Monday, September 24, 2018
Follow us on
Haryana

गोल चक्कर पर अटकेगा चक्का, सुविधाएं भी नहीं

May 23, 2018 06:13 AM

COURSTEY DAINIK TRIBUNE MAY 23

पुरुषोत्तम शर्मा/हप्र
सोनीपत, 22 मई
KGPकेंद्र सरकार का ड्रीम प्रोजेक्ट केजीपी यानी कुंडली-गाजियाबाद-पलवल एक्सप्रेस-वे 27 मई को खोल दिया जाएगा। आधी-अधूरी तैयारी के बीच शुरू हो रहे इस एक्सप्रेस-वे का हाल यह है कि जिस एनएच-एक से इसे जोड़ा गया है, वहीं पर गोल चक्कर नहीं बन पाया है। सुप्रीमकोर्ट की कड़ी फटकार के बाद शुरू हो रहे इस एक्सप्रेस-वे पर यह गोल चक्कर अड़चन बना हुआ है। एनएचएआई अधिकरियों का कहना है कि इसे हरियाणा सरकार ने तैयार कराना है। इसके अलावा उत्तर प्रदेश के खेकड़ा कस्बे में आरओबी का आधा हिस्सा बाकी है। सुरक्षा मानक भी पूरे नहीं हुए। यहीं पर एनएच-एक को केजीपी और केएमपी से लिंक किया जाना है, लेकिन हाईवे पर जोड़ने वाले लिंक रोड नहीं बन पाए हैं। अभी यहां पर कोई रेस्तरां भी शुरू नहीं हो पाया।
पंचर या वाहन ठीक करने वाले भी यहां नहीं हैं। वादा हर तीन किलोमीटर पर एंबुलेंस और सुरक्षा इंतजाम का है। हाईवे पर पेट्रोल पंप भी नहीं है। 135 किलोमीटर लंबे इस एक्सप्रेस-वे पर कहीं-कहीं साइड में लगने वाले रेलिंग का काम भी लटका है। कच्ची मिट्‌टी के कारण सड़क धंसने की भी आशंका है।
जाम का अंदेशा : जो वाहन चंडीगढ़ की दिशा से यूपी की ओर जाना चाहते हैं, वे तो केजीपी पर फर्राटा भरेंगे, लेकिन यूपी से होकर एनएच एक पर पहुंचने वालों को पांच किलोमीटर घूमना होगा। उन्हें प्याऊ मनियारी के पास से यू-टर्न लेकर पानीपत के लिए लेन पकड़नी होगी। इसी तरह दिल्ली लेन से जो भी वाहन केजीपी पर जाना चाहता है, उसे बीसवां मील चौक से यू-टर्न लेना होगा। यहां दोनों ही चौराहों के पास अंडरब्रिज और फ्लाईओवर के काम चल रहे हैं। पहले से ही तंग सड़क पर वाहनों का दबाव बहुत है। ऐसे में हाईवे पर जाम लगाना तय है।
हरियाणा में उतरेगा पीएम का हेलीकॉप्टर, यूपी में ‘चुनावी रैली’
केजीपी एक्सप्रेस-वे के उद्घाटन के लिए 27 मई को आ रहे पीएम नरेंद्र मोदी एक तीर से दो निशाने साधेंगे। उनका चौपर तो उतरेगा हरियाणा में लेिकन ‘चुनावी रैली’ होगी यूपी में। असल में बागपत में रैली के पीछे का मकसद कैराना उपचुनाव भी है। दरअसल, यूपी चुनाव के बाद पीएम मोदी की उत्तर प्रदेश में कोई बड़ी जनसभा या रैली नहीं हुई है। दूसरा , कैराना में भी लड़ाई बहुत कठिन मानी जा रही है। ऐसे में पीएम की रैली को जरूरी माना जा रहा है। कहा तो यहां तक जा रहा है कि 27 मई का समय भी इसीलिए चुना गया है। पहले उद्घाटन जून में प्रस्तावित था। कैराना उपचुनाव को देखते हुए 27 मई तय किया गया। हालांकि केजीपी का असल उद्घाटन तो हरियाणा के पबसरा गांव में होगा। यहीं पर पीएम हेलीकॉप्टर से पहुंचेंगे। फिर वह केजीपी के रास्ते बागपत जाएंगे और यहां कॉलेज ग्राउंड में रैली कर सकते हैं। यहीं पर पीएम डिजिटल आर्ट गैलरी का भी उद्घाटन करेंगे। इसमें केजीपी निर्माण तकनीक व संबंधित रोचक जानकारी से लोग रू-ब-रू होंगे। इस बारे में एनएचएआई के अधिकारी आशीष जैन का कहना है कि केजीपी पर केवल खेकड़ा आरओबी का काम ही बचा है। इसे जल्दी पूरा कर लिया जाएगा।

 

Have something to say? Post your comment