Tuesday, September 25, 2018
Follow us on
BREAKING NEWS
हिमाचल प्रदेश: भारी बारिश की चेतावनी, कल कांगड़ा के सभी स्‍कूल रहेंगे बंद न्‍यूयॉर्क : सुषमा स्‍वराज ने नेपाल के विदेश मंत्री से की मुलाकातहरियाणा मंत्रिमंडल की बैठक में स्टांप की दरों में कटौती सहित एक दर्जन से अधिक मुद्दों पर चर्चा की संभावनाहरियाणा सरकार ने पहली जुलाई, 2018 से संशोधित वेतनमान (सातवें राज्य वेतन आयोग) पर अपने कर्मचारियों के लिए मंहगाई भत्ते में 2 प्रतिशत की वृद्घि करने की घोषणा कीदिल्‍ली : बच्चों की मौत के मामले में DCW ने एमसीडी अस्पताल को भेजा नोटिस28 सितंबर को सर्जिकल स्ट्राइक की सालगिरह के कार्यक्रम में शामिल होंगे पीएम मोदी हिमाचल प्रदेश सरकार सरकारी और निजी बसों का किराया 24% बढ़ाएगी प्रदेश के स्वतंत्रता सेनानी व आश्रितों अपनी समस्याओं को लेकर हाईकोर्ट
Haryana

हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने राज्य के आईएएस, आईएफएस और आईपीएस अधिकारियों को समाज के प्रति संवेदनशील होने के लिए प्रोत्साहित किया

April 21, 2018 09:59 PM

हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने राज्य के आईएएस, आईएफएस और आईपीएस अधिकारियों को समाज के प्रति संवेदनशील होने के लिए प्रोत्साहित किया और कहा कि वे यह सुनिश्चित करें कि जो योग्य हैं वे विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं और कार्यक्रमों का लाभ प्राप्त कर सकें ताकि राज्य सरकार द्वारा प्रदेश के लोगों को एक पारदर्शी और भ्रष्टाचार मुक्त प्रशासन प्रदान करने की मंशा लोगों तक पहुंचे। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार का उद्देश्य लोगों की सेवा करना है।

          श्री मनोहर लाल आज यहां पंचकुला में 12 वें सिविल सेवा दिवस के अवसर पर आयोजित राज्य स्तरीय समारोह में राज्य के वरिष्ठ आईएएस, आईएफएस और आईपीएस अधिकारियों को संबोधित कर रहे थे। इस अवसर पर, मुख्यमंत्री ने उत्कृष्ट सेवाओं के लिए आठ अधिकारियों को भी सम्मानित किया।

          देश की प्रशासनिक प्रणाली चलाने में आईएएस, आईएफएस और आईपीएस अधिकारियों की भूमिका को रेखांकित करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि उनके समाज में उच्च प्रतिष्ठा है। उन्होंने कहा कि उन्हें हमेशा अपने कर्तव्यों को निर्वहन करते समय जिम्मेदारी, उत्तरदायित्व और निष्पक्षता की भावना को ध्यान में रखना चाहिए और अच्छा परिणाम देने के लिए बदलते समय के अनुसार खुद को ढालाना चाहिए। उन्होंने अधिकारियों के काम को चुनौतीपूर्ण बताया और कहा कि लक्ष्य राजनीतिक नेतृत्व द्वारा निर्धारित किए जाते हैं, लेकिन इन्हें हासिल करने की ज़िम्मेदारी सिविल सेवा अधिकारियों के साथ है। मुख्यमंत्री ने सिस्टम के सुचारू कामकाज के लिए अधिकारियों को अंतर विभागीय नीति के मुद्दों को हल करने के लिए एक प्रभावी तंत्र विकसित करने के लिए भी कहा।

          मुख्यमंत्री ने कहा कि सिविल सेवा दिवस राज्य में पहली बार राज्य स्तर पर ही नहीं बल्कि जिला स्तर पर भी आयोजित किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि पहला सिविल सेवा दिवस 21 अप्रैल, 1947 को आयोजित किया गया था जब देश के लौह पुरुष सरदार वल्लभभाई पटेल ने सिविल सेवाओं के अधिकारियों को संबोधित किया था। सिविल सेवा जारी रखने में श्री पटेल की महत्वपूर्ण भूमिका थी। सरदार पटेल ने भारतीय प्रशासनिक सेवा (आईएएस) को भारत की सरकारी मशीनरी के ‘‘स्टील फ्रेम’’ कहा था।

          श्री मनोहर लाल ने कहा कि यह तीसरी बार है जब उन्हें अधिकारियों के साथ बातचीत करने का मौका मिला। उन्होंने कहा कि परवानू में टिंबर ट्रेल में आयोजित चिंतन शिविर  के दौरान की गई उनकी घोषणा के अनुसार, विकास के उद्देश्य के लिए शीर्ष आईएएस, आईएफएस और आईपीसी अधिकारियों को 47 ब्लॉक आवंटित किए गए हैं। उन्होंने अधिकारियों से व्यक्तिगत रूप से उनके आवंटित ब्लॉक में जाने के लिए कहा कि क्या सैट पैरामीटर के अनुसार काम किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि आत्मनिर्भरता के लिए 43 अंक रखे गए हैं जबकि तीसरे पक्ष द्वारा सात अंकों का मूल्यांकन किया जाएगा।

         मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य के भौतिक विकास को सुनिश्चित करने के अलावा, राज्य सरकार ने लोगों के सामाजिक-आर्थिक विकास के लिए काम किया है और प्रणाली में बदलाव और समाज की सोच में बदलाव लाने के लिए भी काम किया है। उन्होंने कहा कि राज्य की प्रति व्यक्ति आय देश के बड़े राज्यों में सबसे ज्यादा है, लेकिन इसे बनाए रखने की जरूरत है। विभिन्न ई-शासन पहल की गई हैं जिसके तहत ग्राम साचिवालयों, आम सेवा केंद्रों, अंत्योदय केंद्रों खोले गए हैं जो न केवल भ्रष्टाचार पर जांच करने में मदद करेंगी बल्कि लोगों के समय को भी बचाएंगे। इसी तरह, राज्य में लिंग अनुपात जो प्रति 1000 लडक़ों की 850 लड़कियां थीं अब प्रति 1000 लडक़ों में 950 लड़कियां पहुंच गया हैं। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार के एक और सुधार कार्यक्रम के तहत महिला सुरक्षा को एक और सुधार के रूप में लिया जाएगा।

इस अवसर पर मुख्यमंत्री द्वारा 8 अधिकारियों को सम्मानित किया गया जिसमें कृषि एवं किसान कल्याण विभाग के संयुक्त निदेशक श्री जगराज डांडी और सहायक सांख्यिकीय अधिकारी श्री रांगी राम, शहरी स्थानीय निकाय विभाग के सहायक मिशन निदेशक श्री दिनेश कुमार और सहायक शहर योजनाकार श्री सुनील वर्मा, हरियाणा राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन के सीईओ श्री रमेश कृष्ण (आईएएस रिटायर्ड) और  सीओओ श्री आर. आर. बदयाल, श्री मुनीष चंदन, श्री के. एम. पांडुरंग, आईएएस सम्मानित किए गए।

         इससे पहले इस अवसर पर बोलते हुए मुख्य सचिव श्री डी एस ढेसी ने कहा कि सिविल सेवा दिवस सिविल अधिकारियों के लिए एक विशेष महत्व रखता है। उन्होंने कहा कि देश की आजादी के बाद, सिविल सेवकों की भूमिका में काफी बदलाव आया है। इससे पहले, लक्ष्यों और उद्देश्य को स्पष्ट रूप से परिभाषित किया गया था लेकिन बदलते समय के साथ, प्रशासन एक जटिल मुद्दा बन गया है। इसके संदर्भ में, सिविल सेवकों को अपने कौशल को तेज करने और अधिक प्रतिक्रियाशील होने की आवश्यकता है।

          उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री मनोहर लाल के सक्षम नेतृत्व और मार्गदर्शन के तहत, राज्य सरकार द्वारा विभिन्न अभूतपूर्व कदम उठाए गए हैं जिन्हें राष्ट्रीय स्तर पर मान्यता प्राप्त है। उन्होंने अधिकारियों से आत्मनिरीक्षण के लिए आग्रह किया कि वे देश के विकास के लिए बेहतर प्रदर्शन कैसे कर सकते हैं।

          अतिरिक्त मुख्य सचिव, प्रशासनिक सुधार विभाग श्री देवेंद्र सिंह ने स्वागत का पता प्रस्तुत किया।

          इस अवसर पर उपस्थित लोगों में मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव श्री राजेश खुल्लर और वरिष्ठ आईएएस, आईएफएस और आईपीएस अधिकारी शामिल थे।

Have something to say? Post your comment
 
More Haryana News
हरियाणा मंत्रिमंडल की बैठक में स्टांप की दरों में कटौती सहित एक दर्जन से अधिक मुद्दों पर चर्चा की संभावना हरियाणा सरकार ने पहली जुलाई, 2018 से संशोधित वेतनमान (सातवें राज्य वेतन आयोग) पर अपने कर्मचारियों के लिए मंहगाई भत्ते में 2 प्रतिशत की वृद्घि करने की घोषणा की प्रदेश के स्वतंत्रता सेनानी व आश्रितों अपनी समस्याओं को लेकर हाईकोर्ट इनेलो की 25 सितम्बर को गोहाना में होने वाली रैली स्थल में पानी भरने की वजह से अब 7 अक्तूबर को गोहाना में ही होगी - अभय चौटाला कैप्टन अभिमन्यु ने अधिकारियों को प्रदेश में सोमवार को हुई तेज़ बरसात से हुए नुकसान का आकलन कर अगले चार दिनों में रिपोर्ट तैयार करने के आदेश दि हरियाणा के वरिष्ठ आईएएस अधिकारी पीके महापात्रा को मिला तीन महीने का एक्सटेंशन मिलने की संभावना हरियाणा पुलिस ने ऐप को लेकर विश्वविद्यालय में चलाया जागरूकता अभियान डॉ. बनवारी लाल ने हिसार में सरकारी जमीनों पर अवैध रूप से चलने वाले रोटी बैंक या इस प्रकार की अन्य गतिविधियों को बंद करवाकर सरकारी जमीन से कब्जा छुड़वाने के निर्देश दिए हरियाणा सरकार ने सरदार वल्लभ भाई पटेल की जयंती 31 अक्तूबर, 2018 को राष्टï्रीय एकता दिवस के रूप में मनाने का निर्णय लिया Bhatla social boycott: 2 DSPs among 6 cops to face probe