Thursday, July 19, 2018
Follow us on
Haryana

हरियाणा में स्थापित की जाने वाली प्रत्येक योग एवं व्यायामशालाओं में योग शिक्षकों की नियुक्ति भी की जाएगी :मनोहर लाल

May 05, 2018 05:43 PM
हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने आज घोषणा की कि राज्य में स्थापित की जाने वाली प्रत्येक योग एवं व्यायामशालाओं में योग शिक्षकों की नियुक्ति भी की जाएगी और अब तक 180 व्यायामाशालाओं में योग शिक्षक नियुक्त कर दिये गए हैं। पहले चरण में 1000 गांवों में योग शालाए बनाने का लक्ष्य है।
मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने आज जिला पंचकूला के गाँव कनौली से प्रदेश में एक साथ 309 योग एवं व्यायामशालाओं का उद्घाटन करने के बाद एक जनसमूह को सम्बोधित कर रहे थे। इस अवसर पर उनके साथ विकास एवं पंचायत मंत्री श्री ओम प्रकाश धनखड़ भी उपस्थित थे। 
मुख्यमंत्री ने कहा कि एक साथ इतनी बड़ी संक्चया में योग एवं व्यायामशालाओं का शुभारंभ होना इस बात का प्रतीक है कि राज्य सरकार प्रदेश के भौतिक विकास के साथ-साथ प्रदेशवासियों विशेषकर, बच्चों और युवाओं के अच्छे स्वास्थ्य के लिए भी प्रतिबद्ध है।
उन्होंने कहा कि हमारे बच्चे, जवान और बुजुर्ग स्वस्थ और निरोगी हों ताकि हम एक ऊर्जावान समाज की स्थापना कर सकें।  उन्होंने कहा कि इन योग एवं व्यायामशालाओं का रखरखाव गांव के स्थानीय लोग अपने हाथों में लें। उन्होंने कहा कि हमारा लक्ष्य 1000 योग एवं व्यायाशालाएं स्थापित करने का है।
उन्होंने कहा कि योग शारीरिक, मानसिक, नैतिक और आध्यात्मिक रूप से स्वस्थ बनने का मूलमंत्र है। उन्होंने कहा कि योग हमारी प्राचीन विधा है। हमारे देश के प्रधानमंत्री ने इस विधा को अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर अनूठी पहचान दिलवाई है। इसी का परिणाम है जो यूएनओ द्वारा 21 जून को अंतरराष्ट्रीय योग दिवस घोषित किया गया है।  उन्होंने कहा कि जहां योग एवं व्यायामशालाएं बन गई हैं वहां के प्रबंधक और शिक्षक लोगों को 21 जून तक लगातार योग अभ्यास करवाएं और 21 जून को सामूहिक योग की प्रतियोगिता इन सभी स्थानों पर होगी।
उन्होंने कहा कि पतंजलि योगपीठ ने पूरे देश में योग शिक्षा का प्रचार-प्रसार किया है। हरियाणा में भी ये लोग अपनी सेवाएं दे रहे हैं। सरकार की ओर से पतंजलि योग पीठ को सहायता उपलब्ध करवाई जाएगी। उन्होंने कहा कि जो भी पंचायत दो एकड़ जमीन उपलब्ध करवाएगी, वहां पर पार्क एवं व्यायामशालाएं खोली जाएंगी। वहां सैर के लिए टै्रक, योगशाला व कबड्डी-वालीबाल के लिए ग्राउंड का उपयोग हो सकेगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि जब 26 अक्तूबर 2014 को सत्ता संभाली थी उस समय उन्होंने योग, कुश्ती-कबड्डी जैसे ग्रामीण पृष्ठ भूमि के परंपरागत खेलों  के क्षीण होने की बात ध्यान में आई थी और उस समय उन्होंने खेलों को फिर से जीवंत करने की योजना बनाई थी और आज वह 309 पार्क व व्यायामशालाओं के एक साथ उदघाटन के साथ पूरी हो गई। 
विकास एवं पंचायत मंत्री श्री ओम प्रकाश धनखड़ ने कहा कि मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल के पांच मई के जन्म दिन के साथ ही आज पंचकूला के विकास में ही नहीं बल्कि हरियाणा के विकास में एक नया  अध्याय जुड़ गया है। मुख्यमंत्री ने आज प्रदेश के लोगों को एक साथ 309 पार्क एवं व्यायायामशालाओं की सौगात दी है। पहले लोग सडक़  के किनाने दोड़ते थे और खाली  खेतों में योग अभ्यास किया करते थे, परंत अब उन्हें सामूहिक रूप से योग करने के साथ-साथ सुबह-शाम सैर करने व अन्य गतिविधियों के लिए सामूहिक स्थान उपलब्ध हुआ है। उन्होंने कहा कि ग्रामीण क्षेत्र में पहली बार ओपन जिम, टै्रैक, खेल मैदान व योग शिक्षक की व्यवस्था सरकार ने की है जबकि पिछली सरकार ने  ग्रामीण खेल स्टेडियमों के नाम पर केवल दीवारें खड़ी की। 
श्री धनखड़ ने कहा कि हाल ही में संपन्न हुए राष्ट्र मंडल खेलों में हरियाणा के खिलाडिय़ों ने 22 मेडल प्राप्त किए जो भारत के मेडलों का एक तिहाई है। वे चाहते हैं कि हर पार्क व व्यायामशाला से कोई-कोई खिलाड़ी देश के लिए मेडल लेकर आए। उन्होंने कहा कि  बच्चों को संस्कारवान बनाने के लिए राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ व आर्य समाज या कोई अन्य संस्थान भी इन पार्क व व्यायामशालाओं का सामूहिक रूप से उपयोग कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि बेहतर से बेहतर हम ग्रामीण विकास में करना चाहते हैं। हरियाणा का नाम खेती, फौजी व खिलाडिय़ों के लिए जाना जाता है और भविष्य की मेडल सूची में हरियाणा एक नया अध्याय जोड़ेगा। 
पंचकूला के विधायक एवं मुक्चय सचेतक ज्ञानचंद गुप्ता ने मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल व विकास एवं पंचायत मंत्री ओमप्रकाश धनखड़ का आभार व्यक्त किया पंचकूला जैसे सबसे छोटे जिले में सात पार्क व व्यायायमशालाओं की सौगात दी है। उन्होंने बताया कि जिला के गांव कनौली, भूड़, बतौड़, दंदलावड, भांवली, नानकपुर व खेड़ांवाली गांव में 29-29 लाख रूपए की राशि खर्च कर इनका निर्माण करवाया गया है। इसके साथ-साथ इन सभी व्यायामशालाओं में पार्क की व्यवस्था भी की गई है। 
इससे पूर्व मुख्यमंत्री ने बड़, पीपल और नीम की त्रिवेणी का पौधारोपण भी किया। इस अवसर पर राजकीय कन्या वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय कोट के स्कूली बच्चों ने सूर्य नमस्कार सहित अन्य योगासनों का प्रदर्शन किया। साथ ही कबड्डी मैच का आयोजन भी किया गया, जिसमें लायन ब्लैक ने लायन ब्लू को 17 के मुकाबले 8 अंकों से पराजित किया। मुख्यमंत्री ने खिलाडिय़ों को सम्मानित किया और भविष्य में स्वास्थ्य के प्रति जागरुक रहने का अभियान चलाने की सलाह दी। गांव की सरपंच सोनिया व अन्य लोगों ने इलाके की ओर से मुख्यमंत्री को पगड़ी व तलवार भेंट कर सम्मान किया। 
इस अवसर पर हरियाणा के शिक्षा मंत्री रामबिलास शर्मा, वाणिज्य एवं उद्यौग मंत्री विपुल गोयल, अंबाला लोकसभा सांसद रतन लाल कटारिया, जिला परिषद की चेयरपर्सन रितु सिंगला, भाजपा के जिला प्रधान दीपक शर्मा, विकास एवं पंचायत विभाग के  प्रधान सचिव सुधीर राजपाल, निदेशक संजय जून, सूचना, जन संपर्क एवं भाषा विभाग के महानिदेशक समीर पाल सरो, उपायुक्त मुकुल कुमार, डीसीपी राजेन्द्र कुमार मीणा सहित अन्य अधिकारी व काफी संख्या में खेल प्रेमी भी उपस्थित थे। 
Have something to say? Post your comment
 
More Haryana News
हरियाणा के सभी विधानसभा हलकों में खोले जाएंगे पार्टी कार्यलय हरियाणा के मुख्य सचिव ने निर्देश दिये हैं कि चुनाव से जुड़े किसी भी अधिकारी या कर्मचारी को पहली सितम्बर, 2018 से फोटो मतदाता सूची के विशेष पुनर्रीक्षण का कार्य पूरा होने तक स्थानांतरित नहीं किया जाए। हरियाणा में चुनाव प्रक्रिया में निशक्तजनों की भागीदारी का निरीक्षण करने के लिए एक राज्य स्तरीय परामर्श समिति गठित की गई HARYANA-मोदी की मलोट रैली में भेजीं हरियाणा की 150 सरकारी बसें HARYANA-सवाल-सीएम कैसे लगते हैं, आवाज आई-‘अच्छे नहीं’ 55 गांवों के किसानों ने एसई कार्यालय को घेरा बोले, फ्लडी नहरों में मोगे लगाने में शर्तें मंजूर नहीं इनेलो विधायक के बाद कृष्ण पहलवान की करनी थी हत्या, दिचाउ गैंग के 4 बदमाश पकड़े कांग्रेस वर्किंग कमिटी की लिस्ट में हरियाणा के चार युवाओं को तवज्जो क्रिकेट मैच पर फंटरों को सट्टा खिलाने वाले बुकिज के खिलाफ देर रात सीआईए रेवाड़ी व धारूहेड़ी की टीम ने बड़ी कार्रवाई की हरियाणा सरकार ने निर्णय लिया है कि पांच जिलों के आंगनवाड़ी केन्द्रों में चल रही फोर्टिफाइड कोटनसीड और सोयाबीन तेल की पायलट आपूर्ति योजना को आगामी 1 सितम्बर, 2018 तक राज्य के सभी जिलों की सभी आंगनवाड़ी केन्द्रों में शुरू कर दिया जाएगा