Wednesday, November 21, 2018
Follow us on
Haryana

फतेहाबाद के जिलाधीश डॉ. हरदीप सिंह ने जिला में स्थित डेरा सच्चा सौदा/नाम चर्चा घर में लोगों को इकट्ठा न होने की सख्त हिदायत दी

August 27, 2017 04:35 PM
फतेहाबाद के जिलाधीश डॉ. हरदीप सिंह ने जिला में स्थित डेरा सच्चा सौदा/नाम चर्चा घर में लोगों को इकट्ठा न होने की सख्त हिदायत दी है। डेरा सच्चा सौदा/नाम चर्चा घर में यदि व्यक्तियों की भीड़ लगती है तो संबंधित डेरा सच्चा सौदा/नाम चर्चा घर को सील कर दिया जाएगा और वहां इकट्ठा होने वाले व्यक्तियों के खिलाफ नियमानुसार मुकद्मा दर्ज कर उन्हें गिरफ्तार किया जाएगा। उन्होंने कहा कि जिला में 18 सितंबर, 2017 तक धारा 144 लागू की गई है। इसलिए किसी भी डेरा सच्चा सौदा/नाम चर्चा घर या अन्य किसी स्थान पर पांच या पांच से अधिक लोगों के एकत्रित होने या हथियार बंद होकर चलना धारा 144 की उल्लंघना है। उल्लंघना करने वाले किसी भी दोषी के विरूद्ध कानूनी कार्यवाही अमल में लाई जाएगी। 
जिलाधीश ने कहा कि जिला में हालात सामान्य है। इसलिए लोगों की सुविधा के लिए पैट्रोल पंप पर तेल आपूर्ति सुचारू कर दी गई है। लेकिन रात के समय तेल की आपूर्ति नहीं दी जाएगी। उन्होंने कहा कि 28 अगस्त (सोमवार) को डेरा मुखी से जुड़े मामले पर अंतिम फैसला आना है, इसलिए सोमवार को जिला में कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए और अधिक सख्त कदम उठाए जाने की तैयारियां कर ली गई है। पुलिस, अर्ध सैनिक बल व ड्यूटी मैजिस्टे्रट शहर में स्थापित किए गए विभिन्न नाकों पर तैनात है और किसी भी अप्रिय घटना से निपटने के लिए तैयार है। 
उन्होंने कहा कि सोमवार को जिला के सभी शिक्षण संस्थान एहतियात के दौर पर बंद रखने के निर्देश दिए गए है। शिक्षा विभाग के अधिकारी इन आदेशों की अनुपालना को सुनिश्चिश्त करेंगे। जिलाधीश ने कहा कि वे पंचकूला जिला प्रशासन तथा अन्य उच्चाधिकारियों से संपर्क बनाए हुए है और फतेहाबाद के रैडक्रॉस सचिव को पंचकूला में विशेष तौर पर भेजा गया है। उन्होंने कहा कि पंचकूला में लगभग 600 लोगों को हिरासत में लिया गया है। इसके अतिरिक्त कई घायलों को पंचकूला, चंडीगढ़ व नजदीक के अस्पतालों में ईलाज के लिए भर्ती करवाया गया है। डॉ. हरदीप सिंह ने कहा कि ताजा जानकारी के अनुसार पंचकूला व चंडीगढ़ के अस्पतालों में 27 अगस्त की सुबह तक 20 मृतकों का पोस्टमार्टम करवाया गया है। संतोष की बात है कि इनमें से कोई भी फतेहाबाद जिला का निवासी नहीं है। इसके अतिरिक्त जिला के जिन दो लोगों की 25 अगस्त को सिरसा में मृत्यु हुई थी, उनका पोस्टमार्टम करने उपरान्त शांतिपूर्वक तरीके से दाह संस्कार करवा दिया गया है।  
जिलाधीश ने कहा कि डेरा मामले में हुई हिंसा में जिस भी नागरिक की प्रोपर्टी का कोई नुकसान हुआ है, संबंधित व्यक्ति उस नुकसान के क्लेम के लिए निर्धारित प्रोफोर्मा को भरकर प्रशासन के पास जल्द से जल्द जमा करवाए। यह प्रक्रिया सरकारी, अर्ध सरकारी विभागों तथा गैर सरकारी संस्थानों के लिए लागू रहेगी। इसके लिए अतिरिक्त उपायुक्त डॉ. जेके आभीर को नोडल अधिकारी नियुक्त किया गया है। माननीय पंजाब एवं हरियाणा उच्च न्यायालय में सीडब्ल्यूपी नंबर 19086 ऑफ 2017 के अनुसार प्रशासन चार बिंदुओं पर कार्य कर रहा है। इसके तहत डेरा सच्चा सौदा/नाम चर्चा घर की संपत्ति/प्रोपर्टी की विस्तृत जानकारी, डेरा सच्चा सौदा/नाम चर्चा घर संपत्ति/प्रोपर्टी का कुल निर्मित भाग, डेरा सच्चा सौदा/नाम चर्चा घर के नाम पर कोई अन्य संपत्ति/प्रोपर्टी तथा डेरा सच्चा सौदा/नाम चर्चा घर से जुड़े बैंक खातों, उनमें जमा नगदी, बैंक का नाम और बैंक खाता संख्या के बारे में जानकारी इक्_ा की जा रही है। डेरा सच्चा सौदा/नाम चर्चा घर के प्रबंधकों को निर्धारित प्रोफोर्मा भरकर यह जानकारी जिला प्रशासन को उपलब्ध करवानी होगी। 
डॉ. हरदीप सिंह ने डेरा मामले में जिलावासियों द्वारा प्रशासन को दिए गए सहयोग के लिए एक बार फिर धन्यवाद किया और जिलावासियों से आगे भी शंाति बनाए रखने में अपना सहयोग जारी रखने की अपील की।
Have something to say? Post your comment