Monday, May 27, 2019
Follow us on
Haryana

तंवर पहले कांग्रेस के संविधान की तो रक्षा करें: प्रो चौहान कांग्रेस ने बाबा साहब को सदैव किया अपमानित

May 27, 2018 05:32 PM
जो कांग्रेस अध्यक्ष अपनी पार्टी के भीतर चल रही दबंगई का मुकाबला नहीं कर सकते, वह हरियाणा के दबे कुचले और गरीब तबके के लोगों की लड़ाई क्या लड़ेंगे? जो अपनी पार्टी के भीतर संविधान के प्रावधानों की पहरेदारी नहीं कर सकते वह भारत के संविधान की रक्षा का ठेका कैसे ले सकते हैं ? ग्रामोदय अभियान के संयोजक और भाजपा के प्रदेश प्रकाशन विभाग प्रमुख प्रो. वीरेंद्र सिंह चौहान ने यहां आयोजित कांग्रेस की संविधान बचाओ रैली को कांग्रेस की अंदरूनी लड़ाई का एक छोटा सा मोर्चा करार देते हुए यह टिप्पणी की। प्रोफेसर वीरेंद्र सिंह चौहान ने कहा कि कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अशोक तंवर की स्थिति उनकी अपनी पार्टी के भीतर बहुत नाजुक बनी हुई है। राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा के अंगरक्षक उनके साथ मारपीट करते हैं और पार्टी के विधायक अपने प्रदेश अध्यक्ष की कोई परवाह नहीं करते हैं। ऐसी सूरत में अपने अस्तित्व को बचाए रखने के लिए जद्दोजहद कर रहे हैं। चौहान ने कहा कि जो पार्टी अनुसूचित जाति का प्रतिनिधित्व करने वाले अपने प्रदेश अध्यक्ष के मान सम्मान और गरिमा की रक्षा नहीं कर सकती उसके संविधान को बचाने और समाज के कमजोर तबकों का भला करने के दावे भरोसा करने लायक नहीं है। भाजपा नेता ने कहा कि अशोक तंवर संविधान बचाने का राजनीतिक ढोंग रचाने से पहले कांग्रेस पार्टी के संविधान की रक्षा कर यह साबित तो करें कि उनकी पार्टी और उनका संविधान उन्हें ही प्रदेश कांग्रेस का अध्यक्ष मानता है। वीरेंद्र सिंह चौहान ने कहा कि इसी सप्ताह कांग्रेस के तमर विरोधी धडे की अगुवाई कर रहे भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने डंके की चोट पर प्रदेश अध्यक्ष से पूछे या उन्हें बताए बिना मराठा वीरेंद्र वर्मा की लुप्त प्राय पार्टी एकता शक्ति का कांग्रेस में विलय करवा दिया। कांग्रेस अध्यक्ष की हालत इतनी कमजोर है कि उन्हें अखबार में बयान देकर यह कहना पड़ रहा है कि कांग्रेस के संविधान के मुताबिक उनकी यानी प्रदेश अध्यक्ष अशोक तवर की पूर्वानुमति या सहमति के बिना ऐसा कोई मिले हो नहीं सकता। अभिप्राय यह है कि या तो कांग्रेस पार्टी का राष्ट्रीय नेतृत्व अपनी ही पार्टी के संविधान का पालन नहीं कर रहा या फिर खुद हरियाणा प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष अशोक तंवर अपनी पार्टी के संविधान की रक्षा करने में नाकामयाब हो रहे हैं। वीरेंद्र सिंह चौहान ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी और हरियाणा की जनता कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और हरियाणा प्रदेश में उनके नुमाइंदे अशोक तंवर से यह पूछना चाहती हैं कि जो युवा नजर आने वाले नेता अपनी पार्टी के संविधान की रक्षा नहीं कर सकते, उन्हें भारत की युवा शक्ति भारत के संविधान की रक्षा का जिम्मा कैसे दे सकती है। वीरेंद्र सिंह चौहान ने कहा कि कांग्रेस पार्टी संविधान के प्रारूप समिति के अध्यक्ष बाबा साहब भीमराव अंबेडकर का नाम लेकर संविधान रक्षा की रट लगा रही है मगर देश के गरीब तबके के लोगों को यह कभी नहीं बताती कि डॉक्टर भीमराव अंबेडकर को उनके जीवनकाल में कांग्रेस ने किस प्रकार सताया था और केंद्रीय कैबिनेट छोड़ने के लिए मजबूर कर दिया था। अगर कांग्रेस पार्टी बाबा साहब की सच्ची हितैषी होती तो पंडित नेहरू व इंदिरा गांधी से पहले बाबा साहब को भारत रत्न से सम्मानित करती। उन्होंने कहा कि यह कांग्रेस की बाबा साहब के प्रति राजनीतिक घृणा का ही प्रमाण है कि उन्हें भारत रत्न 1990 में दिया गया जबकि स्वर्गीय इंदिरा गांधी को उनके जीते जी 1971 में ही भारत रत्न दे दिया गया था।
 
Have something to say? Post your comment
 
More Haryana News
‘Haryana prof exam questions cut-paste job from handbook’ NDA likely to have Majority in Rajya Sabha by 2021-22
इंजीनियरिंग स्कॉलरशिप टैस्ट में प्रथम आने पर श्रेया गर्ग को मिला लैपटाप
हरियाणा मन्त्रिमण्डल की बैठक जून के प्रथम सप्ताह में होने की संभावना,बैठक में कुछ महत्वपूर्ण फैसले ले सकती है खट्टर सरकार
HARYANA GOVT EMPLOYEES TO GET HOUSE RENT SOON KARNAL- 7 माह से गायब 37 लाख की टिकटें खस्ताहाल जगह मिलीं, कट्‌टे पर धूल तक नहीं, दोबारा छपवाकर रखने का शक HARYANA रोडवेज में छंटनी के मामले ने पकड़ा तूल, 28 को प्रदर्शन यूनियन ने जांच भटकाने के लिए कर्मचारियों को निकालने का आरोप लगाया INLD chief rejects Arora’s resignation नई सरकार का एजेंडा: मध्यम वर्ग पर टैक्स का बोझ और कम किया जा सकता है, जीएसटी के दो स्लैब हो सकते हैं HARYANA रोडवेज में आउटसोर्सिंग पर लगे 325 ड्राइवरों समेत 450 कर्मचारियों काे नौकरी से निकालने के आदेश