सोनिया गांधी ने राष्ट्रपति पद के लिए मीरा कुमार के नाम का ऐलान कियाआरक्षण की मांग को लेकर जाटों ने अलवर-मथुरा रेल मार्ग किया जाम राम कोविंद के नाम पर कोई संपर्क और सलाह मशविरा नहीं किया: लालू यादवस्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने सिविल अस्पताल अम्बाला छावनी के आपातकालीन खण्ड का किया उदघाटनकेंद्रीय हाउसिंग मिनिस्ट्री ने यूपी के गरीबों के लिए 70 हज़ार मकान बनाने के प्रस्ताव को मंजूरी दीJ&K: कुपवाड़ा में घुसपैठ की कोशिश हुई विफल, दो आतंकी ढेर ग्रामीण हरियाणा की 6205 ग्राम पंचायतें खुले में शौच से मुक्त की गई:ओम प्रकाश धनखड़J&K : पुंछ के खारी करमारा में पाकिस्तान ने किया सीजफायर उल्लंघन, जवाबी हमले जारी दिल्ली: ताहिरपुर में सनकी बाप ने तांत्रिक विद्या के तहत 2 वर्षीय बेटी के कान काटे, हुआ गिरफ्तारसिक्किम के मुख्यमंत्री पवन चामलिंग ने अलग गोरखालैंड की मांग का समर्थन किया
पंजाब समाचार

अकाली सरकार के बनाए कमीशन की नजर में कोई दोषी नहीं, एजी की राय-नया कमीशन बनाया जाए

April 10, 2017 05:36 AM

courstey  DAINIKBHASKAR  APRIL10

अकाली सरकार के बनाए कमीशन की नजर में कोई दोषी नहीं, एजी की राय-नया कमीशन बनाया जाए
भास्कर: इतना बड़ा कांड और आपकी रिपोर्ट में कोई दोषी नहीं? जस्टिस जोरा: घटनाएं सामूहिक थीं, व्यक्ति विशेष ने नहीं की
बात
सीधी
बेअदबी की जांच भी बेअदबी से... कैप्टन के कानूनी जनरल ने जस्टिस जोरा की रिपोर्ट को किया खारिज
हरीश मानव | चंडीगढ़


पंजाबकेनए एडवोकेट जनरल अतुल नंदा का मानना है कि श्री गुरुग्रंथ साहिब की बेअदबी की घटनाओं की जांच ही बड़ी 'बेअदबी' से हुई है। इसलिए पूरी जांच नए सिरे से होनी चाहिए, जिसके लिए नया कमीशन बनना चाहिए। नंदा ने अकाली-भाजपा सरकार द्वारा गठित जस्टिस जोरा कमीशन की जांच में खामियां निकालते हुए कैप्टन सरकार को राय दी है कि इसके आधार पर कार्रवाई की जाए, क्योंकि यह वेग है। एजी ने लिखा है कि जस्टिस जोरा कमीशन की रिपोर्ट भी कहती है कि बेअदबी और इसके खिलाफ उठे विरोध को कुचलने के लिए सरकार-पुलिस ने सही तरीके से काम नहीं किया। साथ ही किसी को दोषी भी नहीं बताया गया है। ये तो माना है कि इन घटनाओं के पीछे कुछ बड़े लोग हैं, लेकिन उनके नाम नहीं बताए गए। कमीशन ने रिपोर्ट में सिर्फ यह कहकर बात खत्म कर दी कि बहबलकलां में पुलिस फायरिंग सेल्फ डिफेंस में नहीं, अनवारेंटेड थी। रिपोर्ट में 'पुलिस फायरिंग', 'कुछ पुिलस अफसर' जैसे शब्दों का इस्तेमाल किया गया है, पर यह साफ नहीं किया गया है कि कौन सा अफसर, कौन-कौन से पुिलसकर्मी। इसलिए जांच ही नए सिरे से होनी चाहिए। बेअदबी की घटनाओं पर कार्रवाई के लिए कैप्टन सरकार ने ही एजी से राय मांगी थी कि आगे क्या होना चाहिए। -शेष पेज3 पर
जस्टिस जोरा सिंह
{नए एजी ने आपकी रिपोर्ट को वेग बताते हुए खारिज कर दिया है। आपका क्या कहना है?
-मेरीऑब्जर्वेशन बिल्कुल सही है। नई सरकार के नए एजी कुछ भी कर सकते हैं।
{एजीने आपकी रिपोर्ट पर सवाल उठाते हुए कहा है कि बरगाड़ी कांड में किसी को दोषी नहीं ठहराया गया। फायरिंग करने वाले अफसरों-कर्मियों के नाम तक नहीं लिखे गए?
-मामलाबेहद संवेदनशील है। इसलिए कोई सनसनी नहीं फैलाई गई। ये व्यक्ति विशेष द्वारा की गई घटना नहीं, बल्कि सामूहिक घटानाएं हैं।
{फरीदकोटके गांव बुर्ज जवाहरसिंहवाला के गुरुद्वारे से बीड़ चोरी की घटना में शामिल लोगों के स्कैच गवाहों से बात किए बगैर ही बना दिए गए। इतनी बड़ी लापरवाही कैसे हो गई?
-मुझेयाद नहीं कि क्या हुआ था।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
और पंजाब समाचार ख़बरें
दिनदहाड़े मॉल के बाहर चली गोलियां, जान बचाने दौड़े लोग पंजाब विधानसभा में हंगामा, झड़प के दौरान AAP के 4 विधायक बेहोश Some hits and some misses for AAP in unfamiliar role of Opposition in Punjab पंजाब: बरनाला में एक गांव की फैक्ट्री में ब्लास्ट, तीन मजदूरों की मौत पंजाबः स्वामीनाथन रिपोर्ट को लागू करने और कर्जमाफी की मांग को लेकर लुधियाना में एनएच-1 पर प्रदर्शन कर रहे किसान PUNJAB : ‘I am confident we will be revenue-surplus in 4 years’ दिल्ली-लाहौर 'सदा ए सरहद' सेवा की बस पंजाब के जहांखेला गांव के पास एस्कॉर्ट कर रहे वाहन से टकराई, कई पुलिसकर्मी घायल। Punjab CM Amarinder Singh announces crop loan waiver for small and marginal farmers पंजाब कैबिनेट ने पास किया अमेंडमेंट, अब हाईवे स्थित होटल और रेस्तरां परोस सकेंगे शराब पंजाब सरकार ने छोटे किसानों का 2 लाख रुपये तक का कर्ज माफ किया, बड़े किसानों को भी 2 लाख रुपये तक की कर्जमाफी
लोकप्रिय ख़बरें
Visitor's Counter :   0033294596
Copyright © 2016 AAR ESS Media, All rights reserved. Website Designed by mozart Infotech