हरियाणा

सोनू के ट्वीट पर पड़ोसी बोले; 'सोनू तुम बिल्कुल ठीक हो, हम तुम्हारे साथ हैं'

April 21, 2017 06:27 AM

COURSTEY DAINIK BHASKAR APRIL21
सोनू के ट्वीट पर पड़ोसी बोले; 'सोनू तुम बिल्कुल ठीक हो, हम तुम्हारे साथ हैं'
सोनू के ट्वीट पर पड़ोसी बोले; 'सोनू तुम बिल्कुल ठीक हो, हम तुम्हारे साथ हैं'
गायक सोनू निगम फरीदाबाद के नेशन हट में पैदा हुए थे, उन्होंने अपना पुश्तैनी मकान एक ट्रस्ट को दान कर दिया था
भास्कर न्यूज | फरीदाबाद


धार्मिकस्थलों पर लाउडस्पीकर बजाए जाने के मुद्दे पर ट्वीट देने वाले प्रसिद्ध गायक सोनू निगम के पड़ोसियों की प्रतिक्रिया है कि 'सोनू तुम बिल्कुल ठीक हो, हम तुम्हारे साथ है।' सोनू के बचपन के दोस्त जितेंद्र ने कहा कि कट्‌टरपंथी सोच सिर्फ सियासी उद्देश्यों की पूर्ति तक ही सीमित होती है। पड़ोसियों ने उन लोगों के खिलाफ गुस्सा भी जाहिर किया, जो सोनू के विरोध में अनर्गल बयानबाजी कर रहे हैं। बता दें, गायक सोनू निगम फरीदाबाद के नेशन हट में पैदा हुए थे। उन्होंने अपना पुश्तैनी मकान एक ट्रस्ट को दान कर दिया था। वे अक्सर फरीदाबाद में अपने पुराने मित्रों से मिलने आते रहते हैं।
मोहल्लेवालों ने टेलीविजन पर देखी थी न्यूज : सोनूनिगम के धार्मिक स्थलों पर लाउडस्पीकर बजाने को लेकर हुए ट्वीट के बाद यह मुद्दा गरमा गया। सोनू का यह कहना कि केवल मस्जिद ही नहीं मंदिर, गुरुद्वारे और अन्य धार्मिक स्थलों, धार्मिक आयोजनों, अनुष्ठानों, कार्यक्रमों में लाउडस्पीकर द्वारा शोर किए जाने से केवल मनुष्य ही नहीं पशु-पक्षी भी व्यथित और प्रभावित होते हैं। समर्थन करते हुए उनके बचपन के दो दोस्तों ने उन्हें फोन भी किया और चिंतित होने की बात कही।
^सोनू और मैं दोनों साथ पढ़ते थे। हम यहां खेलते थे। खेलते हुए हम लोग नेशन हट से दशहरा ग्राउंड पहुंच जाया करते थे। सोनू का हमारे यहां अब भी आना जाना लगा रहता है। सोनू ने अपना पुश्तैनी मकान ट्रस्ट को दे दिया है, ताकि वह मकान को देखने आता-जाता रहे। -राकेशबहल, निवासी, नेशन हट।
^सोनू बचपन में चेहरे से ही बड़ा मासूम दिखता था। जैसे और बच्चों में शरारती बातें थीं, वैसी सोनू में नहीं थीं। सोनू ने लाउडस्पीकर के मुद्दे पर बहुत अच्छा बोला है। वह ठीक है, कौन से ग्रंथ में ऐसा लिखा है कि शोर मचाकर भगवान की इबादत करो। -हरपाल,निवासी, नेशन हट।
पिता अगम निगम को था गायन का शौक
नेशनहट में रहने वाले जितेंद्र सिंह ने बताया कि सोनू उनके बचपन का साथी है। जितेंद्र के पिता और सोनू के पिता अगम निगम भी आपस में दोस्त रहे हैं। अगम निगम को गायन का शौक था। अपने इस शौक के कारण कई बार उन्हें घर में अपने पिता से डांट खानी पड़ती थी। दरअसल, 1960 के दशक में दो जून की रोटी के लिए लोग तरसते थे। ऐसे में अगम के गाने का शौक उनके माता-पिता को अच्छा नहीं लगता था। अगम के विवाह के बाद सोनू का जन्म 30 जुलाई 1973 को नेशन हट में हुआ था। भारत-पाकिस्तान बंटवारा होने के बाद शरणार्थी के तौर पर भारत आए सोनू निगम के दादा नेशन हट्स में रहते थे। यहां पीपल का वह पेड़ आज भी है, जहां सांझा चूल्हे के रूप में एक तंदूर लगता था। पूरे मोहल्ले की रोटी वहीं पकती थीं। सभी पेड़ के नीचे बैठकर खाया करते थे।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
Visitor's Counter :   0035737864
Copyright © 2016 AAR ESS Media, All rights reserved. Website Designed by mozart Infotech