Monday, November 19, 2018
Follow us on
Haryana

HARYANA सीएम HISAR में थे, फिर भी तमाशबीन बना रहा प्रशासन

April 03, 2018 06:52 AM

COURSTEY DAINIK JAGRAN APRIL 3

सीएम शहर में थे, फिर भी तमाशबीन बना रहा प्रशासन
हिसार : भारत बंद आंदोलन को लेकर दलित समुदाय के अल्टीमेटम को जिला प्रशासन व पुलिस प्रशासन ने हल्के में ले लिया। प्रशासन का खुफिया तंत्र पूरी तरह से दलित समुदाय की रणनीति को परखने में नाकाम रहा। खुफिया तंत्र की नाकामी के चलते सीएम की मौजूदगी में उपद्रवियों ने शहर में अराजकता फैलाई। अराजक तत्व लगातार तोड़फोड़ कर रहे थे, लेकिन प्रशासन पूरी तरह से मूकदर्शक बना रहा। प्रशासन की इसी चुप्पी ने उपद्रवियों के हौसले इतने बढ़ा दिए कि बीकानेर चौक पर उपद्रवियों ने शहर थाना प्रभारी ललित कुमार पर ही हमला बोल दिया।1एसएचओ पर हुए हमले के बाद प्रशासन अलर्ट हुआ और उपद्रवियों पर लाठीचार्ज कर दिया। अधूरी तैयारी के चलते ही शहर में दिन भर अराजकता का माहौल बना रहा। आम आदमी से लेकर व्यापारी तक घर में दुबके रहे। 1सरकारी कार्यालयों में कामकाज ठप: वहीं एससी-एसटी के प्रदर्शन के कारण सरकारी कार्यालयों में कामकाज पूरी तरह से ठप रहा। अधिकतर कार्यालयों के कर्मचारियों ने खुद इस आंदोलन में भाग लिया और छुट्टी लेकर या ड्यूटी से नदारद रहकर प्रदर्शन में भाग लिया। 1लघु सचिवालय में प्रदर्शनकारियों से ज्ञापन लेने पहुंचे एसपी व डीसी प्रदर्शनकारियों के उग्र तेवर देख वापस लौट आए।प्रशासन के फेल होने के कारण 1’ खुफिया तंत्र ने प्रदर्शन को गंभीरता से नहीं लिया। 1’ खुफिया तंत्र के पास एक हजार से दो हजार लोगों के जमा होने की रिपोर्ट थी। जबकि कई गुणा ज्यादा भीड़ जमा हो गई।हमारे प्रदर्शनकारियों ने कोई उपद्रव नहीं मचाया। हमने स्वयं लघु सचिवालय के बाहर दो युवाओं को पकड़ कर पुलिस के हवाले किया था। पुलिस गलत आरोपों में दलित समुदाय के लोगों को गिरफ्तार न करें। अपितु हमें बड़ा प्रदर्शन करना पड़ेगा। 1- उदयभान व इंद्राज भारती, आंबेडकर संघर्ष समिति के सदस्य 1उपद्रव करने वाले सभी बाहरी युवा थे। हमने शांतिपूर्वक प्रदर्शन किया था। शहर में उपद्रव हमारा काम नहीं है। पुलिस दलित समुदाय के बच्चों पर गलत कार्रवाई न करें। अन्यथा हम जेल भरो आंदोलन करेंगे। - मानसिंह चौहान व प्रवीण कुमार, आंबेडकर संघर्ष समितिकानून तोड़ने वालों पर आपराधिक मामले दर्ज किए जाएंगे। सभी जिलों में प्रदर्शन होने कारण फोर्स बाहर से नहीं मंगाई गई थी। हमारी पास पर्याप्त फोर्स थी। 1संजय कुमार, आइजी, हिसारलक्ष्मी बाई चौक पर प्रदर्शनकारियों पर लाठियां भांजते पुलिसकर्मी। ’ जागरणपीजी में घुसकर तोड़फोड़ : इसके बाद प्रदर्शन का सिलसिला शुरू हो गया। जवाहर नगर में मार्केट बंद करवाने पहुंचे प्रदर्शनकारियों ने गली नंबर तीन के पास मौजूद एक पीजी में तोड़फोड़ की और तीन लोगों से मारपीट की। इसमें पीजी संचालक जितेश शर्मा सहित जींद का रहने वाला रजत कुमार और संदीप घायल हो गए। जितेश को सिविल अस्पताल में भर्ती करवाया गया है।प्रदर्शनकारियों पर आंसू गैस के गोले दागते पुलिसकर्मी।करना पड़ा बल प्रयोग 1उग्र प्रदर्शनकारियों को तितर-बितर करने के लिए पुलिस को लाठीचार्ज करना पड़ा। प्रदर्शनकारी फिर भी नहीं माने और काफी देर तक पथराव करते रहे। उन्हें खदेड़ने के लिए पुलिस ने आंसू गैस के गोले भी छोड़े। बाद में लाठीचार्ज होने पर प्रदर्शनकारी रेड स्क्वेयर मार्केट, गणोश मार्केट, लक्ष्मीबाई चौक की तरफ भाग निकले। पुलिस ने उनका पीछा किया और तितर-बितर कर दिया।बसों और कारों के शीशे तोड़े : प्रदर्शनकारियों ने राजगढ़ रोड पर एक रोडवेज बस सहित एक कार के शीशे तोड़ दिए। इसके अलावा एक पंजाब से आई बस, रेडक्रॉस मार्केट में दो कारों के शीशे तोड़ दिए।एसएचओ के सिर में आए नौ टांके1बीकानेर चौक पर सिटी थाना एसएचओ ललित कुमार ने अपने अन्य साथियों के साथ प्रदर्शनकारियों को रोकने का प्रयास किया। तभी एक प्रदर्शनकारी ने लोहे की रॉड से उन पर हमला कर दिया। पुलिस ने प्रदर्शनकारियों पर हल्का बल प्रयोग कर उनको तितर-बितर कर दिया, लेकिन यह देख वहां दलित समुदाय के काफी संख्या में युवक एकत्रित हो गए और एसएचओ को घेर लिया। पहले उन्होंने एसएचओ के साथ धक्का-मुक्की की, फिर पीछे खड़े सब इंस्पेक्टर ने एसएचओ को भीड़ से निकालना चाहा तो उनके साथ भी धक्का-मुक्की शुरू कर दी। उसी दौरान एक प्रदर्शनकारी ने लोहे की रॉड उनके एसएचओ के सिर पर दे मारी। एचएचओ के सिर में नौ टांके आए हैं। मौके पर पहुंची पुलिस फोर्स ने प्रदर्शनकारियों को हटने को कहा तो उन्होंने पथराव कर दिया। इस पर पुलिस ने लाठीचार्ज किया व आंसूगैस के गोले छोड़े।शहर में शांति बनी हुई है। रातभर पेट्रोलिंग की जाएगी। मामला दर्ज करने की कार्रवाई जारी है। पुलिस के जवान घायल हुए हैं। कानून तोड़ने वालों को बख्शा नहीं जाएगा।1- जितेंद्र सिंह, डीएसपी, लॉ एंड ऑर्डर।शाम को पटेलनगर में तोड़फोड़1पटेल नगर में सोमवार शाम कुछ प्रदर्शनकारियों ने दुकान बंद नहीं करने पर पथराव कर शीशे तोड़ दिए। घटना में दुकान मालिक संदीप सहित एक महिला घायल हो गई। संदीप ने शिकायत में कहा कि बंटी, मिश्री, लखन सहित 5-6 अन्य युवक दुकान पर आए और दुकान बंद करने के लिए कहने लगे। मना करने पर उन्होंने तोड़फोड़ कर दी साथ ही पथराव भी किया। इसमें संदीप सहित एक महिला ग्राहक घायल हो गई।हिंसक झड़पें1’ लाठीचार्ज, तोड़फोड़ में डीएसपी, सिटी एसएचओ सहित पांच पुलिस कर्मी घायल1’ दो बसों और तीन गाड़ियों के शीशे तोड़े, नाके पर जलाए टायरपुलिस ने किया फ्लैग मार्च1पुलिस ने लाठीचार्ज के बाद प्रदर्शनकारियों को वहां से खदेड़ने और आम आदमी को सुरक्षित महसूस करवाने के लिए डीएसपी जितेंद्र के नेतृत्व में फ्लैग मार्च निकाला। डीएसपी के साथ पुलिस बल रेड स्क्वेयर मार्केट, रामपुरा मोहल्ला, बिश्नोई मंदिर मार्केट, आर्य समाज मार्केट, तेलियान पुल, राजगुरु मार्केट, नागोरी गेट से होता हुआ सिटी थाने की तरफ निकल गया। हालांकि शाम को पटेल नगर में तोड़फोड़ की खबर आ गई।

Have something to say? Post your comment