Monday, September 24, 2018
Follow us on
Haryana

अनुसूचित जाति एवं पिछडे वर्ग के छात्र-छात्राओ को सक्षम बनाने के लिए डा. बी.आर. अम्बेडकर मेधावी छात्र योजना के अन्तर्गत आर्थिक सहायता हेतु जिले के 965 छात्र-छात्राओ को 75 लाख 59 हजार रूपये की राशि प्रदान की गई

June 12, 2018 04:01 PM

अनुसूचित जाति एवं पिछडे वर्ग के छात्र-छात्राओ को सक्षम बनाने के लिए डा. बी.आर. अम्बेडकर मेधावी छात्र योजना के अन्तर्गत आर्थिक सहायता हेतु जिले के 965 छात्र-छात्राओ को 75 लाख 59 हजार रूपये की राशि प्रदान की गई है।
    उपायुक्त पंकज ने यह जानकारी देते हुए बताया कि इस योजना का लाभ पाने के लिए छात्र-छात्रा अनुसूचित जाति या पिछडे वर्ग से सम्बंधित हो व हरियाणा का निवासी होना चाहिए। छात्र-छात्रा की सभी साधनों से मिलाकर पारिवारिक वार्षिक आय 4 लाख रूपये से अधिक न हो। उन्होंने बताया कि अनुसूचित जाति के छात्र-छात्राओ द्वारा 10वीं कक्षा में 60 प्रतिशत ग्रामीण क्षेत्र मेंऔर शहरी क्षेत्र में 70 प्रतिशत से अधिक अंक प्राप्त करने पर 8 हजार रूपये प्रतिवर्ष प्रोत्साहन राशि प्रदान की जाती है। 
     12वीं कक्षा में बीसीए वर्ग के छात्र-छात्राओं द्वारा ग्रामीण क्षेत्र में 60 प्रतिशत तथा शहरी क्षेत्र में 70 प्रतिशत व बीसीबी वर्ग में ग्रामीण क्षेत्र में 75 प्रतिशत तथा शहरी क्षेत्र में 80 प्रतिशत अंक प्राप्त तथा अनुसूचित जाति के छात्र-छात्राओं के लिए ग्रामीण क्षेत्र में 70 प्रतिशत व शहरी क्षेत्र में 75 प्रतिशत प्राप्त करने पर कला संकाय में 6 हजार रूपये तथा वाणिज्य एवं विज्ञान संकाय में 8 हजार रूपये प्रतिवर्ष प्रोत्साहन राशि प्रदान की जाती है। इसी प्रकार स्नातक पास अनुसूचित जाति के छात्र-छात्राओं द्वारा ग्रामीण क्षेत्र में 60 प्रतिशत तथा शहरी में 65 प्रतिशत अंक प्राप्त करने पर 9 हजार रूपये तकनीकि व व्यवसायिक छात्र-छात्राओं को 11 हजार रूपये, चिक्तिसा व अलाईड को 12 हजार रूपये प्रतिवर्ष दिये जाते है। 
    उपायुक्त ने बताया कि इस योजना का लाभ पाने के लिए योग्य छात्र-छात्राएं अपना आवेदन विभागीय पोर्टल पर ऑनलाईन अपलोड कर सकते है तथा अपना फोटोग्राफ, जाति प्रमाण पत्र, हरियाणा निवासी प्रमाण पत्र, दसवीं एवं अन्य कक्षाओं की अंक तालिकाओं की प्रति, पारिवारिक आय प्रमाण पत्र, आधारकार्ड की प्रति, आधार लिंक बैंक पासबुक की फोटोप्रति, छात्र के स्कूल में अध्ययनरत प्रमाण पत्र साथ लगायें। अधिक जानकारी के लिए जिला कल्याण अधिकारी के कार्यालय में सम्पर्क कर सकते है। 

Have something to say? Post your comment