Tuesday, September 25, 2018
Follow us on
BREAKING NEWS
हिमाचल प्रदेश: भारी बारिश की चेतावनी, कल कांगड़ा के सभी स्‍कूल रहेंगे बंद न्‍यूयॉर्क : सुषमा स्‍वराज ने नेपाल के विदेश मंत्री से की मुलाकातहरियाणा मंत्रिमंडल की बैठक में स्टांप की दरों में कटौती सहित एक दर्जन से अधिक मुद्दों पर चर्चा की संभावनाहरियाणा सरकार ने पहली जुलाई, 2018 से संशोधित वेतनमान (सातवें राज्य वेतन आयोग) पर अपने कर्मचारियों के लिए मंहगाई भत्ते में 2 प्रतिशत की वृद्घि करने की घोषणा कीदिल्‍ली : बच्चों की मौत के मामले में DCW ने एमसीडी अस्पताल को भेजा नोटिस28 सितंबर को सर्जिकल स्ट्राइक की सालगिरह के कार्यक्रम में शामिल होंगे पीएम मोदी हिमाचल प्रदेश सरकार सरकारी और निजी बसों का किराया 24% बढ़ाएगी प्रदेश के स्वतंत्रता सेनानी व आश्रितों अपनी समस्याओं को लेकर हाईकोर्ट
Haryana

हरियाणा के फरीदाबाद में भारत का पहला पैरालंपिक भवन बनाया जाएगा:मनोहरलाल

March 25, 2018 04:17 PM

हरियाणा के फरीदाबाद में भारत का पहला पैरालंपिक भवन बनाया जाएगा। यह भवन 3 करोड़ 11 लाख रुपये की राशि से तैयार होगा। इसके साथ साथ दिव्यांगों को हरियाणा सरकार अगले वष से 2000 रुपये की मासिक पेंशन भी दी जाएगी।

यह जानकारी आज हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहरलाल ने पंचकूला के सेक्टर-3 स्थित ताऊ देवीलाल खेल स्टेडियम में पांच दिवसीय 18वीं राष्ट्रीय पैरालंपिक एथलेटिक्स चैंपियशिप 2018 के उद्घाटन अवसर दी। उन्होंने आज दुर्गा अष्ठमी व राम नवमी की भी खिलाडिय़ों को बधाई दी। इस प्रतियोगिता में देशभर से 28 राज्यों के 1443 प्रतिभागी भाग ले रहे है। पैरालंपिक कमेटी ऑफ इंडिया व पैरा स्पोर्टस एसोसिएशन ऑफ हरियाणा के प्रधान तथा केन्द्रीय योजना एवं रसायन एवं उर्वरक राव इंद्रजीत सिंह ने हरियाणा मुख्यमंत्री श्री मनोहरलाल द्वारा बनाई गई नई खेल नीति की सराहना की और कहा कि राज्य में खिलाडिय़ों को नकद राशि के इनाम दिए जा रहे है, यही कारण है कि प्रदेश में राष्ट्रीय व अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर खेलों में बढ़ौतरी हुई है। 
 मुख्यमंत्री ने देश के विभिन्न राज्यों से आए दिव्यांग खिलाडिय़ों को बधाई एवं शुभकामनाएं देते हुए कहा कि इस प्रकार के कार्यक्रम में एक साथ इतनी संख्या में इक्_े होना हमारी राष्ट्रीय एकता की मजबूती को दर्शाता है। मुख्यमंत्री ने विभिन्न राज्यों के दिव्यांग खिलाडिय़ों से उनके अपने राज्य भाषा व बोली में बातचीत भी की। 
 मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का मानना है कि एक भारत श्रेष्ठ भारत का यह नमूना इस कार्यक्रम में देखने का मिलता है। विभिन्न राज्यों से आए इन खिलाडिय़ों के बैठने-उठने, खाने-पीने, रहने और विभिन्न भाषाओं में भी एकता की झलक दिखती है। उन्होंने कहा कि वर्ष 2010 में यह राष्ट्रीय पैरालंपिक एथलेटिक्स चैंपियनशिप फरीदाबाद में हुई थी। वर्ष 2016 में पंचकूला में और अब तीसरी बार 2018 में पंचकूला में आयोजित की जा रही है। हरियाणा में तीन बार यह प्रतियोगिता आयोजित की जा चुकी है। यदि देश के अन्य राज्यों में अगले वर्ष यह प्रतियोगिता नहीं मनाई जाती तो इसे हरियाणा में आयोजित करने का निमंत्रण भी दिया है। 
 मुख्यमंत्री ने कहा कि हरियाणा सरकार स्नात्तक एवं स्नातकोत्तर युवाओं को 100 घंटे का रोजगार उपलब्ध करवा रही है और उन्हें 9 हजार रुपये की राशि का मानदेय भी मुहैया करवाया जाता है। युवाओं को चहुमुखी विकास के भागीदार व सक्षम बनाने के लिए हरियाणा कौशल विकास मिशन के तहत अनेक प्रकार के प्रशिक्षण दिए जा रहे है। उन्होंने कहा कि देश में 20 लाख दिव्यांगों को यह प्रशिक्षण देकर रोजगार उपलब्ध करवाने की व्यवस्था की जाएगी। देश में 2 करोड़ 68 लाख दिव्यांग है, उनको स्वावलंबी बनाने के लिए मूलभूत सुविधाएं भारत व राज्य सरकार उपलब्ध करवाने के हरसंभव प्रयास कर रही है। उन्होंने कहा कि एशियन खेलों में पैरालंपिक एथलेटिक्स में दिव्यांगों ने चार मैडल जीतकर हरियाणा व देश का नाम रोशन किया। उन्होंने कहा कि दिव्यांगजन हमारे समाज का अभिन्न हिस्सा है और समय-समय पर ऐसी खेल प्रतियोगिता आयोजित किया जाना एक सराहनीय प्रयास है, क्योंकि इस प्रकार के आयोजन से उनके प्रति लोगों के दृष्टिकोण व मानसिकता को बदलने में मदद मिलती है। हरियाणा सरकार दिव्यांगों के कल्याणार्थ अनेक प्रभावी कदम उठा रही है और समाज की मुख्य धारा में शामिल करने के भरसक प्रयास कर रही है। 
 इस मौके पर पैरालंपिक कमेटी ऑफ इंडिया व पैरा स्पोर्टस एसोसिएशन ऑफ हरियाणा के प्रधान तथा केन्द्रीय योजना एवं रसायन एवं उर्वरक राव इंद्रजीत सिंह ने कहा प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी का सपना है वर्ष 2028 तक आस्ट्रेलिया, रूस, चीन आदि देशों से ज्यादा खिलाड़ी अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर उभर कर आएंगे और देश में पदकों की संख्या भी बढ़ेगी। भारत व राज्य सरकार खिलाडिय़ों को मनोबल बढ़ाने की दिशा में नई-नई पहल कर रही है। उन्होंने मुख्यमंत्री का विशेषतौर पर आभार प्रकट करते हुए कहा कि उनके प्रयासों से इस वर्ग के खिलाड़ी आगे बढकऱ हरियाणा का नाम रोशन कर रहे है और उनके प्रयासों से ही दिव्यांगों की राष्ट्रीय स्तर की प्रदेश में पैरालंपिक एथलेटिक्स चैंपियनशिप का आयोजन किया गया है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री ने एसोसिएशन को 50 लाख रुपये की राशि देने के लिए कहा है। उन्होंने आशा व्यक्त की कि वे भविष्य में भी ऐसा सहयोग करते रहेंगे। 
 इससे पूर्व मुख्यमंत्री ने खेलों का प्रतीक राष्ट्रीय ध्वजारोहण किया। विभिन्न राज्यों से आए खिलाडिय़ों ने शानदार मार्च पास्ट किया। मुख्यमंत्री ने 18वीं राष्ट्रीय पैरा एथलेटिक्स प्रतियोगिता के शुभारंभ की घोषणा भी की। प्रदीप सिंह ने खिलाडिय़ों को, खेलों को खेल की भावना से खेलने की दिशा में शपथ भी दिलवाई। एसोसिएशन के सदस्य महीपाल ने इस चैंपियनशिप की गतिविधियों के बारे में विस्तार से जानकारी दी। 
 इस अवसर पर सांसद रतनलाल कटारिया, जनस्वास्थ्य एवं अभियांत्रिकी राज्यमंत्री डॉ. बनवारी लाल, पंचकूला विधायक एवं मुख्यसचेतक ज्ञानचंद गुप्ता, नारनौल के विधायक ओम प्रकाश यादव, एसोसिएशन के प्रतिनिधियों सहित काफी संख्या में खेल प्रेमी भी उपस्थित 
Have something to say? Post your comment
 
More Haryana News
हरियाणा मंत्रिमंडल की बैठक में स्टांप की दरों में कटौती सहित एक दर्जन से अधिक मुद्दों पर चर्चा की संभावना हरियाणा सरकार ने पहली जुलाई, 2018 से संशोधित वेतनमान (सातवें राज्य वेतन आयोग) पर अपने कर्मचारियों के लिए मंहगाई भत्ते में 2 प्रतिशत की वृद्घि करने की घोषणा की प्रदेश के स्वतंत्रता सेनानी व आश्रितों अपनी समस्याओं को लेकर हाईकोर्ट इनेलो की 25 सितम्बर को गोहाना में होने वाली रैली स्थल में पानी भरने की वजह से अब 7 अक्तूबर को गोहाना में ही होगी - अभय चौटाला कैप्टन अभिमन्यु ने अधिकारियों को प्रदेश में सोमवार को हुई तेज़ बरसात से हुए नुकसान का आकलन कर अगले चार दिनों में रिपोर्ट तैयार करने के आदेश दि हरियाणा के वरिष्ठ आईएएस अधिकारी पीके महापात्रा को मिला तीन महीने का एक्सटेंशन मिलने की संभावना हरियाणा पुलिस ने ऐप को लेकर विश्वविद्यालय में चलाया जागरूकता अभियान डॉ. बनवारी लाल ने हिसार में सरकारी जमीनों पर अवैध रूप से चलने वाले रोटी बैंक या इस प्रकार की अन्य गतिविधियों को बंद करवाकर सरकारी जमीन से कब्जा छुड़वाने के निर्देश दिए हरियाणा सरकार ने सरदार वल्लभ भाई पटेल की जयंती 31 अक्तूबर, 2018 को राष्टï्रीय एकता दिवस के रूप में मनाने का निर्णय लिया Bhatla social boycott: 2 DSPs among 6 cops to face probe