हैदराबाद: तेलगू अभिनेता रवि तेजा के भाई भरत राज की सड़क हादसे में मौत छत्तीसगढ़: महासमुंद में कर्ज की वजह से किसान की आत्महत्याहॉकी वर्ल्ड लीग सेमीफाइनल में कनाडा ने भारत को 3-2 से हरायाराष्ट्रपति पद के उम्मीदवार रामनाथ कोविंद लखनऊ पहुंचेब्रिटेन: न्यूकास्टल शहर में बेकाबू कार ने राहगीरों को रौंदा, 6 लोगों की मौतक्रिकेट: भारत और वेस्टइंडीज में दूसरा वनडे आज शाम 6:30 बजे सेचीन में योग कार्यक्रम में 10,000 लोगों ने हिस्सा लियाहरियाणा में स्वर्ण जंयती सांझी साईकिल योजना को अब गांव स्तर पर भी लागू किया जाएगाहरियाणा सरकार ने आज तुरंत प्रभाव से तीन एचसीएस अधिकारियों के स्थानांतरण एवं नियुक्ति आदेश जारी कियेगुजरात के वलसाड में भारी बारिश से बाढ़ जैसे हालात
हरियाणा

हरियाणा में खट्टर सरकार द्वारा पेश किये गए पूंजी निवेश व रोजगार संबधी दावे खोखले --पी पी कपूर

September 26, 2016 12:19 PM
हरियाणा में खट्टर सरकार द्वारा पेश किये गए पूंजी निवेश व रोजगार संबधी दावे खोखले --पी पी कपूर

चंडीगढ़:आरटीआई के तहत उद्योग एवं वाणिज्य विभाग के महानिदेशक कार्यालय से प्राप्त सूचना अनुसार बड़े व मध्यम स्तर की परियोजनाओं में हुड्डा सरकार से खट्टर सरकार बुरी तरह पिछड़ी है। परियोजनाओं की स्थापना, पूंजी निवेश व रोजगार देने के मामलों में खट्टर सरकार के तमाम दावे खोखले व फ्लॉप शो साबित हुए हैं। मार्च 2016 को गुडग़ांव में सम्पन्न हैपनिंग हरियाणा गलोबल इन्वैस्टर्स सम्मिट-2016 पर कुल कितना खर्च हुआ, इसकी सूचना 6 महीने बीत जाने पर भी सरकार के पास नहीं है। कुल कितना पूंजी निवेश होगा, कब होगा, कितने रोजगार मिलेंगे, कब तक मिलेंगे? इन सवालों के गोल-मोल जवाब दे कर पल्ला झाड़ लिया गया है। खट्टर सरकार ये भी नहीं बता पाई कि दस वर्ष के हुड्डा शासन काल में कुल कितना पूंजी निवेश हुआ और कुल कितने लोगों कव् रोजगार मिला। राज्य सूचना आयुक्त समीर माथुर ने पूरी सूचनाएं ना देने पर हरियाणा राज्य औघोगिक संरचना एवं विकास निगम लिमिटेड के उपमहाप्रबंधक को 28 सितंबर को तलब किया है। इस केस की सुनवाई 28 सितम्बर को चंडीगढ़ में राज्य सूचना आयुक्त समीर माथुर करेंगे।आरटीआई एक्टिविस्ट पीपी कपूर ने बताया कि गत वर्ष 2 नवम्बर को उन्होंने आरटीआई लगाकर सरकार से पूछा था कि पूर्व मुख्यमंत्री भूपेन्द्र सिंह हुड्डा के 10 वर्ष के शासन काल व वर्तमान मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर के कार्यकाल में कुल कितना पूंजी निवेश हुआ? कितने लोगों को रोजगार मिला है? कितने कर्मचारी हटाए गए हैं? इन दोनों के विदेशी दौरों पर कुल कितना खर्च हुआ। गत 26 अप्रैल को आरटीआई के तहत पूछा कि मार्च 2016 को गुडग़ांव में सम्पन्न हुए हैपनिंग हरियाणा ग्लोबल सम्मिट-2016 पर कुल कितने धनराशि खर्च हुई, इससे कितना पूंजी निवेश, कब तक होगा? कितने रोजगार मिलेंगे व कब तक मिलेंगे?महानिदेशक, उद्योग एवं वाणिज्य विभाग के राज्य जन सूचना अधिकारी द्वारा पीपी कपूर को 29 अगस्त के पत्र से दी सूचनाओं ने खट्टर सरकार के तमाम दावों की पोल खोल दी है। प्राप्त सूचना अनुसार जहां हुड्डा शासन काल में वर्ष 2005-06 से 2013-14 तक कुल 407 परियोजनाएं लगी, इनमें 25816.08 करोड़ रूपये का निवेश हुआ व कुल 1,15,888 रोजगार दिए गए। वहीं खट्टर सरकार के दो वर्ष (2014-15, 2015-16) के शासन काल में कुल 18 उद्योग लगे, 670.13 करोड़ रूपये का पूंजी निवेश हुआ व 3023 रोजगार दिए गए। इन सरकारी आंकड़ों से स्पष्ट है कि भूपेन्द्र ङ्क्षसह हुड्डा शासन काल में प्रति वर्ष औसतन 41 परियोजनाएं लग, 2581.60 करोड़ रूपये का निवेश व औसतन प्रति वर्ष 11,589 रोजगार दिए गए। वहीं दूसरी ओर भाजपा सरकार के दो वर्ष के शासन काल में प्रति वर्ष औसतन 9 परियोजनाएं लगी, मात्र 335 करोड़ रूपये का निवेश व मात्र 1512 रोजगार दिए गए। खट्टर सरकार के दो वर्ष के शासन काल में हरियाणा राज्य औद्योगिक विकास एवं सरंचना विकास निगम लिमिटेड (एच.एस.आई.आई.डी.सी) में एक सेवादार व एक अन्य सहित मात्र दो नियुक्तियां हुई।भूपेन्द्र सिंह हुड्डा के 10 वर्ष के शासन काल में विदेशी दौरों पर कुल 95.41 करोड़ रूपये खर्च हुए। लेकिन इनसे कुल कितना पंूजी निवेश हुआ व रोजगार मिले? इसकी कोई स्पष्ट सूचना खट्टर सरकार के पास भी आज तक नहीं है। एच.एस.आई.आई.डी.सी के उपमहाप्रबंधक (बी.डी.सी) ने गोलमोल जवाब देते हुए सूचित किया कि राज्य में आकर्षित पूंजी निवेश व वास्तविक पूंजी निवेश को किसी विशेष कारण अथवा विशेष दौरे से नहीं जोड़ा जा सकता, जैसा कि वास्तविक पूंजी निवेश विभिन्न कारणों से होता है और इसमें भी समय लगता है।हुड्डा व खट्टर सरकार के शासन काल में कितने लोगों को रोजगार मिला? इसका भी कोई लेखा-जोखा खट्टर सरकार के पास नहीं है। इक्नॉमिक एंड स्टैटिस्टिकल विभाग के रिसर्च ऑफिसर द्वारा दी गई सूचना अनुसार 31 मार्च 2013 को कुल कर्मचारियों की संख्या 3,40,086 व 31 मार्च 2014 को 34,06,98 थी यानि मात्र 612 की वृद्धि हुई। इसके बाद के आंकड़े सरकार ने नहीं दिए हैं।जनवरी 2016 में मुख्यमंत्री मनोहरलाल खट्टर के चीन व जापान दौरों के दौरान स्थानीय यात्रा, ठहरने, दुभाषिया, कार्यक्रम पर कुल करीब 46 लाख रूपये खर्च हुए। इस दौरे के शेष खर्चों की गणना आठ महीने बीत जाने पर अभी तक पूरी नहीं हुई। इस दौरे के बाद मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने 23 जनवरी को चंण्डीगढ में प्रैस कांफ्रेस करके दावा किया था कि 60 हजार करोड़ रूपये का पूंजी निवेश अकेले चीन की वांडा कंपनी करेगी। लाखों युवाओं को रोजगार मिलेगें और डिजिटल व स्मार्ट प्रदेश बनने का मार्ग प्रशस्त होगा। दूसरी ओर एच.एस.आई.आई.डी.सी के उपमहाप्रबंधक ने 19 फरवरी 2016 के अपने पत्र द्वारा आरटीआई के तहत पीपी कपूर को सूचित किया कि इन विदेश दौरों से कुल कितना पूंजी निवेश होगा व कुल कितने रोजगार प्राप्त होंगे यह अभी बताया जाना संभव नहीं है। यद्यपि परियोजनाओं के पूरा होने पर हजारों करोड़ पूंजी निवेश की संभावना है।आरटीआई एक्टिविस्ट पी.पी. कपूर ने कहाराजनेता व ब्यूरोक्रेट सैर स्पाटे के लिए विदेशी दौरों पर करोड़ो रूपये फूंक आते है। मुख्यमंत्रियों के पूंजी निवेश व रोजगार संबधी दावे खोखले होते है। तभी तो वर्तमान भाजपा सरकार पूर्ववर्ती कांग्रेस सरकार के दस वर्ष के कार्यकाल में हुए पूंजी निवेश व रोजगार की सूचना नहीं दे पाई। आरटीआई के तहत प्राप्त सूचनाओं ने पूर्व व वर्तमान मुख्यमंत्री के खोखले दावो की पोल खोल दी है।

 

 

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
और हरियाणा ख़बरें
किसानों के लिए क्या दिया, 10 सवालों के जवाब दें हुड्डा-राजीव जैन मनोहर लाल ने जिला कैथल में विभिन्न विकास घोषणाओं के क्रियान्वयन की समीक्षा करते हुए संबंधित अधिकारियों को इन विकास परियोजनाओं के शीघ्र पूर्ण करने के निर्देश दिए। कैथल जिला प्रशासन द्वारा पायलट प्रोजेक्ट के तौर पर राजस्व रिकार्ड को संरक्षित करने के लिए कैथल के लघु सचिवालय में स्थापित किए गए : मनोहर लाल हरियाणा में स्वर्ण जंयती सांझी साईकिल योजना को अब गांव स्तर पर भी लागू किया जाएगा वर्तमान सरकार ने एक भारत, एक ग्रिड और एक कीमत पर काम करने का लक्ष्य निर्धारित किया:मनोहर लाल हरियाणा सरकार ने आज तुरंत प्रभाव से तीन एचसीएस अधिकारियों के स्थानांतरण एवं नियुक्ति आदेश जारी किये हरियाणा के पूर्व CM हुड्डा का बयान- स्वामीनाथन रिपोर्ट लागू करे सरकार, मेरा समर्थन HARYANA-लहराते रहे शिकायत पत्र, उठकर चले गए सीएम KHATTAR RALLY-काली पगड़ी थी पूर्व जिलाध्यक्ष को भाजपा महामंत्री ने बाहर जाने की दी सलाह HARYANA-सीएम के साथ कार्यकर्ता बैठक के लिए पहले से नाम तय थे, शाम को ही दे दी थी हिदायत कि कोई भी सरकार के खिलाफ नहीं बोलेगा
लोकप्रिय ख़बरें
Visitor's Counter :   0033354582
Copyright © 2016 AAR ESS Media, All rights reserved. Website Designed by mozart Infotech