अगले 72 घंटे के लिए पंजाब, हरियाणा और चंडीगढ़ में बस सेवाएं पूरी तरह ठप करने के निर्देशरिजर्व बैंक कल करेगा 200 रुपये के नोट जारीक्यों न हरियाणा के DGP को बर्खास्त किया जाए: हाईकोर्टअश्विनी लोहानी ने रेलवे बोर्ड के नए चेयरमैन का पदभार संभाला पंजाब और हरियाणा में इंटरनेट सेवा पर रोक लगी हरियाणा सरकार ने पुलिस मुख्यालय, सेक्टर-6, पंचकुला में राज्य स्तरीय दंगा नियंत्रण केंद्र की स्थापना की:विनोद कुमार पुलिस अधीक्षक जम्मू-कश्मीर: त्राल में स्कूल बस दुर्घटनाग्रस्त, कई छात्र घायल पंजाब रोडवेज ने हरियाणा जाने वाली अपनी सभी बसों के रूट रद्द किए हरियाणा: हिसार कोर्ट में आज सुनाया जाएगा संत रामपाल पर फैसला हरियाणा-पंजाब में हाई अलर्ट, BSF और CRPF तैनात
पंजाब समाचार

PUNJAB-रोडवेज को नौ वर्षो में लगी 370 करोड़ की चपत

April 19, 2017 06:07 AM

COURSTEY DAINIK JAGRAN APRIL19

अमीरों को फायदा, गरीबों की जेब काटी 1पंजाब सरकार ने 16 दिसंबर 2016 को नया नोटीफिकेशन जारी कर ऑर्डिनरी बसों का रोड टैक्स 2.75 रुपये प्रति किलोमीटर, एसी बसों का 1.62 रुपये प्रति किलोमीटर निर्धारित कर दिया। रोडवेज मुलाजिमों की साझा एक्शन कमेटी के कन्वीनर सुरिंदर सिंह का आरोप है कि बादल सरकार ने निजी फायदे के लिए रोडवेज को खत्म करने का काम किया है। पूर्व ट्रांसपोर्ट डायरेक्टर मनदीप सिंह तो सिर्फ मोहरे हैं। कैप्टन सरकार को इस पूरे घोटाले की जांच सीबीआइ से करानी चाहिए, ताकि अरबों के इस घोटाले के असली सूत्रधारों को पकड़ा जा सके।1
बदली नीति से निजी बस ऑपरेटरों को फायदा नहीं1सरकार फायदे के आधार पर काम नहीं करती। उसकी कोशिश जनता को ज्यादा से ज्यादा सुविधाएं देने की होती है, बदली नीति से निजी बस ऑपरेटरों को फायदा नहीं मिला वे भी रो रहे हैं।1-अजीत सिंह कोहाड़, पूर्व ट्रांसपोर्ट मिनिस्टर11हम तो सरकार के आदेश पर काम करते हैं, नीतियां तो सरकार बनाती है। रोड टैक्स कम करने पर रोडवेज की बसें चलतीं, तो एसी बसों का लाभ रोडवेज को मिलता, लेकिन निजी ऑपरेटरों ने एसी बसें लाकर वो लाभ खुद ले लिया।1-हरचरण सिंह, सुपरिंटेंडेंट पॉलिसी, पंजाब रोडवेज, चंडीगढ़
अधिकारियों की मिलीभगत से हळ्आ ये सारा काम : मास्टर मोहन लाल1तत्कालीन परिवहन मंत्री मास्टर मोहनलाल का कहना है कि नई नीति रोडवेज को उस समय 262 करोड़ रुपये के घाटे से उबारने के लिए बनाई गई थी। इसका फायदा सरकारी बसों को मिलना था। मैंने घाटा कम करके 50 करोड़ रुपये तक ला दिया था, लेकिन रोडवेज के अधिकारियों ने मिलकर इसका फायदा एक परिवार को पहुंचाया। इसमें किसी भी स्तर पर जांच करा ली जाए, वह इसके लिए तैयार हैं। गड़बड़ी उन्होंने या भाजपा ने नहीं की है।1
2007 में था 1800 बसों का फ्लीट12007 में रोडवेज बसों के बेड़े में पीआरटीसी को शामिल कर 1800 बसों का फ्लीट था। निजी बसों का परमिट लगभग 4000 हजार बसों का था, लेकिन सड़क पर लगभग 6000 बसें दौड़ रही थीं। एसी बस उस समय सिर्फ चंडीगढ़ डिपो में थीं। वर्तमान में रोडवेज बसों का आंकड़ा लगभग वही है, निजी आपरेटरों की एसी बसें 500 से ज्यादा चल रही हैं। 73 इंटीगेट्रिड कोच हैं, वह भी निजी बसों की हैं। निजी बसों की संख्या लगभग पांच हजार के करीब पहुंच गई है, जबकि बिना परमिट वाली बसों का आंकड़ा बढ़ा है।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
और पंजाब समाचार ख़बरें
पंजाब सीएम का गृहमंत्री को खत, पैरा मिलिट्री फोर्स की 256 कंपनी की डिमांड 641 ATM cards, Rs 1 crore fraudulently taken out in 4 years; 5 held लुधियाना पुलिस ने एक गिरोह को 641 एटीएम कार्ड, 300 पास बुक और चेक बुक के साथ पकड़ा Clean chit to Capt in City Centre scam डेराबस्सी के नजदीक घग्गर नदी में आई बाढ़ में फंसे एक युवक को बचाने का प्रयास करते हुए पुलिस कर्मी व अन्य लोग अटारी-वाघा बॉर्डर पर भारत-पाकिस्तान बॉर्डर गार्ड्स ने एक दूसरे को दी बधाई, बांटीं मिठाइयां बेटे के सामने ऐसे 5 सेकेंड में हंसते-हंसते चली गई पिता की जान अमृतसरः वाघा बॉर्डर पर बीएसएफ के जवानों के साथ महिलाओं ने मनाया रक्षाबंधन का त्योहार अमृतसर: बाघा बॉर्डर पर बच्चों ने गुरुवार को बीएसएफ जवानों के साथ मनाया रक्षा बंधन कंट्रोवर्सी के बाद सुरेश कुमार ने की इस्तीफे की पेशकश
लोकप्रिय ख़बरें
Visitor's Counter :   0034813058
Copyright © 2016 AAR ESS Media, All rights reserved. Website Designed by mozart Infotech