हरियाणा

HARYANA-अफसर पूछेंगे आपसे, मे आइ हेल्प यू

April 21, 2017 06:14 AM

COURSTEY DAINIK JAGRAN
अफसर पूछेंगे आपसे, मे आइ हेल्प यू
सुविधा

अनुराग अग्रवाल’ चंडीगढ़ 1हरियाणा में जिला स्तर पर बने लघु सचिवालयों की तस्वीर अब बदली-बदली नजर आएगी। प्राइवेट दफ्तरों और बैंकों की तरह सचिवालयों में भी एंट्री करते ही आपको एक हेल्प डेस्क नजर आएगी, जहां लिखा होगा ‘मे आई हेल्प यू’ (मैं आपकी क्या सेवा कर सकता हूं)। 1हेल्प डेस्क पर समस्या सुनने के बाद आपको सलाह दी जाएगी कि इसके समाधान के लिए कौन अधिकारी पात्र है और वह कहां बैठता है। सिरसा में इस पायलट प्रोजेक्ट के अच्छे नतीजे सामने आने के बाद सरकार ने हर जिले में सचिवालयों के भीतर हेल्प डेस्क खोलने का सैद्धांतिक निर्णय लिया है। 1 हेल्प डेस्क डीसी आफिस के अधीन काम करेगी। डीसी खुद इसकी मानीटरिंग करेंगे। हेल्प डेस्क पर तीन अधिकारी या कर्मचारी तैनात रहेंगे, जो लोगों से उनकी समस्याओं की प्रवृत्ति के बारे में जानकारी हासिल करने के बाद उन्हें पर्ची पर लिखकर यह बताएंगे कि संबंधित अधिकारी सचिवालय के कौन से फ्लोर के किस कमरा नंबर में बैठता है और उसका नाम क्या है। 1अभी तक हर तरह की समस्या के समाधान के लिए लोग सीधे डीसी या एसपी के पास पहुंचते हैं। डीसी और एसपी भी दूसरे विभागों से जुड़ी समस्या को मार्क कर आगे भेज देते हैं। हेल्प डेस्क का फायदा यह होगा कि शिकायतकर्ता सीधे उस अधिकारी के पास पहुंच सकेगा, जहां से उसका काम होना है। हेल्प डेस्क से मिलने वाली पर्ची के आधार पर अधिकारी पर समस्या के समाधान का नैतिक दबाव अलग से होगा। यह पर्ची हेल्प डेस्क पर रजिस्ट्रेशन के बाद ही जारी की जाएगी। 1 यदि कोई अधिकारी छुट्टी पर है तो संबंधित व्यक्ति को जानकारी दी जाएगी कि उसे कब दोबारा आना है। सिरसा में कार्यरत सुशासन सहयोगी वर्षाली खंडेलवाल के सहयोग से डीसी शरणदीप कौर ने इस प्रोजेक्ट का उम्दा इस्तेमाल किया है। अभी तक करीब साढ़े चार हजार लोग हेल्प डेस्क के माध्यम से रजिस्ट्रेशन कराकर अपनी समस्या का समाधान करा चुके हैं। 1सिरसा के बाद सोनीपत, कैथल, रोहतक, रेवाड़ी और फतेहाबाद जिलों में भी हेल्प डेस्क की परिकल्पना पर काम किया गया, जिसके अच्छे नतीजे आए। सीएम के अतिरिक्त प्रधान सचिव डा. राकेश गुप्ता ने मुख्यमंत्री मनोहर लाल को इस परियोजना की जानकारी दी तो उन्होंने हर जिला सचिवालय में लागू करने की मंजूरी प्रदान कर दी। अगले दो माह के भीतर हर जिला सचिवालय में हेल्प डेस्क खोलने की योजना है।’ हर लघु सचिवालय में हेल्प डेस्क बनाने की तैयारी 1’सिरसा से अच्छे नतीजे आने पर सीएम ने दी मंजूरीपरियोजना से लोगों को बड़ा फायदा होगा। हेल्प डेस्क आम लोगों की समस्याओं के समाधान का बड़ा जरिया बनेगी। मुख्यमंत्री जी ने हर जिले के लघु सचिवालय में हेल्प डेस्क खोलने की अनुमति प्रदान की है। 1डा. राकेश गुप्ता, अतिरिक्त प्रधान सचिव, मुख्यमंत्री

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
Visitor's Counter :   0035737884
Copyright © 2016 AAR ESS Media, All rights reserved. Website Designed by mozart Infotech