Monday, September 24, 2018
Follow us on
Haryana

एसवाईएल: जेल भरो आंदोलन में गिरफ्तारी देने इनेलो-बसपा कार्यकर्ता निर्माण होने तक जेल में बंद रहेंगे -अभय सिंह चौटाला

May 05, 2018 07:01 PM

चंडीगढ़, 5 मई: आगामी 11 मई को सिरसा में इनेलो-बसपा गठबंधन की ओर किए जाने वाले ‘जेल भरो आंदोलन’ में गिरफ्तारी देने इनेलो-बसपा कार्यकर्ता तब तक जेल में बंद रहेंगे जब तक केन्द्र सरकार एसवाईएल नहर का निर्माण कार्य शुरू नहीं कर देती। ये बात नेता प्रतिपक्ष चौधरी अभय सिंह चौटाला ने इनेलो-बसपा की संयुक्त बैठक को सिरसा में संबोधित करने के बाद पत्रकारों से बातचीत करते हुए कही। उन्होंने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि इनेलो ने एसवाईएल नहर के निर्माण कार्य को शुरू करवाने के लिए 23 फरवरी 2017 से चार चरणों में सडक़ पर उतरकर आंदोलन किया था लेकिन उसके बावजूद भी सरकार ने एसवाईएल नहर के निर्माण को शुरू करवाने में कोई रूचि नहीं ली।

नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि इनेलो ने एसवाईएल की लड़ाई को लड़ते हुए केन्द्र सरकार के कानों में आवाज पहुंचाने के लिए दिल्ली के रामलीला मैदान में बीती 7 मार्च को विशाल रैली कर किसानों की आवाज को केन्द्र सरकार तक पहुंचाने का काम किया और वहीं से ये ऐलान किया था कि अगर मई तक सरकार ने इस पर कोई निर्णय नहीं लिया तो हम 1 मई से गिरफ्तारियां देने का काम करेंगे। उन्होंने कहा कि 1 मई को भिवानी से शुरू हुए जेल भरो आंदोलन को लोगों को भारी समर्थन मिला है और सिरसा में 11 मई को होने वाला जेल भरो आंदोलन ऐतहासिक होगा। उन्होंने कहा कि देश और प्रदेश में पूंजीपतियों की सरकार ने हमेशा से ही किसान और कमेरे वर्ग को दबाने का काम किया है लेकिन अब देश में बहन मायावती के नेतृत्व में बनने वाला तीसरा मोर्चा देश में किसान और कमेरे की सरकार बनाने का काम करेगा।
इनेलो नेता ने कहा कि वर्ष 2014 में भाजपा की सरकार बनाना लोगों की मजबूरी थी क्योंकि देश के लोग कांग्रेस के दस सालों के राज से परेशान हो चुके थे और उन्होने भाजपा के प्रधानमंत्री पद के दावेदार नरेन्द्र मोदी की बातों पर विश्वास कर लिया। उन्होंने कहा कि देश के प्रधानमंत्री मोदी ने चुनाव से पूर्व लोगों से लंबे-चौड़े वादे किए थे लेकिन उनमें से पूरा किसी को भी नहीं किया है। उन्होने कहा कि इसी प्रकार हरियाणा में भाजपा के नेताओं से सरकार बनने से पहले जो वायदा किया था, उनमें से किसी पर भी कोई काम नहीं किया। उन्होंने कहा कि आज चाहे गेस्ट टीचर हो या फिर आशा वर्कर, हर वर्ग मांगों को लेकर सडक़ों पर उतरा हुआ है लेकिन भाजपा ने अपने किसी भी वायदे को पूरा नहीं किया है। उन्होंने कार्यकर्ताओं से 11 मई को होने वाले जेल भरो आंदोलन को सफल बनाने की आह्वान करते हुए कहा कि 11 मई को एक-एक कार्यकर्ता 10-10 लोगों को अपने साथ लाने का प्रण आज यहां से लेकर जाएं तभी किसान और कमेरे की आवाज को बल मिलेगा और ये गूंंगी-बहरी सरकार अपनी नींद से जागेगी।
कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए हिसार से सांसद दुष्यंत चौटाला ने कहा कि भिवानी से शुरू हुए जेल भरो आंदोलन की जबरदस्त शुरूआत हुई है और सिरसा को इस आंदोलन को ऐतिहासिक बनाना है। उन्होंने कहा कि देश और प्रदेश के हालात आज बेहद खराब हैं क्योंकि किसान-कमेरा और आम-आदमी सभी बुरे दौर से गुजर रहे है। किसानों को स्वामीनाथन रिपोर्ट को लागू करने का वायदा कर सत्ता में आए लोग आज किसान को भूल गए हैं और यही कारण है कि आज प्रदेश और देश के किसान की हालत बद से बदतर हो गई है। उन्होने कार्यकर्ताओं से जी-तोड़ मेहनत करने की अपील करते हुए कहा कि ये लड़ाई केवल किसान की ही नहीं बल्कि हर उस वर्ग की है जो सरकार की नीतियों से आज परेशान है। इस मौके पर बसपा के वरिष्ठ नेता विनोद बिलनी ने कार्यकर्ताओं को गठबंधन की बधाई देते हुए कहा कि इस गठबंधन से दूसरी पार्टियों के पेट में मरोड़े उठ रहे हैं क्योंकि उन्हें ये स्पष्ट हो गया है कि आने वाली सरकार इनेलो-बसपा गठबंधन की है।

Have something to say? Post your comment