Thursday, December 13, 2018
Follow us on
Haryana

यह मास भगवान नारायण का प्रिय मास व कृपा देने वाला - स्वामी शक्तिदेव जी महाराज

June 10, 2018 02:17 PM

भगवान श्री ब्रह्मा मंदिर में  जय ओंकार अंतराष्ट्रीय सेवाश्रम संघ संस्थापक श्री श्री 1008 सदगुरुदेव स्वामी श्री शक्तिदेव जी महाराज कुरड़ी वाले एवं श्री श्री 1008 सदगुरुदेव स्वामी श्री संतोष ओंकार जी महाराज कुरड़ी वाले एवं श्री श्री 1008 सदगुरुदेव स्वामी संदीप ओंकार जी महाराज कुरड़ी वालों ने भगवान नारायण के स्वरुप अधिक मास में वाणी करते हुए कहा कि जो भी श्रत्र्द्धा व विश्वास से सदगुरु चरणों में पूर्ण सर्मपण भाव से पूजा करता है उसको भगवान लक्ष्मी नारायण काा पूर्ण आर्शीवाद मिलता है और वह जीवन में बिना किसी भय के सुखमय व आनंदमय जीवन व्यतीत करता है और उसे कभी भी जीवन में अकाल कष्ट नहीं आता। कुरड़ी वाले महाराज श्री जी ने कहा कि अधिक मास मे स्वयं भगवन नारायण पृथ्वी पर उतर कर पूजा ग्रहण करते हैं और भक्तों की मनोकामना पूर्ण करते हैं। अधिक मास भगवान नारायण का प्रिय मास है। सभी संत महात्मा भगवान नारायण की कृपा से ही यज्ञ-तप, अनुष्टान आदि कर धर्म को बढ़ावा देते हैं। धर्म सत से चलता है। सत भगवान नारायण है। जिनकी कृपा से समस्त ब्रह्मंड चल रहा है। नारायण भगवान जड़ चेतन सभी के स्वामी हैं। नारायण भगवान निराकार परब्रह्म ओंकार भगवान है। जिनकी कृपा सदगुरु के माधयम से हमें प्राप्त होती है। प्रत्येक शिष्य सदगुरु चरणों में पूर्ण सर्मपर्ण भावना से समर्पित होकर भगवान व सदगुरु का प्यार पाता है। संघ संचालक पं शिवनारायण दीक्षित जी ने कहा कि अधिक मास में की गई पूजा का फल जीव को अवश्य मिलता है। संचालक जी नेे कहा कि ज्येष्ठ मास में श्रद्धालुओं की प्यास बुझाने के लिए छबील लगाई जा रही है तथा जो भी प्राणी इस मास में जीवों की प्यास बुझाता है उसे असीम पुण्य की प्राप्ति हीती है। 

Have something to say? Post your comment