हरियाणा

5 सालों से फ्लैट के लिए धक्के खा रहे 700 बायर्स-यूनिटेक बिल्डर ने 500 करोड़ लेकर नहीं दिए बायर्स को फ्लैट, शिकायत पर भी नहीं हो रही कार्रवाई

April 21, 2017 06:17 AM

COURSTEY DAINIK BHASKAR APRIL21
5 सालों से फ्लैट के लिए धक्के खा रहे 700 बायर्स
यूनिटेक बिल्डर ने 500 करोड़ लेकर नहीं दिए बायर्स को फ्लैट, शिकायत पर भी नहीं हो रही कार्रवाई
भास्कर न्यूज | गुड़गांव


यूनिटेकके एमडी चंद्रा के भाइयों की रिहाई के बाद बायर्स ने मोर्चा खोल दिया है। बिल्डर की ठगी के शिकार बायर्स का आरोप है कि 500 करोड़ रुपए लेने के बाद भी बिल्डर ने 700 लोगों को फ्लैट पर कब्जा नहीं दिया। वे लोग बिल्डर ऑफिस का पांच सालों से चक्कर लगा रहे हैं, लेकिन उनकी सुनवाई नहीं हो रही है। जिला प्रशासक से भी कई बार शिकायत की, लेकिन बिल्डर पर कार्रवाई नहीं की गई, जब चंद्रा भाइयों पर कार्रवाई हुई तो उन्हें भी रिहा कर दिया गया। लोगों ने पुलिस की कार्यशैली पर सवाल उठाए हैं।
सनब्रीजीजप्रोजेक्ट के नाम पर 500 करोड़ लिए
यूनिटेकबिल्डर ने साल 2009 में सेक्टर-69 में सनब्रीजीज प्रोजेक्ट लांच किया था। इसमें 700 लोगों ने फ्लैट बुक कराए थे। इसमें करीब 500 करोड़ रुपए लिया गया और तीन साल में सभी को फ्लैट पर कब्जा देने का एग्रीमेंट था। बिल्डर की ओर से लोगों को भरोसा दिलाया गया था कि एग्रीमेंट के अनुसार फ्लैट पर कब्जा नहीं दिया तो सभी को मूल राशि पर ब्याज दिया जाएगा, लेकिन ऐसा नहीं हो सका। पांच साल से अधिक समय बीतने के बाद किसी भी बायर्स को फ्लैट पर कब्जा नहीं मिला।
90फीसदी कर चुके हैं लोग भुगतान
सेक्टर-56निवासी टेलीकाम कंपनी के अधिकारी दिप्तीकांत मिश्रा ने कहा कि अधिकांश खरीदारों ने 90% धनराशि का भुगतान किया है। यूनिटेक अब तक फ्लैट डिलीवरी के झूठे वादे कर रहा है। गुड़गांव निवासी मनोज सागर ने कहा कि चंद्रा के भाइयों की गिरफ्तारी के बाद उन्हें लगा था कि लोगों को या तो पैसा मिलेगा या फिर फ्लैट, लेकिन कोर्ट से जमानत के बाद उनकी उम्मींदों पर पानी फिर गया है। लोगों ने सरकार से मांग की है कि चंद्रा भाइयों को दोबारा गिरफ्तार कर उनके रुपए ब्याज सहित लौटाए जाएं।
गुड़गांव. सेक्टर-69में अधूरा पड़ा यूनिटेक बिल्डर्स का प्रोजेक्ट।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
Visitor's Counter :   0035737836
Copyright © 2016 AAR ESS Media, All rights reserved. Website Designed by mozart Infotech