Monday, September 24, 2018
Follow us on
Haryana

सरकार ने प्रदेश के टोहाना व अंबाला में दो पशु चिकित्सा महाविद्यालय खोले:मनोहर लाल

March 24, 2018 07:24 PM

हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने कहा कि सरकार ने प्रदेश के टोहाना व अंबाला में दो पशु चिकित्सा महाविद्यालय खोले हंै। इन महाविद्यालयों में वीएलडीए का प्रशिक्षण दिया जायेगा। उन्होंने कहा कि पशु अस्पतालों में चिकित्सकों की कमी को दूर करने के लिए सरकार का यह सार्थक प्रयास है। मनुष्यों की तरह पशुधन को भी बेहतर चिकित्सा सुविधाएं मिले और विशेषकर ग्रामीण क्षेत्रों में स्थित पशु अस्पतालों में चिकित्सकों की कमी दूर की जायेगी। 

मुख्यमंत्री आज रोहतक के गांव भाली आनंदपुर में समाज सेवी मास्टर रामकुमार सहारण की प्रतिमा का अनावरण करने के बाद उपस्थित जनसमूह को संबोंधित कर रहे थे।
मुख्यमंत्री ने ग्रामीणों की मांग पर जर्जर स्कूल भवन को नए सिरे से बनाने तथा सौन्दर्यकरण करने, डीसी रेट पर भूमि उपलब्ध करवाने पर भाली-गद्दी खेड़ी का रास्ता बनाने, व्यायामशाला खोलने, गंदे पानी की निकासी हेतु नाले का निर्माण करने की घोषणा की। उन्होंने कहा कि गांव भाली आनंदपुर में रेलवे स्टेशन बनाने बारे प्रस्ताव केंद्र सरकार को भेजने की भी घोषणा की। 
मुख्यमंत्री ने स्व. सहारण को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए ग्रामीणों से मास्टर रामकुमार अमर रहे की जयघोस के नारे लगवाये। उन्होंने कहा कि समाजसेवी मास्टर की 31 अक्तुबर 2016 को अचानक सडक़ दुर्घटना में निधन हो गया था। उनके निधन की खबर सुनकर उन्हें भी बड़ा आघात पहुंचा था। उन्होंने कहा कि सामाजिक कार्यो में सदैव मास्टर रामकुमार की चर्चा होती रहेगी। हमेशा उनकी यादगार बनाएं रखने के लिए और उनके बताये मार्ग का अनुसरण करने के लिए आज उनकी प्रतिमा का अनावरण किया है। 
केंद्रीय इस्पात मंत्री चौधरी बीरेंद्र सिंह ने कार्यक्रम को संबोंधित करते हुए कहा कि युवा पीढ़ी को संस्कार व गुणों से भरपूर करने के लिए ऐसे समाजसेवी व शहीदों की प्रतिमाओं का अनावरण किया जाता है ताकि युवा पीढ़ी भी उनसे प्रेरणा लेकर अच्छे कार्यों को ग्रहण कर सके। उन्होंने कहा कि मास्टर रामकुमार सहारण की प्रतिमा के अनावरण समारोह में पहुंचना उनके लिए गर्व की बात है। मास्टर सहारण सामाजिक क्षेत्र में अनुकरणीय कार्य करने के लिए सदैव याद रखे जाएंगे। उन्होंने कहा कि मास्टर सहारण उनके कॉलेज के सहयोगी रहे हैं। 
इसके अलावा राजनीति में आने के बाद भी वे उनसे निरंतर सामाजिक कार्य करने के लिए दबाव डालते थे। उन्होंने कहा कि अच्छे आदमी की पहचान उसके कार्यों से ही बनती है। शिक्षा के दौरान मित्र रहे मास्टर सहारण का जीवन उन्हें हमेशा अच्छे कार्य करने के लिए प्रेरित करता रहेगा। केन्द्रीय मंत्री ने कहा कि मास्टर सहारण बिना लाग लपेट वाले इंसान थे। वर्तमान में जिस व्यक्ति ने ज्यादा चापलूसी व चाटुकारिता हो उसे ही पंसद किया जाता है। 
इस अवसर पर सहकारिता मंत्री मनीष कुमार ग्रोवर, हरियाणा सफाई कर्मचारी आयोग के चेयरमैन रामअवतार वाल्मीकि, राजकमल, राजकुमार कपूर, रणबीर ढाका, बंसी विज, जोगेंद्र सैनी, पूर्व अध्यक्ष सुरेंद्र बंसल, धर्मबीर हुड्डा, सूबे सिंह, सूरजमल, महासिंह, राजकुमार, जगत ङ्क्षसह बूरा व सेवानिवृत जिला न्यायवादी बलवान सिंह सहित अनेकों गणमान्य व्यक्ति मौजूद थे। 
Have something to say? Post your comment