Tuesday, September 25, 2018
Follow us on
Haryana

सोनीपत के कुमासपुर गोशाला में बदइंतजामी की इंतहा ठंड और भूख ने ले ली 11 मवेशियों की जान

January 07, 2018 05:17 AM

COURSTEY NAV BHARAT TIMES  JAN 7

सोनीपत के कुमासपुर गोशाला में बदइंतजामी की इंतहा
ठंड और भूख ने ले ली 11 मवेशियों की जान

 

गोशाला में गोवंश कुछ दिनों से बीमार चल रहे थे जिससे मौत हो गई। सभी गोवंश को गोशाला में दफनाया गया है। चारा भी गोवंश की संख्या के हिसाब से ही डाला जा रहा है। समय-समय से पशु चिकित्सक भी गोशाला का राउंड लगाकर इलाज करते हैं। - विनोद नेहरा, कमिश्नर, नगर-निगम, सोनीपत
नाराज गोसेवकों ने करवाया मुंडन,भूख हड़ताल रखी
File•एक संवाददाता, सोनीपत

 

गाय की रक्षा करने का वादा कर सत्ता में आने वाली मनोहर सरकार के शासन में गोवंश लगातार भूख-प्यास और अव्यवस्था के कारण मर रहे हैं। एक नया मामला सोनीपत के गांव कुमासपुर स्थित गोशाला का आया है जहां ठंड व समय पर चारा न मिल पाने के कारण 11 गोवंश की मौत हो गईं।

गोवंश की मौत होने के बाद भी प्रशासन की तरफ से इनका पोस्टमॉर्टम नहीं कराया गया और उन्हें गोशाला में ही दफना दिया गया जिससे गोसेवकों में रोष बना हुआ है। शनिवार को गोसेवकों ने प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी की और 3 गोसेवकों ने अपना मुंडन करवाकर एक दिन की भूख हड़ताल की और मौके पर पहुंचे नगर निगम अधिकारी को मुंडन करवाए बाल सौंपते हुए गोवंश की रक्षा की मांग की।

हरियाणा गोसेवा आयोग चुप

पिछले कुछ दिनों से पड़ रही कड़ाके की सर्दी इन दिनों गोवंशों पर भारी पड़ रही है। सबसे दुखद यह है कि हरियाणा गोसेवा आयोग कोई कार्रवाई नहीं कर रहा। कुमासपुर गोशाला के बारे में बताया जा रहा है कि यहां चारे की भी पर्याप्त व्यवस्था नहीं है, जिससे गोवंश भूखे रहने को मजबूर है। वहीं, शीतलहर ने गोवंशों को बीमार कर दिया है। कड़ाके की सर्दी से बचने के लिए गोशाला में पर्याप्त शेड भी नहीं है जिससे गोवंश सर्द रातों में ठंड में ठिठुरने पर मजबूर हैं। वहीं, दूसरी तरफ नगर निगम अधिकारियों की मानें तो गोशाला में रहने वाली गायों के लिए बनाया गया शेड पर्याप्त है और उन्हें चारे संबंधी भी कोई परेशानी नहीं हैं।

करीब 1300 गोवंश हैं गोशाला में

गांव कुमासपुर स्थित गोशाला में 1300 गोवंश हैं, लेकिन शेड करीब 400 फीट ही बना हुआ है। इसके नीचे मुश्किल से 600 गोवंश ही आ पाते हैं। अन्य गोवंश सर्द रातों में खुले आसमान के नीचे ठिठुरते रहते हैं। इस कारण सर्दी गोवंशों के लिए जानलेवा साबित हो रही है।

कुमासपुर में गोवंश की देखभाल के लिए जिला प्रशासन की तरफ से नगर निगम की करीब 14 एकड़ जमीन पर गोशाला बनाने की मंजूरी दी गई थी। 22 सितंबर 2017 को गोशाला शुरू कर दी गई, लेकिन मवेशियों की हालत बद्दतर होती गई।

Have something to say? Post your comment
 
More Haryana News
हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल की अध्यक्षता में मंत्रिमण्डल की बैठक में बहुत सारी स्वीकृति प्रदान की गई
हरियाणा के राज्यमंत्री कृष्ण बेदी और मुख्यमंत्री के मीडिया सलाहकार राजीव जैन मंत्रिमंडल की बैठक में हुए फैसलों की जानकारी पत्रकारों को देते हुए
स्वच्छता ही सेवा पखवाड़े के तहत आज छोटा शिवाला अम्बाला छावनी वार्ड नम्बर 20 में सफाई अभियान चलाया गया प्रदेश में भारी बरसात जिस तरह किसानों पर आफत बन कर आई वो बेहद चिन्ता का विषय:पूर्व मुख्यमंत्री भूपेन्द्र सिंह हुड्डा मंगलवार को चंडीगढ़ में हरियाणा मंत्रिमंडल की बैठक हुई मौसम / पहाड़ों में बारिश में आई कमी, हथनीकुंड बैराज का जलस्तर घटा, हरियाणा में दोपहर बाद बारिश के आसार
हरियाणा सरकार ने राजेश खुल्लर सहित चार अफसरों को अतिरिक्त मुख्य सचिव बनाया
हिसार-सरकार बनने पर कारीगरों को देंगे ब्याज रहित कर्ज : सांसद सैनी सोनीपत-शहीद नरेन्द्र के घर पहुंचे सीएम, नौकरी के साथ 50 लाख रूपये की दी आर्थिक मदद रेवाड़ी-2 दिन की हड़ताल पर बिजली निगम के जेई, शक्ति भवन कार्यालय में दिया धरना