Tuesday, October 16, 2018
Follow us on
Haryana

HARYANA-पीडब्ल्यूडी मंत्री और नेता प्रतिपक्ष समेत 13 विधायकों ने खर्च नहीं किया एक पैसा

April 23, 2018 05:56 AM

COURSTEY DAINIK BHASKAR APRIL 23

विधायक आदर्श ग्राम योजना

भास्कर पड़ताल: 10 हजार से ज्यादा आबादी वाले गांव पर खर्च होंगे 2 करोड़ रुपए

भास्कर न्यूज | पानीपत/राजधानी हरियाणा
विधायक आदर्श ग्राम योजना में विधायकों के गोद लिए गांवों में विकास के लिए सरकार ने 49 करोड़ रुपए की राशि जारी की। हकीकत में अभी तक 13 करोड़ रुपए ही खर्च हुए हैं। 14 विधायक ऐसे हैं, जिन्होंने पैसा जारी होने के बावजूद एक पैसा खर्च नहीं किया। इनमें पीडब्ल्यूडी मंत्री राव नरबीर सिंह और नेता प्रतिपक्ष अभय सिंह चौटाला भी शामिल हंै। मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने गोद लिए गांव कोरक के विकास के लिए 15.35 लाख रुपए खर्च किए हैं। ग्रामीण विकास मंत्री धनखड़ के गोद लिए गांव पटौदा के लिए 89.13 लाख रुपए स्वीकृत हुए, लेकिन वह भी 46.65 लाख रुपए खर्च कर पाए। सरकार ने अब यह निर्णय लिया है कि अब योजना में शामिल 5 हजार की आबादी वाले गांवों में 50 लाख रुपए तक खर्च किए जाएंगे। 5 से 10 हजार की आबादी वाले गांवों में 1 करोड़ और 10 हजार आबादी वाले गांवों के विकास के लिए 2 करोड़ रुपए खर्च होंगे।
पीडब्ल्यूडी मंत्री और नेता प्रतिपक्ष समेत 13 विधायकों ने खर्च नहीं किया एक पैसा
इन विधायकों ने एक पैसा नहीं किया खर्च
अभय सिंह चौटाला के गोद लिए गांव को 99.11 लाख मंजूर पर राशि विकास पर खर्च नहीं। पीडब्ल्यूडी मंत्री नरबीर के गांव काकरोला के लिए 90.82 लाख, हांसी से रेनूका बिश्नोई को 93.54 लाख, तिगांव से ललित नागर को 94.97 लाख, पृथला से उदयभान को 95.09 लाख, सफीदों से जसबीर को 87.88 लाख, इंद्री से कर्णदेव कंबोज को 30.94 लाख, पेहवा से जसविंद्र सिंह संधू को 89.59 लाख, रेवाड़ी से रणधीर सिंह कापड़ीवास को 88.44 लाख, सिरसा से मक्खन लाल सिंगला को 87.85 लाख, कालांवाली से बलकौर सिंह को 88.65 लाख, डबवाली से नैना सिंह चौटाला को 62.95 लाख, साढ़ौरा से बलवंत सिंह को 89.66 लाख और यमुनानगर से घनश्याम दास को 90.42 लाख रुपए उनके गोद लिए गांवों के लिए मंजूर हुए।इन्होंने इन गांवों में एक पैसा खर्च नहीं किया।
सीएम ने लगाए 15.35 लाख- मंत्रियों का यह है हाल
स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज की ओर से गोद लिए गांव पंजोखरा पर 53 लाख रुपए की राशि जारी की जा चुकी है। अभी तक इसमें 11 लाख 5 हजार रुपए ही खर्च किए हैं। आंगनबाड़ी केंद्र, मीटिंग हाल, हरिजन चौपाल के लिए पैसा जारी होने के बाद भी एक पैसा खर्च नहीं किया।
राज्य मंत्री नायब सिंह सैनी के गोद लिए गांव हुसेनी के लिए 95 लाख 25 हजार रुपए स्वीकृत हुए हैं। इनमें उन्होंने मात्र 3 लाख खर्च किए हैं।
खाद्य आपूर्ति मंत्री कर्णदेव कंबोज ने गांव बयाना गोद लिया हुआ है। 30.94 लाख जारी हुए हैं, लेकिन विकास पर एक पैसा नहीं लगाया।
शिक्षा मंत्री रामबिलास शर्मा ने गांव नांगल सिरोही को गोद लिया हुआ है। विकास के लिए एक करोड़ 5 लाख 83 हजार रुपए जारी हो चुके हैं। अभी तक 31.45 लाख ही खर्च किए हैं।
सहकारिता मंत्री मनीष ग्रोवर ने गांव समरगोपालपुर कलां को गोद लिया हुआ है। गांव के विकास के लिए 89 लाख 42 हजार रुपए जारी हो चुके हैं। 25.61 लाख ही विकास पर पर लगाया है।
राज्य मंत्री कृष्ण कुमार बेदी की ओर गोद लिए गांव के विकास के लिए 58.81 लाख रुपए जारी हुए। खर्च 17.5 लाख रुपए ही हुए हैं।
नगर निकाय मंत्री कविता जैन ने गोद लिए गांव मोहना के विकास के लिए 21.45 लाख रुपए खर्च किए हैं।
उद्योग मंत्री विपुल गोयल और स्वास्थ्य मंत्री डॉ बनवारी की ओर से गोद लिए गांवों का कहीं कोई जिक्र नहीं है।
भाजपा प्रदेशाध्यक्ष सुभाष बराला ने गांव ढाणी सांचला को गोद लिया हुआ है। इसके लिए 86.62 लाख रुपए स्वीकृत हुए। खर्च 38.14 लाख हैं।
यह भी जानिए
कांग्रेस विधायक दल की नेता किरण चौधरी ने के गोद लिए गांव दिनोद के लिए 1 करोड़ 82 लाख रुपए मंजूर हुए। खर्च 48 लाख 12 हजार रुपए किए

Have something to say? Post your comment