Wednesday, November 21, 2018
Follow us on
Haryana

HARYANA-अब शिक्षा निदेशालय में माता-पिता और रिश्तेदारों को भेजकर अधिकारी नहीं करवा सकेंगे अपने काम

April 05, 2018 04:50 AM

COURSTEY DAINIK BHASKAR APRIL 5

अब शिक्षा निदेशालय में माता-पिता और रिश्तेदारों को भेजकर अधिकारी नहीं करवा सकेंगे अपने कामनिजी काम करवाने के लिए अधिकारी को खुद आना हाेगा फाइल लेकर, एसीएस ने दिए कार्रवाई के आदेश

सुरेंद्र जटिया | फतेहाबाद

शिक्षा विभाग के अधिकारी और कर्मचारी अपने रिश्तेदारों व जान-पहचान वालों के माध्यम से अपने निजी काम को पूरा करवाने के लिए निदेशालय में सिफारिश नहीं करवा पाएंगे सरकार ने इस पर फैसला लेते हुए साफ कहा है कि निजी काम करवाने के लिए अधिकारी को खुद फाइल लेकर आना हाेगा। सहानुभूति और सिफारिश के लिए अपने परिजनों को न भेजे। ऐसे में यदि कोई जल्दी काम करवाने के चक्कर में किसी दूसरे के हाथ से अपनी फाइल भेजता है तो उस पर अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाएगी। शिक्षा विभाग के एसीएस धीरा खंडेलवाल ने अपने आदेश में कहा है कि एसीआर, सस्पेंशन, अनुशासनात्मक कार्रवाई, सीनियॉरिटी, सैलरी, प्रमोशन, ट्रांसफर के अलावा लोन व छुट्टियों की स्वीकृति के लिए अधिकारी अपने माता-पिता, भाई के अलावा जान-पहचान वालों के साथ अपनी फाइलों देकर शिक्षा निदेशालय में भेज रहे है। निदेशालय आने के बाद से रिश्तेदार व जान-पहचान वाले लोग आर्ट एंड कल्चर अफेयर्स डायरेक्टर, स्कूल एजुकेशन डायरेक्टर, एलिमेंटरी डायरेक्टर, एसएसए के स्टेट प्रोजेक्ट डायरेक्टर व आरएमएसए के स्टेट प्रोजेक्ट डायरेक्टर सहित अाला अधिकारियों को सहानुभूति के तौर पर काम करने की अपील करते है।
बड़े अधिकारियों को करना पड़ता है परेशानी का सामना :हालांकि इन लोगों को अधिकारी व कर्मचारी के अधूरे काम के बारे में कोई जानकारी नहीं होती। जिसके कारण बड़े अधिकारियों को परेशानी का सामना करना पड़ता है। सरकार ने अपने आदेश में कहा है कि इस आदेश के बाद कोई अधिकारी व कर्मचारी प्रॉपर चैनल के माध्यम से अपनी फाइल को निदेशालय न भेजकर सिफारिश के चक्कर में पड़ेगा तो उस पर अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाएगी। जिसकी जिम्मेवारी

Have something to say? Post your comment