Friday, July 20, 2018
Follow us on
BREAKING NEWS
राहुल गांधी कल अविश्‍वास प्रस्‍ताव के दौरान लोकसभा में देंगे स्‍पीच: आनंद शर्मा मिदनापुर: PM की रैली में घायल हुए लोगों से मिलने अस्‍पताल पहुंचीं ममता बनर्जी यूपी: देवरिया जेल पर डीएम ने मारा छापा, 1 मोबाइल, 4 पेन ड्राइव और चाकू बरामदसंसद भवन में 22 जुलाई को होगी कांग्रेस की कार्यसमिति की बैठक चार्जशीट फाइल करने के लिए सीबीआई पर दबाव डाला गया है: पी. चिदंबरम क्‍या औरतों को प्रार्थना करने का समान अधिकार नहीं: सबरीमाला पर जया बच्चन क्‍या औरतें पुरुषों से कमतर हैं: सबरीमाला पर जया बच्चनशहीद गुरसेवक के विद्यालय में मनाया गया वन महोत्सव, अध्यापकों व बच्चों ने लगाए 100 से अधिक पौधे
Haryana

HARYANA-परीक्षा में ब्राह्मण समाज पर आपत्तिजनक सवाल से बवाल

May 05, 2018 05:22 AM

COURSTEY DAINIK TRIBUNE MAY 5

परीक्षा में ब्राह्मण समाज पर आपत्तिजनक सवाल से बवाल
केसी अरोड़ा/निस
गोहाना, 4 मई

गोहाना में विवादित प्रश्नपत्र दिखाते ब्राह्मण समाज के लोग। -निस

हरियाणा स्टाफ सिलेक्शन कमीशन (एचएसएससी) की ओर से 10 अप्रैल को ली गई जूनियर सिविल इंजीनियर पद की परीक्षा के प्रश्नपत्र में 75वें नंबर के प्रश्न के उत्तर के लिए दिए विकल्पों पर विवाद खड़ा हो गया है। ब्राह्मण समाज ने इन विकल्पों को अपमानजनक बताते हुए प्रश्न पत्र तैयार करने वाले व्यक्ति के खिलाफ आपराधिक केस दर्ज करने की मांग की है। प्रश्नपत्र में सवाल पूछा गया है- कौन-सा हरियाणा में अपशगुन नहीं माना जाता है?
इसके उत्तर में चार विकल्प दिए गए हैं।
पहला : खाली घड़ा, दूसरा : फ्यूल भरा कास्केट, तीसरा: काले ब्राह्मण से मिलना, चौथा : ब्राह्मण कन्या को देखना।
ब्राह्मण समाज के लोगों ने इस संबंध में मुख्यमंत्री, राज्यपाल, शिक्षा मंत्री, राज्यसभा सांसद, लोकसभा सांसद और पुलिस अधीक्षक को शिकायत भेजी है। बलराम कौशिक, भानु प्रकाश शर्मा, सूरजमल छपरा, सुनील वत्स, राजेंद्र शर्मा, जयवीर शर्मा, सुरेश शर्मा, रामनिवास कौशिक, विनोद वत्स, सुनील वशिष्ठ व अन्य ने तीसरे और चौथे विकल्पों पर गहरी नाराजगी जाहिर करते हुए कहा कि प्रश्न पत्र में समाज के लोगों को नीचा दिखाने का काम किया गया है। इससे ब्राह्मण समाज की भावनाओं को ठेस पहुंची है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में जातिगत टिप्पणी कर भाईचारा बिगाड़ने की कोशिश की जा रही है।

जींद में शुक्रवार को प्रदर्शन करते ब्राह्मण समाज के लोग। -हप्र

जींद में एसपी को ज्ञापन, केस दर्ज हो
जींद (हप्र): हरियाणा स्टाफ सिलेक्शन कमीशन की ओर से आयोजित परीक्षा में ब्राह्मण समाज के संबंध में पूछे गए विवादित सवाल को लेकर शुक्रवार को समाज के लोगों ने अखिल भारतीय ब्राह्मण आरक्षण संघर्ष समिति के बैनर तले प्रदर्शन किया और कमीशन के खिलाफ मामला दर्ज करने की मांग को लेकर एसपी डॉ. अरुण नेहरा को ज्ञापन सौंपा। दीपक शर्मा, धीरू भाई वत्स, धुलिया, राम वशिष्ठ, हरिओम भारद्वाज, प्रवीण, विजय, जगमोहन अत्री, मनोज कौशिक, सचिन, नीरज वत्स व अन्य इस दौरान मौजूद रहे।

प्रश्नपत्र में पूछे गए हैं अटपटे सवाल
ब्राह्मण समाज के लोगों ने कहा कि प्रश्नपत्र में विषय से हटकर अटपटे सवाल पूछे गए। परीक्षा में प्रश्न नंबर 75 में पूछा गया कि कौन सा हरियाणा में अपशकुन नहीं माना जाता है? इस संदर्भ में एचएसएससी की परीक्षा की उत्तर कुंजी डालने पर पाया गया कि इसका सही उत्तर ब्राह्मण कन्या को देखना दर्शाया गया है। इसके तहत बाकी बचे ऑप्शन में क्या काले ब्राह्मण से मिलना अपशकुन है? उन्होंने कहा कि बोर्ड के चेयरमैन व प्रश्न पत्र तैयार करने वाले व्यक्ति के खिलाफ केस दर्ज होना चाहिए

Have something to say? Post your comment
 
More Haryana News
शहीद गुरसेवक के विद्यालय में मनाया गया वन महोत्सव, अध्यापकों व बच्चों ने लगाए 100 से अधिक पौधे भारत सरकार द्वारा स्टूडेंट पुलिस कैडेट(एसपीसी) नामक नया कार्यक्रम शुरू किया जा रहा है हरियाणा माध्यमिक शिक्षा विभाग द्वारा स्कूलों में प्रिंसिपल के पद पर पदोन्नति करने के लिए राज्य के सरकारी स्कूलों में सेवारत पी.जी.टी तथा हैडमास्टरों के केस 20 दिन के अंदर मांगे गए हरियाणा उच्चतर शिक्षा विभाग ने छह विषयों के सभी 530 एसिसटैंट प्रोफेसरों को राज्य के सरकारी कालेजों में पोस्टिंग स्टेशन अलॉट कर दिए खिसियानी बिल्ली खंभा नोचे.. और विधानसभा से गायब सुरजेवाला मीडिया में बड़ बड़ बोले : जवाहर यादव पूर्व डीआईजी सतपाल रंगा पुलिस अकेडमी के ट्रेनिंग सलाहकार नियुक्त हरियाणा सरकार ने अभिज्ञात अपराध योजना (आइडटिंफाइड क्राइम स्कीम) शुरू करने का निर्णय किया हरियाणा सरकार ने मत्स्य पालन के व्यवसाय में लगे या इसके इच्छुक अनुसूचित जाति के परिवारों की भलाई के लिए विभिन्न अनुदान योजनाएं शुरू की हरियाणा सरकार ने तुरंत प्रभाव से प्रदेश में नये पायरोलिसिस प्लांट्स की स्थापना पर प्रतिबंध लगाने का निर्णय लिया प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने खरीफ की फसलों के समर्थन मूल्य में ऐतिहासिक बढ़ोतरी की:रणधीर सिंह कापडीवास