Tuesday, September 25, 2018
Follow us on
Haryana

शहीद सुखबीर सिंह की पुण्यतिथि पर धामलावास में हुआ श्रद्धांजलि समारोह

May 26, 2018 03:33 PM
देश को सर्वाधिक सैनिक देने वाले हरियाणाा के अहीरवाल की भी अपनी विशेषता है हरियाणा से सेना में सबसे अधिक भागीदारी अहीरवाल की ही है। बात चाहे जंग-ए-आजादी की हो या आजादी के बाद सरहद की रक्षा की। यहां के वीर कुर्बानी देने में सबसे आगे रहे है कारगिल के छदम युद्ध में भी अहीरवाल के वीरों ने आगे बढकर शहादत दी। पीठ दिखाने की बजाय सीने पर गाोलियां खाकर दुश्मन के छक्के छुडा दिए।
केन्द्रीय सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री कृष्णपाल गुर्जर ने शहीदों को अपने श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए कहा कि भाजपा सरकार ने शहीदों व उनके आश्रितों का मान बढ़ाया है और उनका पूरा ख्याल रखा है। उन्होंने बताया कि 12 दिसम्बर 1961 को पैदा हुए सुखबीर सिंह के पिता रघुवीर सिंह सेना में कैप्टन थे। बेटे की भावना को देखते हुए ही पिता ने उन्हें बीएसफ में भर्ती करवाया था। 1987 में सुखबीर की पहली नियुक्ति जम्मू-कश्मीर में हुई थी जहां उन्होनें कई आंतकवादियों का सफाया किया। उनकी वीरता के चलते उन्हें सेवा मैडल दिया गया। उन्होंने कहा कि शहीद किसी जाति विशेष के नहीं होते, हमें शहीदों को सदैव याद रखना चाहिए, जो देश व प्रदेश अपने वीर शहीदों को भूल जाते है वे कभी उन्नति नहीं कर सकते। उन्होनें कहा कि अहीरवाल की मिट्टी में देेश सेवा की भावना कूट-कूट कर भरी है।
हरियाणा भाजपा अध्यक्ष सुभाष बराला ने ये उद्गार आज जिले के गांव धामलावास में शहीद सुखबीर सिंह व राजबीर ङ्क्षसह की प्रतिमा पर पुंष्पाजलि अर्पित करने उपरान्त कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए व्यक्त किये। उन्होने कहा कि हम सभी शहीदों के ऋणी है देश की रक्षा के लिए हमारे जवान सदैव तत्पर रहते है और मॉं भारती की रक्षा को सर्वोपरि मानते है। यहां के धामलावास निवासी सुखबीर सिंह ने भी आज के दिन कारगिल में शहादत दी थी कुर्बानी देकर मां भारती का गौरव बढाया था। उनकी पुण्यतिथि पर आज उनके गांव धामलावास में हवन-यज्ञ आयोजित किया गया। उन्होंने कहा कि इस क्षेत्र के शहीदों पर हमें गर्व है और इनके माता-पिता धन्य हैं, जिन्होंने ऐसे वीरों को जन्म दिया।
श्रद्धांजलि समारोह में हरियाणा के शिक्षा मंत्री प्रो. रामबिलास शर्मा ने शहीदों को अपनी श्रद्धांजलि अपर्ति करते हुए कहा कि कारगिल युद्ध के दौरान शहीद हुए सुखबीर सिंह पहले शहीद थे। शर्मा ने कहा कि बीएसएफ के जांबाज अधिकारी डिप्टी कमांडेंट सुखबीर सिंह 26 मई 1999 को सायं लगभग पौने आठ बजे अपने साथियों सहित कारगिल के इलाके में बर्फीली हवाओं के बीच मुस्तैदी से तैनात थे। इस दौरान जब सुखबीर सिंह भारतीय सीमाओं की चौकसी के लिए लगाई चैक पोस्ट का निरीक्षण करने जा रहे थे तब घाटियों के बीच घात लगाए बैठे पाक उग्रवादियों ने उन पर हमला कर दिया था दुश्मनों की गोलियों की बौछारों के बीच सुखबीर विचलित नहीं हुए, बल्कि जवाबी फायर करते हुए उग्रवादियों की ओर दौड रहे थे। 
हरियाणा के जनस्वास्थ्य एवं अभियांत्रिकी मंत्री डा. बनवारी लाल ने धामलावास गांव में पहुंचकर शहीदों को अपनी भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए कहा कि शहीद किसी एक कौम के नहीं होते। हम सबको उन पर नाज है।
उन्होंने कहा कि कारगिल युद्ध में घायल होने के बाद भी सुखबीर सिंह ने धैर्य नहीं खोया। मातृभूमि की रक्षा के लिए अपने साथियों को दुश्मन को खदेडने के आदेश देते रहे। गंभीर रूप से घायल सुखबीर को तत्काल श्रीनगर के आर्मी बेस अस्पताल पहुंचाया गया लेकिन उन्हें बचाया नहीं जा सका। इलाके को उनकी शहादत पर गर्व है।
श्रद्धांजलि देने वालों में संगठन मंत्री सुरेश भट्ट, संदीप जोशी, जिला अध्यक्ष भाजपा योगेन्द्र पालीवाल, लक्ष्मण सिंह छव्वा, जिला महामंत्री प्रीतम चौहान, अजय काटीवाल, अजय मुदगिल, डॉ. हरीश यादव, सतीश खोला, गुरदयाल नम्बरदार, अमित यादव, रामपाल यादव सहित शहीद सुखबीर सिंह के परिवारजनों व अन्य गणमान्य लोगों ने अपनी पुष्पांजलि अर्पित कर शहीद को याद किया।
भाजपा की राष्ट्रीय महामंत्री सुधा यादव ने शहीद सुखबीर सिंह के श्रद्धांजलि समारोह में दूर-दराज के इलाकों से पहुंचे लोगों द्वारा शहीद सुखबीर सिंह को दिए गए प्यार-प्रेम के लिए उनका आभार व्यक्त किया। 
Have something to say? Post your comment
 
More Haryana News
Cleanliness drive in ‘smart city’ Faridabad goes down the drain HARYANA-Video of woman’s woes goes viral, panel orders probe Engineer poses as judge, IAS officer to con people Rains flatten paddy in Hry, growers anxious Gurugram’s rain plan called into question हरियाणा मंत्रिमंडल की बैठक में स्टांप की दरों में कटौती सहित एक दर्जन से अधिक मुद्दों पर चर्चा की संभावना हरियाणा सरकार ने पहली जुलाई, 2018 से संशोधित वेतनमान (सातवें राज्य वेतन आयोग) पर अपने कर्मचारियों के लिए मंहगाई भत्ते में 2 प्रतिशत की वृद्घि करने की घोषणा की प्रदेश के स्वतंत्रता सेनानी व आश्रितों अपनी समस्याओं को लेकर हाईकोर्ट इनेलो की 25 सितम्बर को गोहाना में होने वाली रैली स्थल में पानी भरने की वजह से अब 7 अक्तूबर को गोहाना में ही होगी - अभय चौटाला कैप्टन अभिमन्यु ने अधिकारियों को प्रदेश में सोमवार को हुई तेज़ बरसात से हुए नुकसान का आकलन कर अगले चार दिनों में रिपोर्ट तैयार करने के आदेश दि