हरियाणा सरकार ने प्रदेश के लोगों को बेहतरीन चिकित्सा सेवाएं उपलब्ध करवाने के उद्देश्य से कई अहम निर्णय लिए उत्कृष्टï खिलाडिय़ों को वर्ग-एक और दो के पदों के लिए भी 3 प्रतिशत आरक्षण दिया जाएगा:विजधनखड़ ने कहा सरकार का हर कदम किसानों के हित में ही उठेगाखट्टर सरकार ने बीएस संधू को हरियाणा पुलिस का नया महानिदेशक नियुक्त किया, पुलिस महकमे में भारी फेरबदल के चलते केपी सिंह डीजीपी जेल और चार अन्य आईपीएस को किया इधर से उधरअरुणाचल प्रदेश में भारी बारिश, कई स्थानों पर भूस्खलनराजस्थान के उदयपुर में रहने वाले कल्पित वीरवल ने जेईई मेन एग्जाम में टॉप कियाकुपवाड़ा हमले पर सेना का बयान: दो आतंकवादी मार गिराएकुपवाड़ा हमला: पुलिस के मुताबिक मुठभेड़ में गोली लगने से घायल हुए नागरिक ने दम तोड़ाघर पहुंचा विनोद खन्ना का पार्थ‍िव शरीर, थोड़ी देर में होगा अंतिम संस्कार10 साल पुराने डीजल वाहन बैन करने पर NGT ने फैसला सुरक्षित रखा
हरियाणा

योग के विज्ञान आधारित होने पर गंभीर सवालिया निशान-आयुष मंत्रालय,भारत सरकार

June 16, 2016 12:18 PM

चंडीगढ़:केन्द्र सरकार 21 जून को दूसरा अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस मनाने जा रही है। लेकिन दूसरी ओर भारत सरकार के आयुष मंत्रालय ने आर.टी.आई के तहत जो सूचना दी है वह योग के विज्ञान आधारित होने पर गंभीर सवालिया निशान है। भारत सरकार ने आर.टी.आई के तहत सूचित किया है कि योग के रचियता भगवान शिव हैं और योग तर्क नहीं बल्कि साक्षात्कार का विषय है। पिछले वर्ष 21 जून को अन्तर्राष्ट्रीय योग दिवस पर भारत सरकार ने एक दिन में कुल 26.31 करोड़ (छब्बीस करोड़ इक्कतीस लाख रूपये) रूपये की धनराशि खर्च की थी।पानीपत के आर.टी.आई एक्टिविस्ट पी.पी कपूर ने पिछले वर्ष 8 जून 2015 को प्रधानमंत्री कार्यलय में आरटीआई लगाकर कुल छह बिन्दुओं पर सूचना मांगी थी। इसी के जवाब में भारत सरकार के आयुष मंत्रालय के अतंर्गत केन्द्रीय योग एवं प्राकृतिक चिकित्सा अनुसंधान परिषद् (सी.सी.आर.वाई.एन) के जनसूचना अधिकारी (योग) सुरेन्द्र सन्धु ने गत 16 सितम्बर के अपने पत्र द्वारा बताया कि शास्त्रों में ऐसा वर्णित है कि योग के रचियता स्वयं भगवान शिव हैं। तथापि योग के अनेक ग्रंथ हैं जिसमें योग के प्रारम्भ के विषय में अलग-अलग सूचनाएं मिलती हैं।योग के विज्ञान आधारित होने के सवाल के जवाब में केन्द्रीय योग एवं प्राकृतिक चिकित्सा अनुसंधान परिषद् ने अपनी पुस्तिका योग एक परिचय में बताया है कि योग तर्क का विषय नही है बल्कि साक्षात्कार का विषय है। अत: इसकी व्याख्या सरल नहीं है। योग का प्रादुर्भाव भारत में हजारों वर्ष पहले हुआ था। यह हमारे ऋषि-मुनियों की देन है।आर.टी.आई एक्टिविस्ट पी.पी कपूर ने भारत सरकार के इन जवाबो पर आश्चर्य प्रकट करते हुए कहा कि जो तर्क का विषय नहीं है, वह विज्ञान नहीं हो सकता। साईंटिफिक होने के लिए तर्क-वितर्क जरूरी है। अत: योग पूर्णत: अवैज्ञानिक पद्धति है। इसका विज्ञान से कोई सम्बंध नहीं है। शास्त्रों के संदर्भ से योग के रचियता भगवान शिव को बताना भी अति हास्यस्पद है। देश भारत के संविधान से चलता है या फिर किसी धर्म विशेष के शास्त्रों से चलता है?पिछले वर्ष अन्तर्राष्ट्रीय योग दिवस पर भारत सरकार ने देश-विदेश में कुल रूपये 26.31 करोड़/- (छब्बीस करोड़, इक्कतीस लाख) खर्च होने की सूचना दी है। इसमें राजपथ पर हुए कार्यक्रम व विज्ञान भवन में हुई अन्तर्राष्ट्रीय योग कॉन्फ्रेंस पर 17.70 करोड़ रूपये विदेश मंत्रालय द्वारा विदेशों में स्थित भारतीय मिशनों/केन्द्रों पर कुल 8 करोड़ रूपये, मोरार जी देसाई नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ योगा ने कुल 34,80,020/- रूपये व केन्द्रीय योग एवं प्राकृतिक चिकित्सा अनुसंधान परिषद्(सी.सी.आर.वाई.एन) ने 26,14,021/- रूपये सहित कुल 26.31 करोड़ रूपये खर्च किए गए।कपूर ने कहा कि पिछले वर्ष 21 जून को अन्तर्राष्ट्रीय योग दिवस पर केन्द्र सरकार ने जो 26.31 करोड़ रूपये की धनराशि खर्च करने की सूचना दी है वह सही नहीं है। केन्द्र सरकार के सभी विभागों, मंत्रालयों व विभिन्न राज्य सरकारों द्वारा अन्तर्राष्ट्रीय योग दिवस पर कुल खर्च धन राशि सैंकड़ों करोड़ रूपये से कम नहीं।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
और हरियाणा ख़बरें
मनोहर लाल ने स्कूल शिक्षा विभाग को नई अपग्रेडेशन नीति के तहत जिला नूंह और जिला पंचकूला के मोरनी में विद्यालयों को प्राथमिकता के आधार पर अपग्रेड करने के निर्देश दिए हरियाणा में चालू रबी खरीद मौसम के लिए गेहूं के 75 लाख मीट्रिक टन के निर्धारित खरीद लक्ष्य की तुलना में 66.48 लाख मीट्रिक टन से अधिक गेहूं की खरीद करके 88.64 प्रतिशत लक्ष्य पूरा कर लिया गया राज्य सरकार ने अपने विभागों, बोर्डों और निगमों में उच्च जोखिम के कार्यों की पहचान करने और ऐसे प्रत्येक कार्य के पदाधिकारियों के लिए बीमा तथा अन्य विशेष योजनाएं तथा जोखिम भत्ते के लिए अपनी सिफारिशें देने हेतु एक कमेटी गठित की:कैप्टन अभिमन्यु सृष्टिï के आदि वास्तुकार भगवान विश्वकर्मा दिवस के अवसर पर प्रदेश की लगभग 60 हजार पंजीकृत महिला श्रमिकों को सिलाई मशीन बांटी जाएगी:नायब सिंह सैनी हरियाणा सरकार ने प्रदेश के लोगों को बेहतरीन चिकित्सा सेवाएं उपलब्ध करवाने के उद्देश्य से कई अहम निर्णय लिए हरियाणा सरकार ने वर्ष 2017-18 के दौरान प्रदेश के ग्रामीण क्षेत्रों में पेयजलापूर्ति तथा शहरी क्षेत्रों में सीवरेज व बरसाती पानी की निकासी प्रणाली में सुधार हेतु 1121 नई योजनाओं पर लगभग 738.12 करोड़ रुपये की राशि खर्च करने का निर्णय लिया राज्य मलेरिया उन्मुलन कार्यक्रम के तहत प्रदेश को वर्ष 2022 तक मलेरिया मुक्त किया जाएगा: विज उत्कृष्टï खिलाडिय़ों को वर्ग-एक और दो के पदों के लिए भी 3 प्रतिशत आरक्षण दिया जाएगा:विज प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के अन्तर्गत बीमित किसानों को न केवल प्राकृतिक आपदा की बजह से खराब हुई फसल के लिए मुआवजा दिया जाता है:मनोहर लाल वर्तमान समय की आवश्यकता को देखते हुए समाज में बेटियों के प्रति अपना दृष्टिïकोण बदलने के लिए जागरूकता लानी होगी:कविता जैन
लोकप्रिय ख़बरें
Visitor's Counter :   0032074829
Copyright © 2016 AAR ESS Media, All rights reserved. Website Designed by mozart Infotech