कार्यालय भारतीय बौद्घिक सम्पदा द्वारा यह पेटेंट 20 वर्षों के लिए दिया गया है। 
विश्वविद्यालय के एक प्रवक्ता ने आज यह जानकारी देते हुए बताया कि कुलपति प्रो. के.पी.सिंह ने इस तकनीक के विकास के लिए विश्वविद्यालय के कीटविज्ञान विभाग की सीनियर एनालेटिकल केमिस्ट (सेवानिवृत्त) डॉ. बीना कुमारी और उनकी टीम के रिसर्च एसोसिएट डॉ. शशि सिंह, डॉ. जगदीप सिंह और सीनियर पेस्टीसाइड केमिस्ट (सेवानिवृत्त) डॉ. टी.एस.कठपाल को बधाई दी है। 
उन्होंने बताया कि विशेषकर कृषि के मौजूदा परिदृश्य में पर्यावरण अवयवों और खाद्य वस्तुओं में कीटनाशक अवशेष एक गंभीर वैश्विक समस्या है और स्वास्थ्य के लिए चुनौती है। सभी श्रेणियों के कीटनाशकों के अवशेषों की पहचान के लिए केवल एक तरह के कीटनाशकों हेतु आकलन तकनीक का इस्तेमाल नहीं किया जा सकता। इसलिए, गैस लिक्विड क्रोमैटोग्राफी का इस्तेमाल करके मक्खन व घी में एक साथ ओर्गेनोक्लोरिन, सिंथेटिक, पाइरेथरॉइड्स, ओर्गेनोफास्फेट्स और कार्बामेटï्स से संबंधित कीटनाशकों के सभी चारों प्रमुख समूहों के दूषित पदार्थों के निर्धारण के लिए तीव्र, साधारण और प्रामाणिक तकनीक विकसित की गई है। 
उन्होंने बताया कि चूंकि यह तकनीक अति साधारण और संवेदनशील है तथा इसमें समय भी कम लगता है। इसलिए इसे राष्टï्रीय और अंतरराष्टï्रीय व्यवसाय में दूध के साथ-साथ मक्खन और घी बनाने वाले डेरी उद्योगों और दुग्ध संयंत्रों द्वारा अपनाया जा सकता है। इस तकनीक  को अपनाने से अवशेषों की मौजूदगी के साथ-साथ उनके स्तर का भी पता लगाया जा सकता है। इससे वे कीटनाशक अवशेषों को हटाने के लिए पहले से मौजूद परिशोधन प्रक्रिया का इस्तेमाल कर सकते हैं और उपभोक्ताओं को भारतीय खाद्य सुरक्षा मानक प्राधिकरण द्वारा निर्धारित अधिकतम अवशेष सीमा से कम अवशेषों के साथ या अवशेष मुक्त मक्खन या घी उपलब्ध करवा सकते हैं। 
Have something to say? Post your comment
More Haryana News
HARYANA PANCHKULA-एक भाजपा नेता की शह पर पंचकूला में अवैध माइनिंग का कारोबार बढ़ रहा। HARYANA CM CITY KARNAL-अार्किटेक्ट एसोसिएशन चेयरमैन से फॉरच्यूनर गाड़ी, 3 लाख रुपए, सोने का कड़ा, दो अंगूठी और चेन लूटी Haryana may now cut prize money to athletes employed with services, Rlys G’gram faces ‘aqua-calypse’ Delhi, along with 20 other cities, will be left without groundwater by 2020: Niti Aayog VC violating rules, says Sirsa Registrar FARIDABAD-प्राइवेट टैंकरों को आम जनता का पानी बेच रहा है माफिया पंचकूला प्रदेश का ऐसा पहला जिला बन गया है, जहां सफाई कर्मचारियों के लिए चेंजिंग रूम की सुविधा उपलब्ध करवाई गई: ज्ञानचंद गुप्ता निजी बसों को उनके निर्धारित मार्ग पर चलवाना सुनिश्चित किया जाए: पंवार आगामी 10 दिनों में जनप्रतिनिधि अंतरराष्ट्रीय योग दिवस, बूथ महासंपर्क अभियान और कबीर जयंती के माध्यम से जनता के मध्य रहेंगे:बेदी 7-स्टार ग्राम पंचायत (स्टार वाइज रिपोर्ट)