Monday, September 24, 2018
Follow us on
Haryana

इनहांसमेंट खत्म न हुई तो सीएम हाउस में डालेंगे पड़ाव, 27 से पानीपत में करेंगे आमरण अनशन

May 07, 2018 05:58 AM

COURSTEY DAINIK BHSKAR MAY 7

इनहांसमेंट खत्म न हुई तो सीएम हाउस में डालेंगे पड़ाव, 27 से पानीपत में करेंगे आमरण अनशन

हिसार में सेक्टरवासियों की सरकार जगाओ-इनहांसमेंट भगाओ-आशियाना बचाओ रैली

भास्कर न्यूज | हिसार

इनहांसमेंट के विरोध में रविवार को पुराना गवर्नमेंट कालेज मैदान में आयोजित सरकार जगाओ रैली में करीब 15 जिलों के सेक्टरवासी पहुंचे। सेक्टरवासियों के अलावा रैली में बाजारों की एसोसिएशन ने हिस्सा लिया। सेक्टरवासियों ने परिवार की महिलाआें और बच्चों के साथ पहुंचकर हाथ उठाकर इनहांसमेंट का एक भी पैसा न भरने की शपथ ली। सेक्टरवासियों ने सरकार जगाओ इनहांसमेंट भगाओ आशियाना बचाओ रैली के दौरान सेक्टरवासियों ने मंच से ऐलान किया कि इनहांसमेंट खत्म करवाने के लिए पहले उन्होंने पीएम व सीएम को एक लाख लेटर खून से लिखकर भेजे। मगर सरकार टस से मस नहीं हुई।
स्टेट कन्वीनर यशवीर मलिक ने आरोप लगाया कि आंकड़ों से सिद्ध कर दिया कि सरकारें केवल लूटने का काम कर रही हैं। फिर हमने जिला वाइज धरने लगाए। इस पर सरकार के कान पर जरा भी जूं तक नहीं रेंगी। ऊपर से सरकार ने साजिश की। सरकारी घोषणाएं करवाई गई कि ये सरकार ऐसा कानून बनाएगी कि लोग ताली पिटेंगे।
मलिक ने आरोप लगाया कि सीएम के मीडिया एडवाइजर राजीव जैन ने मीडिया के माध्यम से एक समिति बनाने की बात कही। फिर समिति बन गई। कहा भाइयों ये तीन दिन की समिति पहली बार देखी। फिर घोषणा की कि 60 प्रतिशत भर दो वो भी 2 महीने के समय के साथ। अगर किसी को लोन लेना है तो वो भी सरकार दिलवा देगी। यानी हम हमारे मकान गिरवी रखकर सरकार को पैसे दे दें। उन्होंने पंडाल में बैठी जनता से पूछा कि क्या ये मंजूर है भाइयों। एकत्रित लोगों ने हाथ उठाकर मलिक की बात का समर्थन किया।
इनहांसमेंट का काला कानून पूरी तरह खत्म करने की मांग
हिसार | सरकार जगाओ रैली में रविवार को इनहांसमेंट न भरने की शपथ लेते प्रदेश भर के सेक्टरवासी। फोटो- भास्कर
बच्चे पूछ रहे- इनहांसमेंट खत्म हुई या पुलिस निकाल देगी
स्टेट कन्वीनर ने कहा कि ये इनहांसमेंट इतनी खतरनाक बीमारी है कि इसका असर बच्चों पर भी आने लगा है। उन्होंने कहा कि दो दिन पहले बच्ची पूछने लगी कि क्या ये इनहांसमेंट खत्म हो गई या नहीं? मैंने कहा- नहीं क्या हुआ? उसने कहा कि फिर तो हमें हुडा वाले निकाल देंगे, इनके पास तो पुलिस है। मलिक ने कहा कि ये कोई एक बच्चे या परिवार की कहानी नहीं है ऐसा पूरे सेक्टरवासियों के साथ हो रहा है।
भास्कर न्यूज | हिसार
इनहांसमेंट के विरोध में रविवार को पुराना गवर्नमेंट कालेज मैदान में आयोजित सरकार जगाओ रैली में करीब 15 जिलों के सेक्टरवासी पहुंचे। सेक्टरवासियों के अलावा रैली में बाजारों की एसोसिएशन ने हिस्सा लिया। सेक्टरवासियों ने परिवार की महिलाआें और बच्चों के साथ पहुंचकर हाथ उठाकर इनहांसमेंट का एक भी पैसा न भरने की शपथ ली। सेक्टरवासियों ने सरकार जगाओ इनहांसमेंट भगाओ आशियाना बचाओ रैली के दौरान सेक्टरवासियों ने मंच से ऐलान किया कि इनहांसमेंट खत्म करवाने के लिए पहले उन्होंने पीएम व सीएम को एक लाख लेटर खून से लिखकर भेजे। मगर सरकार टस से मस नहीं हुई।
स्टेट कन्वीनर यशवीर मलिक ने आरोप लगाया कि आंकड़ों से सिद्ध कर दिया कि सरकारें केवल लूटने का काम कर रही हैं। फिर हमने जिला वाइज धरने लगाए। इस पर सरकार के कान पर जरा भी जूं तक नहीं रेंगी। ऊपर से सरकार ने साजिश की। सरकारी घोषणाएं करवाई गई कि ये सरकार ऐसा कानून बनाएगी कि लोग ताली पिटेंगे।
मलिक ने आरोप लगाया कि सीएम के मीडिया एडवाइजर राजीव जैन ने मीडिया के माध्यम से एक समिति बनाने की बात कही। फिर समिति बन गई। कहा भाइयों ये तीन दिन की समिति पहली बार देखी। फिर घोषणा की कि 60 प्रतिशत भर दो वो भी 2 महीने के समय के साथ। अगर किसी को लोन लेना है तो वो भी सरकार दिलवा देगी। यानी हम हमारे मकान गिरवी रखकर सरकार को पैसे दे दें। उन्होंने पंडाल में बैठी जनता से पूछा कि क्या ये मंजूर है भाइयों। एकत्रित लोगों ने हाथ उठाकर मलिक की बात का समर्थन किया।
रैली में एक मांग पर 3 बड़े ऐलान
1. अब सेक्टरवासी अपनी सहमति पर शपथपत्र सीएम को भेजेंगे कि वे अपनी किडनी सरकार को देने को तैयार है। सरकार इसका सौदा करके इससे आने वाले पैसे से इनहांसमेंट भर ले।
2. पानीपत की ऐेतिहासिक धरती पर 27 मई से आमरण अनशन शुरू करेंगे। इसके बाद भी सरकार नहीं मानी तो सेक्टरवासी बच्चों और परिवार के साथ सीएम के आवास में महापड़ाव डालेंगे। इस संघर्ष से पीछे नहीं हटेंगे।
3. चुनाव में सेक्टरवासी वोट नहीं देंगे। इनहांसमेंट से 30 लाख लोग प्रभावित है, राजनीतिक दल के लोगों को वोट मांगने के लिए सेक्टरों में भी नहीं घुसने देंगे

Have something to say? Post your comment