Thursday, March 21, 2019
Follow us on
Haryana

रेवाडी:23 मई से 5 जून तक 1714 व्यक्यिों ने उठाया सरल केन्द्र का लाभ

June 06, 2018 04:58 PM
जिला लघु सचिवालय में सरल केन्द्र (ई-दिशा केन्द्र) 23 मई 2018 को नये स्वरूप में स्थापित कर दिया गया था। जिसमें काउंटर नम्बर एक पर सीएम विंडो, काउंटर नम्बर 2 पर हरसमय, काउंटर नम्बर 3 से 11 तक ड्राईविंग लाईसैंस व वाहन पंजीकरण का कार्य सुचारू रूप से चल रहा है। इसके अतिरिक्त इस केन्द्र में एक हैल्प डैस्क काउंटर भी बनाया गया है। दो केबिन जिसमें ड्राईविंग लाईसैंस व वाहन पंजीकरण प्रिन्ट निकलवाने व लर्निंग लाईसैंस के टैस्ट का कार्य भी किया जा रहा है। इस केन्द्र में आगंतुको के बैठने के लिए वातानुकूलित व्यवस्था व उनके पीने के पानी की उचित व्यवस्था की गई है। 
सरल केन्द्र में रजिस्ट्रेशन, ड्राईविंग लाईसैंस, हरसमय, सीएम विंडो आदि अनेक सेवाएं प्रदान की जा रही है तथा समय के अनुसार इस सरल केन्द्र में 200 से ज्यादा सुविधाएं एक ही छत के नीचे उपलब्ध करवाई जाएगी। अन्य सेवाओं को समय के अनुसार इसमें विस्तार किया जाएगा। इसलिए इसका नाम सरल केन्द्र रखा गया है। इसमें टोकन व्यवस्था की गई है, 23 मई से 5 जून तक 1714 टोकन जारी किये गये जिनमें से 1647 टोकनो पर कार्य हुुआ तथा बाकि के 67 टोकन पर उनके दस्तावेजों में कमी थी। 
टोकन जारी होने का सबसे बडा लाभ यहां पर आने वाले लोगों को मिला है। जब भी किसी का नम्बर आता है तो उसे डिस्पले पर नम्बर दर्शाया जाता है। इसके बाद टोकन नम्बर के हिसाब से कार्य किया जाता है। इससे किसी को भी लाईन में खडे रहने की समस्या भी नहीं रहती। इस केन्द्र में बैठने की उचित व्यवस्था की गई है। बुजुर्ग व महिलाओं के लिए यह विशेषकर राहतभरा केन्द्र है। 
सरल केन्द्र में बनाई गई हैल्प डैस्क में टोकन व फाईल मिलते है। फाईल को लेकर उसे भरकर टोकन नम्बर के हिसाब से किसी भी काउंटर में पर जमा करवा सकते है। 
 जाडरा गांव के भजनलाल जो कि एचपीए कराने के लिए आये थे उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री ने वातानुकूलित यह केन्द्र बनवाकर बहुत ही अच्छा कार्य किया है। इस केन्द्र में पहुंचने के बाद अपने आप ही थकान दूर हो जाती है। चांदावास गांव से नये रजिस्ट्रेेशन कराने के लिए आये अमित ने बताया कि उसका कार्य 25 मिनट में हो गया जबकि इससे पहले इस कार्य के लिए 3 से 4 दिन तक कार्यालय के चक्कर लगाने पडते थे। यह सरल केन्द्र लोगो के लिए मिल का पत्थर साबित हुआ है। डहीना से आई नीतू यादव ने बताया कि वह एनओसी के लिए आई थी इस केन्द्र में पहली बार आई तो वातानुकूलित केन्द्र को देखकर दंग रह गई तथा उसका कार्य 20 मिनट में हो गया ऐसा उसने सोचा भी नहीं था। खरसानकी गांव से आये देवेन्द्र जो कि एचपीए कैन्सिल कराने के लिए आये थे उन्होंने बताया कि उनका कार्य 10 मिनट में हो गया यह उसके लिए राहत भरा है। अनाज मण्डी रेवाडी से आई सीमा ने बताया कि वह स्थाई ड्राईविंग लाईसैंस बनवाने के लिए आई थी उनका जैसे ही नम्बर आया 15 मिनट में उनके कार्य की औपचारिकताएं पूरी हो गई। साल्हावास से आये मोहित ने बताया कि वह गाडी ट्रांसफर करवाने के लिए सुबह 11 बजे सरल केन्द्र में आये उनका कार्य मिनटो में हो गया। उन्होंने कभी सोचा भी नहीं था कि किसी कार्यालय में आने के बाद उन्हें शीतल जल मिलेगा तथा उन्हें वेटिंग रूम में बैठने की सुविधा भी प्राप्त होगी। यहां पर आकर पहली बार राहत महसूस की गई है तथा कर्मचारियों का स्वभाव भी मृदु व सौम्य है। रेवाडी से आये अरूण ने बताया कि इस सरल केन्द्र में इतनी तीव्रता से कार्य होगा यह उन्होंने सोचा भी नहीं था। उन्होने कहा इसके लिए यहां का डीसी बधाई का पात्र।
उल्लेखनीय है कि उपायुक्त ने इस सरल केन्द्र को शुरू कराने में जो दिलचस्पी दिखाई यह उन्हीं की मेहनत का परिणाम है जो इतनी जल्दी बनकर तैयार हो गया तथा लोगों को इसमें एक ही छत के सभी सुविधा मिलने लगी है। इस सरल केन्द्र में सीसीटीवी कैमरे भी लगाये गये है जिससे सरल केन्द्र में आने वाले तथा इसमें हो रहे कार्यो की गतिविधियों की निगरानी भी रखी जा रही है। 
 
Have something to say? Post your comment