Thursday, November 15, 2018
Follow us on
Education

छात्र- अध्यापकों को इण्टर्नशिप 2016-17 के लिए विद्यालय आबंटन तथा उपचारी शिक्षण एवं विशेष प्रशिक्षण प्रदान किया जाएगा जिसके लिए शैडयूल निर्धारित किया गया

August 03, 2016 05:22 PM

भिवानी: हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड, भिवानी द्वारा डी.एड. कोर्स के वर्तमान में चतुर्थ सैमेस्टर की परीक्षा दे चुके छात्र- अध्यापकों को इण्टर्नशिप 2016-17 के लिए विद्यालय आबंटन तथा उपचारी शिक्षण एवं विशेष प्रशिक्षण प्रदान किया जाएगा जिसके लिए शैडयूल निर्धारित किया गया है।
इस संबंध में जानकारी देते हुए बोर्ड के प्रवक्ता ने बताया कि विद्यालय आबंटन के लिए आनलाईन आवेदन 4 अगस्त से 8 अगस्त, 2016 को मध्यरात्रि तक लडक़े/पुरूषों द्वारा खण्डों के विकल्प एवं लडकियों/महिलाओं/अशक्तों द्वारा विद्यालयों के विकल्प भरे जा सकते है। उन्होंने बताया कि 9 अगस्त, 2016 को दोपहर 12 बजे से 10 अगस्त, 2016 को मध्यराऋि तक लडकों, पुरूषों द्वारा विद्यालयों के विकल्प भरे जांएगें, परंतु इस अवधि के दौरान केवल वे ही लडकें, पुरूष विद्यालयों के विकल्प भर पाएंगें जिन्होंने 4 अगस्त, 2016 से 8 अगस्त, 2016 के मध्य खण्डों के विकल्प भरे होंगे। उन्होंने बताया कि 16 अगस्त, 2016 से 31 अगस्त, 2016 के दौरान विद्यालय आबंटन-पत्र डाऊनलोड किए जा सकेंगें। इसी प्रकार 16 अगस्त से 12 सितंबर, 2016 के दौरान विद्यालय आबंटन-पत्र संबंधित डाईट, बाईट, गैटी प्राचार्य से प्रतिहस्ताक्षरित होने चाहिए।
छात्र-अध्यापकों व छात्र-अध्यापिकाओं के लिए आवश्यक दिशानिर्देश देते हुए बताया कि विद्यालय आंबटन के लिए आनलाईन आवेदन वैबसाइट द्घशह्म्द्वह्य.ड्ढह्यद्गद्ध.शह्म्द्द.द्बठ्ठ तथा बोर्ड की वैबसाइट 222.ड्ढह्यद्गद्ध.शह्म्द्द.द्बठ्ठ पर उपलब्ध लिंक के माध्यम से किया जा सकता है। आवेदन करने से पूर्व वैबसाईट पर उपलब्ध दिशानिर्देशों का भली प्रार अवलोकन कर लें। उन्होंने बताया कि विद्यालय आबंटन छात्र-अध्यापक व अध्यापिका द्वारा प्रथम, द्वितीय व तृतीय सैमेस्टर में प्राप्त अंकों के आधार पर निर्धारित किए गए रैंक अनुसार किया जाएगा। छात्र-अध्यापकों के प्रथम, द्वितीय व तृतीय सैमेस्टर में प्राप्त अंकों का विवरण भी वैबसाइट पर दिया जाएगा। यदि किसी छात्र अध्यापक व अध्यापिका को अपने अंकों के संबंध में कोई आपत्ति है तो आनलाईन आवेदन के लिए निर्धारित समय के दौरान बोर्ड कार्यालय में संपर्क कर आपत्ति दर्ज करवाई जा सकती है।
उन्होंने बताया कि गत वर्ष के ऐसे छात्र- अध्यापक जो चतुर्थ सैमेस्टर न करने वाले छात्र-अध्यापक व अध्यापिकाओं के चतुर्थ सैमेस्टर की परीक्षा का परिणाम बोर्ड कार्यालय द्वारा रोक लिया जाएगा। अत: संस्थान प्रमुख इस बात को सुनिश्चित करेंगें कि उनके संस्थान के सभी छात्र-अध्यापक व अध्यापिकाओं ने विद्यालय आबंटन के लिए आनलाईन विकल्प भर दिए गए हैं। इसी प्रकार, डाईट, बाईट, गैटी के क्षेत्राधिकार में आने वाले प्राथमिक विद्यालयों में भेजे गए इण्टर्न के आंबटन-पत्रों पर संबंधित डाईट, बाईट, गैटी प्राचार्य द्वारा वर्णित शैडयूल अनुसार प्रतिहस्ताक्षर किए जाने हैं। संबंधित प्राचार्यों द्वारा आबंटन-पत्र प्रतिहस्ताक्षर करते हुए इण्टर्न की खण्डवार, विद्यालयवार सूची तैयार की जानी है। उन्होंने बताया कि इण्टर्न द्वारा विद्यालय में कार्यग्रहण से पूर्व तैयार सूचियां संबंधित जिला मौलिक शिक्षा अधिकारियों, खण्ड मौलिक शिक्षा अधिकारियों को भेजी जाएगी।

Have something to say? Post your comment
 
More Education News
दीपालय स्कूल घुसपैठी के छात्रों ने जिला स्तर प्रतियोगिता में अन्य स्कूलों के प्रतियोगियों को पीछे छोड़ा
डी.एल.एड. प्रवेश वर्ष-2017 (प्रथम वर्ष नियमित) एवं डी.एड. द्वितीय/तृतीय/चतुर्थ सैमेस्टर (रि-अपीयर) परीक्षाएं जुलाई-2018 का परीक्षा परिणाम आज घोषित किया गया
ट्राई सिटी के छात्रों द्वारा बनाई गई लघु फिल्मों की हुई स्क्रीनिंग और आंकलन
थापर इंस्टीट्यूट की क्यूएस ब्रिक्स यूनिवर्सिटी में उच्च रैंकिंग पहली बार क्यूएस इंडिया रैंकिंग में 31 वें स्थान पर
Drive on SPR still tough after a year near Vatika Chowk वर्तमान में श्रीकृष्णा आयुष विश्वविद्यालय, कुरुक्षेत्र से संबंधित सभी आयुर्वेदिक महाविद्यालायों के बीएएमएस तथा डी-फार्मा द्वितीय वर्ष के विद्यार्थियों का परीक्षा परिणाम वीरवार तक घोषित कर दिया जाएगा: कुलपति डॉ. ओपी कालरा 24 सितंबर को गुरु जंभेश्वर यूनिवर्सिटी ऑफ साईंस एंड टैक्नोलोजी, हिसार में ‘स्वच्छ भारत समर इंटर्नशीप स्कीम’ के तहत प्रदर्शनी लगाई जाएगी जिसमें इंटर्नस द्वारा बनाई गई पेंङ्क्षटग, स्लोगन, चार्ट व अन्य सामग्री प्रदर्शित की जाएगी प्राइमरी स्कूलों में 97 हजार टीचरों की जरूरत, मेरिट पर सिलेक्शन है प्रमुखता: योगी पोस्ट मैट्रिक छात्रवृत्ति योजना के अंतर्गत आवेदन नहीं कर पाए या पंजीकरण उपरांत आवेदन पूर्ण नहीं कर पाए, उन सभी छात्रों को 10 सितम्बर, 2018 तक विभागीय पोर्टल www.hryscbcschemes.in पर आवेदन करने का अंतिम अवसर प्रदान किया प्रदेश के प्राईवेट स्कूलों की अस्थाई मान्यता एक साल के लिए बढ़ी:राम बिलास शर्मा