Saturday, January 19, 2019
Follow us on
Haryana

मोदी कल देश की सबसे प्रतिष्ठित सडक़ मार्ग परियोजना कुंडली-गाजियाबाद-पलवल एक्सप्रेस-वे (इस्टर्न पैरीफेरल एक्सप्रेस-वे) का उदघाटन करेंगे

May 26, 2018 05:47 PM

प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी कल देश की सबसे प्रतिष्ठित सडक़ मार्ग परियोजना कुंडली-गाजियाबाद-पलवल एक्सप्रेस-वे (इस्टर्न पैरीफेरल एक्सप्रेस-वे) का उदघाटन करेंगे। उदघाटन समारोह को लेकर सभी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं।
आज सोनीपत में एसपीजी, पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों ने सुरक्षा तैयारियों का जायजा लिया और रिहर्सल भी की। कल उदघाटन के बाद सायं 5:00 बजे इस हाईवे को आम लोगों के उपयोग के लिए खोल दिया जाएगा। प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल, केंद्रीय सडक़ परिवहन मंत्री नितिन गडकरी भी इस अवसर पर मौजूद रहेंगे।
इस संबंध में जानकारी देते हुए जिला प्रशासन के प्रवक्ता ने बताया कि उदघाटन समारोह उत्तर प्रदेश के बागपत जिला के खेकड़ा उपमंडल के जिला खेल स्टेडियम में आयोजित एक विशाल समारोह में किया जाएगा। इससे पहले प्रधानमंत्री मोदी प्रात: 11.25 बजे केजीपी पर सोनीपत जिला की सीमा में जाखौली-पबसरा गांव के पास बनाए हैलीपैड पर पहुंचेंगे। इसके बाद वह यहां पर भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण की डिजीटल आर्ट गैलरी का उदघाटन करेंगे। इसके बाद प्रधानमंत्री केजीपी निर्माण में बेहतरीन कार्य करने वाले 62 लोगों के साथ सामुहिक चित्र खिंचवाएंगे। इसके तत्काल बाद प्रधानमंत्री सडक़ मार्ग से सीधे उत्तर प्रदेश के खेकड़ा में पहुंचेंगे और वहां विधिवत तौर पर केजीपी का उदघाटन करेंगे और जनसभा को संबोधित करेंगे।
उन्होंने बताया कि हाईवे के निर्माण के लिए 910 दिन का लक्ष्य रखा गया था लेकिन इसे मात्र 500 दिन में ही बनाकर तैयार कर दिया गया। राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण के प्रोजेक्ट डायरेक्टर ने बताया कि दिल्ली में ट्रैफिक का दबाव कम करने के लिए भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण द्वारा इस्टर्न पैरीफेरल एक्सप्रेस वे (केजीपी) का निर्माण किया गया है। 500 दिन के रिकार्ड समय में यह केजीपी 5763 करोड़ रुपये की लागत से बनकर तैयार किया गया है। यह देश का पहला एक्सिस कंट्रोल हाईवे है और वाहन जितना सफर करेंगे उतना ही टोल देना होगा। उन्होंने बताया कि इस हाईवे में प्रत्येक 500 मीटर पर दोनों तरफ रेन वाटर हार्वेस्टिंग की व्यवस्था की गई है। पूरा हाईवे सौर ऊर्जा से संचालित है। देश की कला व संस्कृति को दर्शाते इंडिया गेट, गेटवे आफ इंडिया, अशोका स्तंभ जैसे 36 स्मारकों की प्रतिकृति स्थापित की गई है। देश के इस पहले एक्सिस कंट्रोल हाईवे के निर्माण के दौरान प्रयुक्त की गई तकनीक, बाधाओं और अन्य कार्यों को भावी पीढ़ी व आने वाले पर्यटकों को दिखाने के लिए एनएचआई द्वारा एक डिजीटल आर्ट गैलरी का निर्माण किया गया है। इस गैलरी में 18 डिस्प्ले तैयार किए गए हैं। जिसमें हाईवे के निर्माण से जुड़ी तमाम जानकारियां समायोजित की गई हैं। यह जानकारी जहां आम लोगों के लिए ज्ञानवर्धक होगी वहीं शोध व इंजीनियरिंग से जुड़े छात्रों को निर्माण से जुड़ी बारीकियां भी प्रदान करेंगे। इससे पहले राई रेस्ट हाउस में सभी अधिकारियों ने कार्यक्रम की समीक्षा मीटिंग भी की और दिशा-निर्देश दिए।
इस अवसर पर एडीजीजी मोहम्मद अकील, आईजी संजय सिंह, उपायुक्त विनय सिंह, डीआईजी एवं एसएसपी सोनीपत सतेंद्र गुप्ता, एसडीएम प्रशांत पंवार सहित सभी विभागों के अधिकारी मौजूद थे।

 
Have something to say? Post your comment
 
More Haryana News
22 को पुलिस आडिटोरियम में होगा नुपूर 2019 का आयोजन 7 किलो 320 ग्राम डोडा पोस्त सहित युवक काबू
औरत का सम्मान करें - डा. केपी सिंह
सभी ग्राम पंचायतें परिवार पहचान पत्र बनवाने में करें प्रशासन का सहयोग, इन पहचान पत्रों के माध्यम से होगा योजनाओं का निर्धारण-अतिरिक्त उपायुक्त 23 जनवरी को बावल में राव इन्द्रजीत सिंह करेगें राव तुलाराम पार्क का उद्घाटन- मंत्री TRIBUNE EDIT-Selection of DGPs And now to make the police citizen-friendly FARMERS-हर साल प्रति हेक्टेयर मिलेंगे "15,000 ! गुजरात-85 लाख करोड़ रुपए निवेश के समझौते हुए। लेकिन वास्तविक निवेश कितना हुआ यह साफ नहीं है। AMBALA-एक ही परिवार के छह सदस्यों को स्वाइन फ्लू HARYANA- अधिकारी दबाए रहते हैं फाइल, 19 करोड़ में से डी-प्लान के 4 करोड़ रुपए ही हुए खर्च कमेटी की एक भी मीटिंग नहीं हुई, विधायक भेजते हैं मनमर्जी के काम