अगले 72 घंटे के लिए पंजाब, हरियाणा और चंडीगढ़ में बस सेवाएं पूरी तरह ठप करने के निर्देशरिजर्व बैंक कल करेगा 200 रुपये के नोट जारीक्यों न हरियाणा के DGP को बर्खास्त किया जाए: हाईकोर्टअश्विनी लोहानी ने रेलवे बोर्ड के नए चेयरमैन का पदभार संभाला पंजाब और हरियाणा में इंटरनेट सेवा पर रोक लगी हरियाणा सरकार ने पुलिस मुख्यालय, सेक्टर-6, पंचकुला में राज्य स्तरीय दंगा नियंत्रण केंद्र की स्थापना की:विनोद कुमार पुलिस अधीक्षक जम्मू-कश्मीर: त्राल में स्कूल बस दुर्घटनाग्रस्त, कई छात्र घायल पंजाब रोडवेज ने हरियाणा जाने वाली अपनी सभी बसों के रूट रद्द किए हरियाणा: हिसार कोर्ट में आज सुनाया जाएगा संत रामपाल पर फैसला हरियाणा-पंजाब में हाई अलर्ट, BSF और CRPF तैनात
हरियाणा

राष्टï्रीय स्वास्थ्य मिशन, हरियाणा ने गर्भवती महिलाओं के स्वास्थ्य तथा नवजात शिशुओं की देखभाल बारे जागरूकता उत्पन्न करने के लिए एक मोबाइल आधारित एप ‘किलकारी’ शुरू की है और स्वास्थ्य प्रबंधन सूचना प्रणाली में नए डाटा तत्व शामिल किए

April 21, 2017 06:16 PM

राष्टï्रीय स्वास्थ्य मिशन, हरियाणा ने गर्भवती महिलाओं के स्वास्थ्य तथा नवजात शिशुओं की देखभाल बारे जागरूकता उत्पन्न करने के लिए एक मोबाइल आधारित एप ‘किलकारी’ शुरू की है और स्वास्थ्य प्रबंधन सूचना प्रणाली में नए डाटा तत्व शामिल किए हैं। 
    राष्टï्रीय स्वास्थ्य मिशन, हरियाणा के एक प्रवक्ता ने आज यह जानकारी देते हुए बताया कि इन कार्यक्रमों के बारे जागरूकता उत्पन्न करने के लिए राज्य स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण संस्थान, सैक्टर-6 पंचकूला में तीन दिवसीय राज्य स्तरीय उन्मुखी कार्यशाला का आयोजन किया गया, जिसमें प्रदेश के 21 जिलों से मिशन के उप-सिविल सर्जन(राष्टï्रीय स्वास्थ्य मिशन), जिला कार्यक्रम प्रबंधक और जिला निरीक्षण एवं आकलन अधिकारियों ने भाग लिया। प्रशिक्षण के उपरांत ये प्रतिभागी जिला, खंड एवं स्वास्थ्य केन्द्र स्तर पर स्वास्थ्य कर्मचारियों को प्रशिक्षण प्रदान करने के लिए मास्टर प्रशिक्षक के रूप में कार्य करेंगे।
    उन्होंन बताया कि प्रसूति पूर्व देखभाल, संस्थागत प्रसूति, प्रसूति उपरांत देखभाल तथा टीकाकरण बारे गर्भवती महिलाओं, अभिभावकों तथा क्षेत्रीय वर्कर्स में जागरूकता उत्पन्न करने के लिए मोबाइल आधारित एप ‘किलकारी’ शुरू की गई है। इस एप के माध्यम से पंजीकृत मोबाइल नम्बरों पर परिवार को गर्भावस्था की दूसरी तिमाही से बच्चे के एक वर्ष का होने तक गर्भावस्था, शिशु जन्म और शिशु देखभाल बारे साप्ताहिक और उचित समय पर नि:शुल्क 72 ऑडियो संदेश भेजे जाते हैं।
    उन्होंने बताया कि स्वास्थ्य देखभाल के विषयगत क्षेत्रों में नए एवं संशोधित डाटा तत्व शामिल किए गए हैं। प्रसुति पूर्व देखभाल के क्षेत्र में 180 आयरन फॉलिक ऐसिड गोलियां एवं 360 केल्शियम गोलियां, 400एमजी एबेंडाजोल गोलियां, गर्भकालीन मधुमेह वाली गर्भवती महिला को शामिल किया गया है। बाल स्वास्थ्य में विटामिन ‘के’ (जन्म खुराक), आईपीवी और रोटावायरस को शामिल किया गया है।
    उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य प्रबंधन सूचना प्रणाली पोर्टल में नए डाटा तत्वों को शामिल किए जाने से निरीक्षण एवं आकलन के लिए और अधिक स्वास्थ्य कार्यक्रमों को कवर किया जा सकेगा। अग्रिम पंक्ति के वर्कर्स द्वारा निचले स्तर पर सेवाएं उपलब्ध करवाने से निरीक्षण का कार्य सरल होगा। इसके अतिरिक्त, शामिल किए गए नए डाटा तत्व सेवा निष्पादन के अंतर का विशलेषण करने में मदद करेंगे, जिससे इस अंतर को पाटने तथा सेवा निष्पादन को और अधिक सुदृढ़ करने के लिए प्रणाली को अधिक सुविधाओं से लैस करने में मदद मिलेगी।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
और हरियाणा ख़बरें
अगले 72 घंटे के लिए पंजाब, हरियाणा और चंडीगढ़ में बस सेवाएं पूरी तरह ठप करने के निर्देश राम रहीम ने की शांति बनाए रखने की अपील मैं कानून का सम्मान करता हूं: राम रहीम पंजाब और हरियाणा में इंटरनेट सेवा पर रोक लगी हरियाणा सरकार ने पुलिस मुख्यालय, सेक्टर-6, पंचकुला में राज्य स्तरीय दंगा नियंत्रण केंद्र की स्थापना की:विनोद कुमार पुलिस अधीक्षक राम रहीम पर फैसला आने से पहले गृह मंत्रालय ने अर्धसैनिक बलों की 167 कपनियां भेजीं पंजाब रोडवेज ने हरियाणा जाने वाली अपनी सभी बसों के रूट रद्द किए हरियाणा: हिसार कोर्ट में आज सुनाया जाएगा संत रामपाल पर फैसला 25 को होने वाली हिन्दी ज्ञान प्रतियोगिता का समय बदला, अब 30 अगस्त को होगी प्रतियोगिता हरियाणा-पंजाब में हाई अलर्ट, BSF और CRPF तैनात
लोकप्रिय ख़बरें
Visitor's Counter :   0034813085
Copyright © 2016 AAR ESS Media, All rights reserved. Website Designed by mozart Infotech