Thursday, November 15, 2018
Follow us on
Haryana

हरियाणवी शादी के लिए चाहिए हरियाणवी कार्ड्स

February 21, 2018 05:37 AM

COURSTEY NBT  FEB 21
बढ़ी डिमांड, अपनी बोली से जुड़ाव महसूस करते हैं लोग• एनबीटी न्यूज, जींद

अब शादी में डीजे पर हरियाणवी गानों के बाद हरियाणवी में शादी के कार्ड छपवाने का रिवाज बढ़ने लगा है। शादी के कार्ड में हरियाणवी बोली, 'इस खुशी के मौके पै थारा सारे कुणबे का न्यौता सै, अर म्हारा सारा कुणबा थारे आण की गाम मैं कसूती तै, कसूती अर ऐडी ठा-ठा के बाट देखेंगा। जै ना आए तो कसूता उल्हाना होजेगा।'

ये बातें इन दिनों शादी के कार्डों में लोग न्योता देने के लिए लिखवाने लगे है। लोग भी हरियाणवी बोली में की गई कार्ड पर छपाई को बड़े चाव से पढ़ते है। शादी के कार्ड छापने वाले प्रिंटिंग प्रेस मालिकों को कहना है कि इस साल की शुरुआत से हरियाणवी में कार्ड छपवाने की डिमांड बढ़ रही है। कार्ड प्रिंटिग प्रेस के मालिक अशोक मित्तल ने बताया कि पहले बहुत कम लोग हरियाणवी में कार्ड छपवाते थे, लेकिन अब इस तरह के कार्ड छपाने वालों की संख्या बढ़ी है। इसका कारण लोगों का अपनी बोली की तरफ बढ़ रहा रूझान है।

मित्तल बताते हैं कि हरियाणवी शब्दों को सही तरीके से लिखने में कुछ परेशानी जरूर होती है कि क्योंकि जो हम आम हरियाणवी में बोलते है, उसका टोन कार्ड में लिखवा पानी कठिन होता है। शादी के कार्ड छपवाने वाले जींद के निवासी रमेश खटकड़, दलबीर, राममेहर का कहना है कि अपनी बोली में कार्ड से शादी का न्योता देने अच्छा लगता है। इस तरह के कार्ड को पढ़ कर अपनी बोली की याद आ जाती है जो अब लोग भूलने लगे है। लेकिन सच तो यह है कि हरियाणा एक, हरियाणवी एक।
हरियाणवी शादी के लिए चाहिए हरियाणवी कार्ड्स

Have something to say? Post your comment
 
More Haryana News
राज्य प्रदर्शन एवं दृश्य कला विश्वविद्यालय, रोहतक’ का नाम बदलकर ‘पंडित लखमीचंद राज्य प्रदर्शन एवं दृश्य कला विश्वविद्यालय, रोहतक’ किए जाने से देश एवं दुनिया के लोगों को हरियाणवी कला एवं संस्कृति से और अधिक रूबरू होने का अवसर मिलेगा:राम बिलास शर्मा राज्य मंत्रिमंडल की बैठक में पंजाब नई राजधानी (परिधि) नियंत्रण अधिनियम 1952 (1953 की अधिनियम संख्या 1) में संशोधन को मंजूरी दी गई सीमाओं (कोर सीमाओं के बाहर) के भीतर आने वाले क्षेत्र के लिए ‘सस्ती आवास नीति (पीएमएई) 2018’ को स्वीकृति प्रदान की गई राज्य मंत्रिमंडल की बैठक में राज्य के शहरी क्षेत्रों में समग्र एकीकृत डेयरी परिसरों के विकास के लिए ब्लूप्रिंट तैयार करने के लिए गठित की गई हिसार को हस्तांतरित करने के पशुपालन एवं डेयरी विभाग के प्रस्ताव को स्वीकृति प्रदान की गई मंत्रिमंडल की बैठक में इलैक्ट्रोनिक्स एवं सूचना प्रौद्योगिकी विभाग का नाम बदल कर सूचना प्रौद्योगिकी, इलैक्ट्रोनिक्स एवं संचार विभाग रखने के प्रस्ताव को स्वीकृति प्रदान की गई मंत्रिमंडल की बैठक में हरियाणा खाद्य एवं औषधि प्रशासन विभाग, अधीनस्थ कार्यालय (ग्रुप डी) सेवा नियम, 2018 को स्वीकृति प्रदान की गई। राज्य मंत्रिमंडल की बैठक में हरियाणा खाद्य एवं औषधि प्रशासन विभाग, मुख्यालय (ग्रुप डी) सेवा नियम, 2018 को स्वीकृति प्रदान की गई मंत्रिमंडल की बैठक में स्वास्थ्य विभाग ने मुख्य औषधाकारक (चीफ फार्मेसिस्ट) के पद को राजपत्रित घोषित करने के लिए विभागीय सेवा नियमों में संशोधन करने की स्वीकृति प्रदान की गई उत्तर हरियाणा बिजली वितरण निगम (यूएचबीवीएन) को दिए जाने के लिए 625.93 करोड़ रुपये की राज्य सरकार की गारंटी देने की स्वीकृति प्रदान की