Sunday, November 18, 2018
Follow us on
Haryana

JIND-रात को कूड़ा उठाने के प्लान की सफाईकर्मियों ने निकाली हवा, सभी वाहनों को किया पंक्चर

May 23, 2018 05:41 AM

COURSTEY DAINIK BHASKAR MAY 23

रात को कूड़ा उठाने के प्लान की सफाईकर्मियों ने निकाली हवा, सभी वाहनों को किया पंक्चर

सफाई व्यवस्था बदहाल | सफाईकर्मियों की 13 दिन से चली हड़ताल से सड़कों, कलेक्शन सेंटर पर लगे कूड़े केे ढेर

भास्कर न्यूज | जींद

प्रशासन ने सोमवार शाम को सामाजिक संस्थाओं व अधिकारियों के साथ मिलकर रात को शहर में कलेक्शन सेंटरों से कूड़ा उठाने की प्लान तैयार की थी। इसके लिए पुलिस भी मांगी गई थी। इससे पहले रात को प्रशासन कलेक्शन सेंटरों से कूड़ा उठाने का अभियान शुरू करता। उससे पहले ही 20-25 हड़ताली सफाईकर्मियों ने ट्रैक्टर में सुए घोंपकर अभियान की हवा निकाल दी। इसके बाद प्रशासनिक अमले के पास कलेक्शन सेंटरों से कूड़ा उठाने का न तो कोई प्लान था और न ही कोई संसाधन।
करीब दो घंटे तक एसडीएम वीरेंद्र सहरावत के नेतृत्व में प्रशासनिक अमला डीसी आवास के पास कूड़ा उठाने के लिए जेसीबी का इंतजार करता रहा, लेकिन अमले को जेसीबी नहीं मिल पाई। दरअसल सैकड़ों हड़ताली सफाईकर्मियों के देर रात रामराय गेट पर रविदास मंदिर में एकत्र होने की प्रशासन को मिली सूचना के बाद कूड़ा उठाने का प्रशासन व सामाजिक संस्थाओं का जो अभियान था। वह ठंडा पड़ गया था। कोई टकराव की स्थिति न पैदा हो इसके लिए अभियान को अनिश्चित काल के लिए स्थगित कर दिया गया।
प्रशासनिक अमले ने कूड़ा उठाने को जेसीबी का किया इंतजार पर नहीं मिली
जींद. रात को प्रशासन के कूड़ा उठाने का विरोध करते हड़ताली सफाई कर्मचारी। फोटो | भास्कर
हालात : अब सड़कों पर 1 हजार टन से ज्यादा कूड़ा
शहर में लगातार सफाई व्यवस्था बदहाल हो रही है। सड़कों पर कूड़े के बड़े-बड़े ढेर लगे हैं। एक हजार टन से ज्यादा कड़ा शहर की सड़कों व कलेक्शन सेंटर पर बिखरा पड़ा है। शहर के कई एरिया जिसमें रामराय गेट, झांझ रोड, अर्बन एस्टेट सफीदों बाईपास, बाल भवन के समीप आदि जगहों पर कूड़े के बड़े-बड़े ढेर लग गए हैं। कूड़े से उठ रही बदबू के कारण आसपास में रहने वाले लोगों, वाहन चालकों, राहगीरों को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। कई जगहों पर लोगों द्वारा एकत्र हुए कूड़े का उठान न होने के कारण आग लगाई जा रही जिससे परेशानी हो रही है।
सवाल : क्यों फेल हुआ प्रशासन का अभियान
कूड़ा उठाने के लिए नंदीशाला से जो ट्रैक्टर लाया गया उसे पुलिस सुरक्षा में क्यों नहीं रखा गया।
सफाई अभियान चलाना था तो फिर इसके लिए पहले से पर्याप्त संख्या में ट्रैक्टर-ट्राॅलियों व जेसीबी का प्रबंध क्यों नहीं किया गया।
कूड़ा उठाने के लिए दो घंटे तक प्रशासन को जेसीबी और अन्य साधन क्यों नहीं मुहैया हुए।
प्रशासन का प्लान; एक ट्रैक्टर के सहारे कूड़ा उठाने का प्रयास
प्रशासन का प्लान था कि सोमवार रात को शहर के जिन कलेक्शन सेंटरों पर ज्यादा कूड़ा एकत्र हो गया है। वहां से कूड़ा उठवाया जाए। रात 9 बजे के बाद प्रशासन द्वारा यह अभियान शुरू किया जाना था। इसके लिए डीएसपी पवन कुमार, सिविल लाइन थाना प्रभारी वीरेंद्र खर्ब के नेतृत्व में काफी संख्या में पुलिस बल भी मौके पर पहुंचा। कई सामाजिक संस्थाओं के सदस्य भी इस दौरान सहयोग करने के लिए पहुंचे। नंदीशाला से एक ट्रैक्टर (लोडर) भी लाया गया, लेकिन प्रशासनिक अमला इससे पहले अभियान को शुरू करता ट्रैक्टर टायरों में दो ऑटो में सवार होकर पहुंचे सफाईकर्मियों ने सुए घोंप दिए।
सोमवार रात को संसाधनों के अभाव में व एक ट्रैक्टर की हवा निकाले जाने के कारण कूड़ा उठाने का अभियान नहीं चल पाया। जल्द ही शहर से कूड़ा उठाया जाएगा और इसके लिए लोगों से भी सहयोग लिया जाएगा। '-वीरेंद्र

Have something to say? Post your comment