Thursday, November 15, 2018
Follow us on
Haryana

JIND RALLY- यात्री ध्यान दें; सुरक्षा बलों को लेने गई हैं 54 बसें, अपनी व्यवस्था खुद करें

February 12, 2018 06:34 AM

COURSTEY  DAINIK  BHASKAR  FEB 12

यात्री ध्यान दें; सुरक्षा बलों को लेने गई हैं 54 बसें, अपनी व्यवस्था खुद करें

बाइक रैली | प्रशासन ने फोर्स लाने के लिए पहले 30 बसें ली थीं अब 24 और ले लीं

अमित शाह की रैली के लिए फोर्स को लाने ले जाने के लिए रोज बढ़ रही प्रशासन की बसों की डिमांड

भास्कर न्यूज | जींद

 

डिपो की कुल 162 बसों में से 54 बसें फोर्स को लाने ले जाने के लिए बुक हो गई हैं। पहले से ही बसों की कमी के कारण परेशानी झेल रहे यात्रियों की दिक्कतें और बढ़ गई हैं। बसों के फोर्स के लिए बुक होने के कारण अब जींद से लगभग सभी लॉन्ग रूट की बस सेवा बंद हो गई है। इसके चलते यात्रियों को अपने गंतव्य तक पहुंचने के लिए दूसरे शहरों से बसें पकड़नी पड़ेंगी। अमित शाह की रैली में सुरक्षा व्यवस्था बनाए रखने व जाट नेताओं द्वारा समांतर रैली की घोषणा के मद्देनजर जिला प्रशासन जींद डिपो से हर रोज बसों की डिमांड कर रहा है। शनिवार को प्रशासन ने फोर्स को लाने ले जाने के लिए 30 बसें मांगी थी लेकिन फोर्स के ज्यादा आने के कारण 24 बसें रविवार को और मांग ली गई। इस पर डिपो ने लॉन्ग रूट पर जा रही सभी बस सेवा को बंद कर बसों को प्रशासन को सौंप दिया है। ये रोडवेज बसें जम्मू, द्वारका, नूंह, हजरत निजामुद्दीन, मधुबन समेत कई जगहों से फोर्स को लाने के लिए रवाना हो गई हैं।
बेगार के लिए पकड़े दो दर्जन से ज्यादा ट्रक
प्रशासन ने फोर्स का सामान लाने ले जाने आदि के लिए ट्रक यूनियन से भी दो दर्जन से ज्यादा ट्रक प्रशासन ने बेगार के लिए पकड़े हैं। ट्रक यूनियन के प्रधान नरेश कुमार ने बताया कि लोग अपना गुजारा चलाने के लिए ट्रक लिए हुए हैं लेकिन अब प्रशासन के लेने से कुछ मिलने वाला नहीं है। इसके कारण उनका रोजगार ठप हो गया है। यह प्रशासन की जबरदस्ती है। इसके अलावा और कई जगहों से ट्रक प्रशासन द्वारा पकड़े गए हैं।
जींद. बसें न होने के कारण बस स्टैंड पर लगी यात्रियों की भीड़। इधर फोर्स के लिए पुलिस लाइन में खड़ी बसें।
डिपो को रोज 5.40 लाख का नुकसान
इसके अलावा लोकल रूटों पर बसों के न होने के कारण यात्रियों को गंतव्य तक पहुंचने के लिए घंटों बस का इंतजार करना पड़ सकता है। अब तक प्रशासन को सौंपी गई कुल 54 बसों में से 44 बसें जींद से और पांच-पांच बसें नरवाना व सफीदों सब डिपो से ली गई हैं। उम्मीद जताई जा रही है कि आने वाले दिनों में प्रशासन जींद डिपो से और भी बसों की मांग कर सकता है। इससे साफ है कि जनता को आने वाले दिनों में बसें न मिलने के कारण काफी परेशानियों का सामना करना पड़ेगा। डिपो को इससे हर रोज करीब 5 लाख 40 हजार रुपए का नुकसान होने का अनुमान है। जींद डिपो के डीआई कृष्ण कुमार पूनिया बताते हैं कि रोडवेज की एक बस हर रोज औसतन 400 से 425 किलोमीटर का सफर तय करती है। इस दौरान चालक-परिचालक आदि के तमाम खर्चे निकाल कर कम से कम 10 हजार रुपए कमाती है।
भास्कर न्यूज | जींद
डिपो की कुल 162 बसों में से 54 बसें फोर्स को लाने ले जाने के लिए बुक हो गई हैं। पहले से ही बसों की कमी के कारण परेशानी झेल रहे यात्रियों की दिक्कतें और बढ़ गई हैं। बसों के फोर्स के लिए बुक होने के कारण अब जींद से लगभग सभी लॉन्ग रूट की बस सेवा बंद हो गई है। इसके चलते यात्रियों को अपने गंतव्य तक पहुंचने के लिए दूसरे शहरों से बसें पकड़नी पड़ेंगी। अमित शाह की रैली में सुरक्षा व्यवस्था बनाए रखने व जाट नेताओं द्वारा समांतर रैली की घोषणा के मद्देनजर जिला प्रशासन जींद डिपो से हर रोज बसों की डिमांड कर रहा है। शनिवार को प्रशासन ने फोर्स को लाने ले जाने के लिए 30 बसें मांगी थी लेकिन फोर्स के ज्यादा आने के कारण 24 बसें रविवार को और मांग ली गई। इस पर डिपो ने लॉन्ग रूट पर जा रही सभी बस सेवा को बंद कर बसों को प्रशासन को सौंप दिया है। ये रोडवेज बसें जम्मू, द्वारका, नूंह, हजरत निजामुद्दीन, मधुबन समेत कई जगहों से फोर्स को लाने के लिए रवाना हो गई हैं।
बेगार के लिए पकड़े दो दर्जन से ज्यादा ट्रक
प्रशासन ने फोर्स का सामान लाने ले जाने आदि के लिए ट्रक यूनियन से भी दो दर्जन से ज्यादा ट्रक प्रशासन ने बेगार के लिए पकड़े हैं। ट्रक यूनियन के प्रधान नरेश कुमार ने बताया कि लोग अपना गुजारा चलाने के लिए ट्रक लिए हुए हैं लेकिन अब प्रशासन के लेने से कुछ मिलने वाला नहीं है। इसके कारण उनका रोजगार ठप हो गया है। यह प्रशासन की जबरदस्ती है। इसके अलावा और कई जगहों से ट्रक प्रशासन द्वारा पकड़े गए हैं।
इन रूटों पर मुश्किल
जींद से दिल्ली के लिए।
जींद से सिरसा, गंगानगर के लिए।
जींद से पटियाला, संगरूर, लुधियाना के लिए।
जींद से चंडीगढ़ के लिए।
जींद से हरिद्वार के लिए।
लोकल रूट पर बहाल रहेगी बस सेवा
प्रशासन ने फोर्स लाने ले जाने के लिए बसें मांगी हैं। इसके चलते लॉन्ग रूट पर चलने वाले बसों को बंद कर प्रशासन को सौंपा गया है। लोकल रूट पर बस सेवा पहले की तरह बहाल रहेगी। ताकि यात्रियों को परेशानी न होना पड़े। - अश्विनी मलिक, जीएम रोडवेज डिपो जींद।

Have something to say? Post your comment
 
More Haryana News
राज्य प्रदर्शन एवं दृश्य कला विश्वविद्यालय, रोहतक’ का नाम बदलकर ‘पंडित लखमीचंद राज्य प्रदर्शन एवं दृश्य कला विश्वविद्यालय, रोहतक’ किए जाने से देश एवं दुनिया के लोगों को हरियाणवी कला एवं संस्कृति से और अधिक रूबरू होने का अवसर मिलेगा:राम बिलास शर्मा राज्य मंत्रिमंडल की बैठक में पंजाब नई राजधानी (परिधि) नियंत्रण अधिनियम 1952 (1953 की अधिनियम संख्या 1) में संशोधन को मंजूरी दी गई सीमाओं (कोर सीमाओं के बाहर) के भीतर आने वाले क्षेत्र के लिए ‘सस्ती आवास नीति (पीएमएई) 2018’ को स्वीकृति प्रदान की गई राज्य मंत्रिमंडल की बैठक में राज्य के शहरी क्षेत्रों में समग्र एकीकृत डेयरी परिसरों के विकास के लिए ब्लूप्रिंट तैयार करने के लिए गठित की गई हिसार को हस्तांतरित करने के पशुपालन एवं डेयरी विभाग के प्रस्ताव को स्वीकृति प्रदान की गई मंत्रिमंडल की बैठक में इलैक्ट्रोनिक्स एवं सूचना प्रौद्योगिकी विभाग का नाम बदल कर सूचना प्रौद्योगिकी, इलैक्ट्रोनिक्स एवं संचार विभाग रखने के प्रस्ताव को स्वीकृति प्रदान की गई मंत्रिमंडल की बैठक में हरियाणा खाद्य एवं औषधि प्रशासन विभाग, अधीनस्थ कार्यालय (ग्रुप डी) सेवा नियम, 2018 को स्वीकृति प्रदान की गई। राज्य मंत्रिमंडल की बैठक में हरियाणा खाद्य एवं औषधि प्रशासन विभाग, मुख्यालय (ग्रुप डी) सेवा नियम, 2018 को स्वीकृति प्रदान की गई मंत्रिमंडल की बैठक में स्वास्थ्य विभाग ने मुख्य औषधाकारक (चीफ फार्मेसिस्ट) के पद को राजपत्रित घोषित करने के लिए विभागीय सेवा नियमों में संशोधन करने की स्वीकृति प्रदान की गई उत्तर हरियाणा बिजली वितरण निगम (यूएचबीवीएन) को दिए जाने के लिए 625.93 करोड़ रुपये की राज्य सरकार की गारंटी देने की स्वीकृति प्रदान की